Saturday, July 20, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयअब्बा-चाचा की बात सुन लड़के ने घर से उठाया चाकू, ताबड़तोड़ वार कर 55...

अब्बा-चाचा की बात सुन लड़के ने घर से उठाया चाकू, ताबड़तोड़ वार कर 55 साल के बुजुर्ग को मार डाला: पैगंबर मुहम्मद के अपमान का आरोप, Pak में ईशनिंदा में एक और हत्या

मृतक का नाम नज़ीर हुसैन शाह है, वो भी मुस्लिम समुदाय से ही ताल्लुक रखता है। हालाँकि, वो शिया समाज से है जो पाकिस्तान में अल्पसंख्यक हैं। शिया और अहमदिया समुदाय पर वहाँ लगातार अत्याचार किया जाता है।

पाकिस्तान में एक लड़के ने ईशनिंदा का आरोप लगा कर एक 55 साल के शख्स की हत्या कर दी है। ये पिछले एक सप्ताह में इस्लामी मुल्क में दूसरी इस तरह की घटना है। उक्त किशोर लड़के ने पैगंबर मुहम्मद के खिलाफ बोलने का आरोप लगाते हुए उस व्यक्ति को मार डाला। घटना पाकिस्तान के पंजाब प्रान्त की है। रविवार (23 जून, 2024) को हुई ये घटना पिछले 4 दिनों में दूसरी है और पिछले एक महीने में पाकिस्तान में तीसरी ऐसी घटना है।

ये घटना पंजाब प्रान्त के गुजरात स्थित कुन्जाह में हुई है। ये लाहौर से लगभग 170 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। मृतक का नाम नज़ीर हुसैन शाह है, वो भी मुस्लिम समुदाय से ही ताल्लुक रखता है। हालाँकि, वो शिया समाज से है जो पाकिस्तान में अल्पसंख्यक हैं। शिया और अहमदिया समुदाय पर वहाँ लगातार अत्याचार किया जाता है। उस लड़के ने अपने अब्बा और चाचा को उस शख्स के खिलाफ बोलते हुए सुना था, यही से भड़क कर उसने उसे मार डाला।

वो घर से चाकू लेकर गया और रविवार की दोपहर को ही उसने नज़ीर हुसैन शाह से आमना-सामना हुआ। उसने कई बार उन पर चाकू से वार किया, जिस कारण मौके पर ही उनकी मौत हो गई। इसके बाद वो लड़का वहाँ से भाग खड़ा हुआ। पुलिस का कहना है कि उसकी गिरफ़्तारी के लिए एक टीम गठित की गई है। उसके अब्बा और चाचा पर भी FIR हुई है। इसी तरह हाल ही में खैबर पख्तूनख्वा के स्वात में मुस्लिम भीड़ ने एक पर्यटक को ही मार डाला था।

उसे पूरे शहर में घसीटा गया, उसके बाद खुलेआम सबके सामने उसे फाँसी पर लटका दिया गया। कुरान के अपमान का आरोप लगा कर ऐसा किया गया। मुहम्मद इस्माइल पर कुरान के कुछ जले हुए पन्ने उसके पास मिलने का आरोप लगाया गया। उसकी गिरफ़्तारी के बाद थाने के बाहर एक बड़ी भीड़ जमा हो गई और गोलीबारी कर के उसे ले गई। उसके शव को जला या गया था। पाकिस्तान में हाल ही में ईसाइयों पर भी हमले हुए हैं। मुल्क में मॉब लिंचिंग के खिलाफ कानून भी बनाया गया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -