Saturday, July 20, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयआतंकियों ने पाकिस्तान के वित्त मंत्री का ही कर लिया अपहरण, माँगें मानने के...

आतंकियों ने पाकिस्तान के वित्त मंत्री का ही कर लिया अपहरण, माँगें मानने के लिए 10 दिन का दिया अल्टीमेटम: इस्लामी कानून लागू करने और खेल में महिलाओं पर प्रतिबंध की माँग

पाकिस्तान के वित्तमंत्री अबैदुल्ला बेग दो अन्य लोगों के साथ इस्लामाबाद से गिलगित जा रहे थे। इसी दौरान उनका अपहरण किया गया था।

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के नेता और वित्त मंत्री अबैदुल्ला बेग को आतंकियों ने शुक्रवार (7 अक्टूबर, 2022) दोपहर अगवा करने के बाद शनिवार (8 अक्टूबर) सुबह रिहा कर दिया है। आतंकियों ने सभी लोगों को रिहा करने के लिए अपने सहयोगी आतंकियों को जेल से रिहा करने की माँग को थी। आतंकियों ने अब इस माँग को पूरा करने के लिए 10 दिन का समय दिया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, आतंकियों ने पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा को गिलगिट-बाल्टिस्तान से जोड़ने वाली प्रमुख सड़क को घेर लिया था। इसके बाद, अबैदुल्ला बेग समेत 2 टूरिस्टों को अगवा कर लिया था। दावा किया जा रहा है कि इस अपहरण को तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान ने अंजाम दिया था। पाकिस्तान के वित्तमंत्री अबैदुल्ला बेग दो अन्य लोगों के साथ इस्लामाबाद से गिलगित जा रहे थे। इसी दौरान उनका अपहरण किया गया था। किडनैपर्स ने जिन आतंकियों की रिहाई की माँग की है, उन्होंने नंगा पर्वत क्षेत्र में विदेशी नागरिकों की भीषण हत्या की थी। इसके अलावा ये आतंकी डायमेर में अन्य आतंकी गतिविधियों में भी शामिल रहे हैं।

सोशल मीडिया पर शुक्रवार को एक ऑडियो क्लिप भी वायरल किया गया था। इस ऑडियो क्लिप में अबैदुल्ला बेग को कथित तौर पर यह कहते हुए सुना जा सकता है कि इस्लामाबाद से गिलगित की तरफ जाते समय उन्हें अगवा किया गया है। आतंकवादियों ने अपने साथियों को जेल से रिहा कराने के लिए अधिकारियों पर दबाव बनाने के उद्देश्य से सड़क को जाम कर रखा है।

पाकिस्तानी समाचार पत्र डॉन की एक रिपोर्ट के मुताबिक, आतंकियों ने अपने सहयोगी आतंकियों की रिहाई के अलावा, पाकिस्तान में इस्लामी कानून लागू करने और महिलाओं को खेल से दूर रखने की माँग की थी। हालाँकि, अब इस माँग को पूरा करने के लिए 10 दिन का समय दिया है। गौरतलब है कि जिस समय पाकिस्तान के वित्तमंत्री अबैदुल्ला बेग आतंकवादियों के कब्जे में थे उस समय गिलगित-बाल्टिस्तान सरकार के पूर्व प्रवक्ता फैजुल्ला ने कहा था कि उन्होंने अबैदुल्ला बेग से बात की है और उनकी रिहाई के लिए बातचीत चल रही थी।

बता दें यह घटना तब सामने हुई है जब शुक्रवार को पाकिस्तान के सीनेटरों ने प्रतिबंधित संगठन तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) की आतंकवादी गतिविधियों में वृद्धि के बारे में बात की थी। यही नहीं, हाल ही में एक सीनेटर ने आतंकियों की गतिविधियों को लेकर जानकारी की भी माँग की थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -