Tuesday, July 23, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयएफिल टॉवर के सामने लड़कियों ने उतारे कपड़े, सेमी-न्यूड फोटोशूट पर आक्रोशित हुए लोग:...

एफिल टॉवर के सामने लड़कियों ने उतारे कपड़े, सेमी-न्यूड फोटोशूट पर आक्रोशित हुए लोग: रोकती रह गई पुलिस, देखने के लिए जमा हुई थी भीड़

इस वीडियो में आप देख सकते हैं कि एक लड़की लंबे काले कोट पहने हुए है, उसे उतार रही है। वहीं एक अन्‍य मॉडल ने ब्‍लेजर पहना हुआ है। इनकी हरकतें देखने के लिए वहाँ भीड़ जमा हो गई।

ब्राजीलियाई मॉडल्स का एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। यह वीडियो पेरिस के एफिल टावर के पास बनाया है। इस वीडियो में दो मॉडल एफिल टॉवर के सामने बिकिनी में फोटोशूट कराती हुई दिखाई दे रही हैं। इन मॉडल्स की पहचान 24 वर्षीय गैब्रिएला वर्सियानी और 27 वर्षीय गैबिली के रूप में हुई है। यह घटना 31 अक्‍टूबर की बताई जा रही है। वीडियो में एक महिला पुलिस अधिकारी उनके पास जाकर उन्हें खुद को कवर करने के लिए कह रही है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पेरिस के एफिल टावर के पास दो ब्राजीलियन मॉडल के फोटोशूट का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद से बवाल मच गया गया है। वे अपनी फोटो और वीडियो इंस्टाग्राम पर शेयर करने के बाद यूजर्स के निशाने पर आ गई हैं। लोगों ने कहा कि मॉडल्स को अपनी हरकत पर शर्मिंदा होना चाहिए। वहीं, एक यूजर ने कहा कि अगर आप अपने ब्रांड का प्रचार करना चाहती थीं कि तो आपको किसी कैरेबियाई देश जाना चाहिए था या फिर स्विमिंग पूल में जाना चाहिए था। वहीं कुछ यूजर्स ने इन मॉडल का समर्थन भी किया।

इस वीडियो में आप देख सकते हैं कि एक लड़की लंबे काले कोट पहने हुए है, उसे उतार रही है। वहीं एक अन्‍य मॉडल ने ब्‍लेजर पहना हुआ है। इनकी हरकतें देखने के लिए वहाँ भीड़ जमा हो गई। इसके बाद कुछ पुलिस अधिकारी भी वहाँ पहुँच गए। एक महिला पुलिस अधिकारी ने महिलाओं को उनकी बॉडी कवर करने को कहा। इस दौरान मॉडल्स की फोटो क्लिक कर रही वैनेसा लोपेज ने घटना के बारे में सोशल मीडिया पर बताया, “हम लोग गिरफ्तार होते होते बचे हैं, क्योंकि हम बिकिनी का प्रमोशन कर रहे थे और हमें वहाँ ऐसा करने की इजाजत नहीं थी।”

वैनेसा ने आगे बताया कि ये मॉडल अपने बिकिनी बिजनेस को बढ़ावा देने के लिए आई थीं। पुलिस अधिकारियों ने उन लोगों से कहा कि यहाँ के कानून के मुताबिक कोई भी, किसी टूरिस्ट स्पॉट के सामने सेमी-न्यूड फोटो नहीं ले सकते हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

राक्षस के नाम पर शहर, जिसे आज भी हर दिन चाहिए एक लाश! इंदौर की महारानी ने बनवाया, जयपुर के कारीगरों ने बनाया: बिहार...

गयासुर ने भगवान विष्णु से प्रतिदिन एक मुंड और एक पिंड का वरदान माँगा है। कोरोना महामारी के दौरान भी ये सुनिश्चित किया गया कि ये प्रथा टूटने न पाए। पितरों के पिंडदान के लिए लोकप्रिय गया के इस मंदिर का पुनर्निर्माण महारानी अहिल्याबाई होल्कर ने करवाया था, जयपुर के गौड़ शिल्पकारों की मेहनत का नतीजा है ये।

मार्तंड सूर्य मंदिर = शैतान की गुफा: विद्यार्थियों को पढ़ाने वाला Unacademy का जहरीला वामपंथी पाठ, जानिए क्या है इतिहास

मार्तंड सूर्य मंदिर को 8वीं शताब्दी ईस्वी में बनाया गया था और यह हिंदू धर्म के प्रमुख सूर्य देवता सूर्य को समर्पित है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -