Friday, April 19, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयCOVID-19: 10,000 से ऊपर हुआ मौत का आँकड़ा, इटली में 3405, अंतिम संस्कार के...

COVID-19: 10,000 से ऊपर हुआ मौत का आँकड़ा, इटली में 3405, अंतिम संस्कार के लिए लगाई सेना

भारत में सबसे ज्यादा ज्यादा प्रभावित महाराष्ट्र है। ताजा आँकड़ों के मुताबिक महाराष्ट्र में अभी तक 48 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें 44 भारतीय और तीन विदेशी नागरिक शामिल हैं। वहीं, एक की जान भी चली गई। महाराष्ट्र के बाद केरल में 31 पॉजिटिव केस सामने आए हैं। इनमें से 26 भारतीय और दो विदेशी नागरिक हैं।

चीन के वुहान से शुरू हुए कोरोना वायरस के संक्रमण से होने वाली मौतों में इटली कहीं आगे निकल चुका है। चीन के बाद इटली दूसरा सबसे बड़ा ऐसा शहर है जहाँ पर इस वायरस के कारण अब तक सर्वाधिक मौतें हो चुकी हैं। हालात इतने गंभीर हैं कि इटली में मरने वालों का अंतिम संस्कार करने के लिए अब सेना को लगाया गया है।

विश्वभर में कोरोना के कारण मरने वालों की संख्या दस हजार को पार करते हुए 10,405 पहुँच चुकी है, जिनमें से 3400 अकेले इटली के हैं। यूरोप महाद्वीप में अब तक 4,932 और एशिया महाद्वीप में 3,431 मौतें हो चुकी हैं।

एक ओर जहाँ चीन में वायरस के कारण होने वाली मौतों में ठहराव देखा गया है, वहीं इस वायरस से बुरी तरह प्रभावित इटली मौतों के मामले में चीन से आगे निकल गया है। पिछले चौबीस घंटों के दौरान इटली में 427 से अधिक लोगों की मौत हो गई है। इस यूरोपीय देश में अब तक 3405 लोग अपनी जान गँवा चुके हैं। जबकि चीन में 3248 लोगों की जान गई है। वहीं इरान में मरने वालों की संख्या 1433 तक पहुँच चुकी है।

वहीं भारत में स्वास्थ्य मंत्रालय के आँकड़ों के मुताबिक अभी तक कुल 223 पॉजिटिव केस हैं। इनमें से 32 विदेशी नागरिक हैं। जबकि 23 लोगों के पूरी तरह से स्वस्थ होने की बात भी सरकार कह रही है। आज सबसे ज़्यादा मामले बढ़े हैं, एक ही दिन में 50 मामले सामने आए हैं। भारत में इस वायरस के कारण मरने वालों की संख्या पाँच हो चुकी है।

भारत में सबसे ज्यादा ज्यादा प्रभावित महाराष्ट्र है। ताजा आँकड़ों के मुताबिक महाराष्ट्र में अभी तक 48 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें 44 भारतीय और तीन विदेशी नागरिक शामिल हैं। वहीं, एक की जान भी चली गई। महाराष्ट्र के बाद केरल में 31 पॉजिटिव केस सामने आए हैं। इनमें से 26 भारतीय और दो विदेशी नागरिक हैं।

कोरोना के खतरे से निपटने के लिए कल ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र को संबोधित करते हुए देशवासियों से 22 मार्च को जनता कर्फ्यू लगाने का आह्वान किया है। पीएम ने यह भी कहा है कि यह वैश्विक महामारी हो चुकी है। इससे पूरा विश्व परेशान है। उन्होंने देशविसयों से वैश्विक महामारी से लड़ने के लिए साथ आने की अपील की है। साथ ही उन्होंने बुजुर्ग लोगों से घर से बाहर नहीं निकले की अपील की है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कॉन्ग्रेस-CPI(M) पर वोट बर्बाद मत करना… INDI गठबंधन मैंने बनाया था’: बंगाल में बोलीं CM ममता, अपने ही साथियों पर भड़कीं

ममता बनर्जी ने जनता से कहा- "अगर आप लोग भारतीय जनता पार्टी को हराना चाहते हो तो किसी कीमत पर कॉन्ग्रेस-सीपीआई (एम) को वोट मत देना।"

1200 निर्दोषों के नरसंहार पर चुप्पी, जवाबी कार्रवाई को ‘अपराध’ बताने वाला फोटोग्राफर TIME का दुलारा: हिन्दुओं की लाशों का ‘कारोबार’ करने वाले को...

मोताज़ अजैज़ा को 'Time' ने सम्मान दे दिया। 7 अक्टूबर को इजरायल में हमास ने जिन 1200 निर्दोषों को मारा था, उनकी तस्वीरें कब दिखाएँगे ये? फिलिस्तीनी जनता की पीड़ा के लिए हमास ही जिम्मेदार है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe