Thursday, July 25, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयपाकिस्तान में एक और नाबालिग हिन्दू लड़की का अपहरण, जबरन इस्लाम कबूल करवाकर खलील...

पाकिस्तान में एक और नाबालिग हिन्दू लड़की का अपहरण, जबरन इस्लाम कबूल करवाकर खलील ने किया निकाह, हिन्दुओं ने जरदारी हाउस के सामने किया प्रदर्शन

पीड़िता का नाम करीना है और करीब एक सप्ताह पहले दादू के काजी अहमद कस्बे के अंतर्गत आने वाले उन्नार मोहल्ले से उसका अपहरण कर लिया गया था।

पाकिस्तान (Pakistan) के सिंध प्रान्त में हाल ही में 16 साल की नाबालिग हिन्दू लड़की का मुस्लिमों ने अपहरण (Kidnap) कर लिया। इसके बाद जबरन उसका इस्लामिक धर्मान्तरण (Islamic Conversion) कराने के बाद एक मुस्लिम से उसका निकाह करा दिया गया। इस घटना के सामने आने के बाद हिन्दू समुदाय के लोग सड़कों पर उतर आए और उन्होंने नवाबशाह में जरदारी हाउस के सामने प्रदर्शन किया। लोगों ने पुलिस विरोधी नारेबाजी करते हुए पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी से नाबालिग हिन्दू लड़की को ढूँढने में मदद करने के लिए हस्तक्षेप की माँग की।

रिपोर्ट के मुताबिक, पीड़िता का नाम करीना है और करीब एक सप्ताह पहले दादू के काजी अहमद कस्बे के अंतर्गत आने वाले उन्नार मोहल्ले से उसका अपहरण कर लिया गया था। हालाँकि, लोकल पुलिस का दावा है कि करीना को एक मुस्लिम लड़के से प्यार हो गया था और वो उसके साथ भाग गई। इसके बाद उसने कराची की एक अदालत में निकाह के लिए आवेदन किया।

इस मामले में नवाबशाह के एसएसपी अमीर सऊद मगसी ने करीना के अपहरण की खबरों को दरकिनार करते हुए दावा किया कि हिन्दू नाबालिग का अपहरण नहीं किया गया। वो अपनी मर्जी से मीर मोहम्मद जोनो गाँव के रहने वाले खलील रहमान जोनो के साथ भाग गई थी। इसके बाद कराची की एक अदालत में उससे निकाह किया।

पुलिस अधिकारी का कहना है कि उन्होंने सुंदरमल की शिकायत पर धारा 365-बी के तहत प्राथमिकी दर्ज कर खलील के पिता असगर जोनो को गिरफ्तार कर लिया है। इसके साथ ही कथित तौर पर एसएसपी ने करीना और खलील रहमान जोनो का एक निकाहनामा साझा किया और कहा कि लड़की को सिंध उच्च न्यायालय में पेश किया जाएगा। उन्होंने कहा कि लड़की जहाँ चाहे वहाँ जाने का फैसला कर सकती है।

हिन्दू पंचायत ने एसएसपी के दावे को किया खारिज

वहीं एसएसपी के दावे को खारिज करते हुए हिन्दू पंचायत के उपाध्यक्ष लाजपत राय ने कहा है कि एसएसपी से एक प्रतिनिधि मंडल मिला था। लेकिन जबरन धर्मान्तरण की एफआईआर के बाद भी उन्होंने मदद नहीं की।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘तुमलोग वापस भारत भागो’: कनाडा में अब सांसद को ही धमकी दे रहा खालिस्तानी पन्नू, हिन्दू मंदिर पर हमले का विरोध करने पर भड़का

आर्य ने कहा है कि हमारे कनाडाई चार्टर ऑफ राइट्स में दी गई स्वतंत्रता का गलत इस्तेमाल करते हुए खालिस्तानी कनाडा की धरती में जहर बोते हुए इसे गंदा कर रहे हैं।

मुजफ्फरनगर में नेम-प्लेट लगाने वाले आदेश के समर्थन में काँवड़िए, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बोले – ‘हमारा तो धर्म भ्रष्ट हो गया...

एक कावँड़िए ने कहा कि अगर नेम-प्लेट होता तो कम से कम ये तो साफ हो जाता कि जो भोजन वो कर रहे हैं, वो शाका हारी है या माँसाहारी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -