Sunday, July 21, 2024
Homeराजनीतिनारी शक्ति का बजट 2024: लड़कियों को मुफ्त टीका, आशा और आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के...

नारी शक्ति का बजट 2024: लड़कियों को मुफ्त टीका, आशा और आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के लिए आयुष्मान भारत वाला इंश्योरेंस

साल 2024 के अंतरिम बजट में देश के विकास को ध्यान में रखते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कई घोषणाएँ कीं। इस दौरान उन्होंने नारी शक्ति पर भी बात की। उन्होंने बताया कि कैसे समाज में महिलाओं की भूमिका मजबूत हो रही है।

साल 2024 के अंतरिम बजट में देश के विकास को ध्यान में रखते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कई घोषणाएँ कीं। इस दौरान उन्होंने नारी शक्ति पर भी बात की। उन्होंने बताया कि कैसे समाज में महिलाओं की भूमिका मजबूत हो रही है और सरकार भी उनके स्वास्थ्य, शिक्षा स्तर में परिवर्तन के लिए कदम उठा रही है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट पढ़ते हुए जानकारी दी कि पिछले सालों में महिलाओं को मुद्रा योजना के तहत 30 करोड़ रुपए का लोन दिया गया है। उन्होंने कहा, उद्यमिता के माध्यम से महिलाओं के सशक्तिकरण, जीवनयापन में आसानी और उनके लिए सम्मान ने इन 10 वर्षों में गति पकड़ी है। महिला उद्यमियों को 30 करोड़ मुद्रा योजना ऋण दिए गए हैं।

इसके अलावा वित्त मंत्री ने ये भी बताया कि उनकी सरकार माताओं एवं उनके शिशुओं की स्वास्थ्य के देखभाल को व्यापक कार्यक्रम के तहत लेकर आएगी। उनके बेहतर पोषण वितरण, प्रारंभित बचपन की देखभाल और विकास के लिए सक्षम आंगनवाड़ी और पोषण 2.0 के तहत आंगनवाड़ी केंद्रों के उन्नयन में तेजी लाई जाएगी। टीकाकरण के प्रबंधन और गहनता के लिए नए डिजाइन किए गए यू-विन प्लेटफॉर्म का उपयोग किया जाएगा। मिशन इंद्रधनुष के प्रयासों को आगे बढ़ाया जाएगा।

इसी तरह महिलाओं को स्वास्थ्य सुविधा देने के क्रम में कहा गया है कि आयुष्मान भारत में आशा और आंगनवाड़ी कार्यकर्ता कवर होंगी। इसके लिए उन्हें सब सुविधा दी जाएगी। सर्वाइकल कैंसल से भी लड़कियों को मुक्त रखने के लिए मुफ्त टीकाकरण सरकार ने शुरू किया है।

बता दें कि मोदी सरकार की योजनाओं के चलते पिछले 10 सालों में उच्च शिक्षा में महिलाओं का नामांकन 28 फीसद बढ़ा है। उनकी उद्यमशीलता में भी विकास हुआ है। करीबन 9 करोड़ महिलाओं की जिंदगी इन योजनाओं से बदली है। इसी प्रकार ग्रामीण इलाकों में भी महिलाओं को सशक्त करने पर ध्यान दिया जा रहा है। सरकार ने अब तक 1 करोड़ महिलाओं को ‘लखपति दीदी’ बनया हैं, अब लक्ष्य 2 करोड़ का नहीं, बल्कि 3 करोड़ का रखा गया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भारत के ओलंपिक खिलाड़ियों को मिला BCCI का साथ, जय शाह ने किया ₹8.50 करोड़ मदद का ऐलान: पेरिस में पदकों का रिकॉर्ड तोड़ने...

बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने बताया कि ओलंपिक अभियान के लिए इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) को बीसीसीआई 8.5 करोड़ रुपए दे रही है।

वामपंथी सरकार ने चलवाई गोली, मारे गए 13 कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता: जानें क्यों ममता बनर्जी मना रहीं ‘शहीद दिवस’, TMC ने हाईजैक किया कॉन्ग्रेस का...

कभी शहीद दिवस कार्यक्रम कॉन्ग्रेस मनाती थी, लेकिन ममता बनर्जी ने कॉन्ग्रेस पार्टी से अलग होने के बाद युवा कॉन्ग्रेस के 13 कार्यकर्ताओं की हत्या को अपने नाम के साथ जोड़ लिया और उसका इस्तेमाल कम्युनिष्टों की जड़ काटने में किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -