Thursday, July 25, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय8 माह की गर्भवती महिला, 22 बार घोंपा चाकू: पेट में पल रहे बच्चे...

8 माह की गर्भवती महिला, 22 बार घोंपा चाकू: पेट में पल रहे बच्चे की भी मौत, फिलिस्तीनी भाई-अब्बा गिरफ्तार

इजरायल में फिलिस्तीन मूल की गर्भवती महिला की चाकुओं से गोद कर हत्या कर दी गई। हत्या के मामले में अब्बा और भाई गिरफ्तार किया गया है। घटना का CCTV फुटेज भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है जिसमें लोगों को भागते और मृतका को खुद को बचाने की कोशिश करते हुए देखा जा सकता है।

इजरायल में एक फिलिस्तीन मूल की गर्भवती महिला की चाकू मार कर हत्या किए जाने का मामला सामने आया है। इस हमले में 20 वर्षीया महिला के पेट में पल रहे बच्चे की भी मौत हो गई। पुलिस इस मामले में संदेह के आधार पर मृतका के अब्बा और भाई को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। मृतका का नाम अयाह अबू हजाइज था। घटना का CCTV फुटेज भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है जिसमें हमले के दौरान अयाह अपने बचाव के लिए जूझती दिख रही है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक घटना इजरायल के लोद शहर में 30 नवंबर 2023 को घटी। वहाँ गुरुवार को फिलिस्तीन मूल की मुस्लिम महिला अपने 2 बच्चों को स्कूल छोड़ने जा रही थी। इसी दौरान कार सवार एक युवक नीचे उतरा और महिला पर ताबड़तोड़ चाकू बरसाना शुरू कर दिया। अयाह ने अपने बचाव की पूरी कोशिश की लेकिन हमलावर ने उन्हें कई चाकू मारे जिससे वो घायल हो कर जमीन पर गिर पड़ीं। बाद में हमलावर पीड़िता को लहूलुहान हालत में सड़क पर ही छोड़ कर कार से फरार हो गया।

इस घटना के वायरल हुए वीडियो में देख सकते हैं कि मृतका पर पीछे से वार किया गया। इसके बाद मृतका के बच्चे और आसपास के लोग घटनास्थल से भागते दिखाई दिए। अयाह को कुल 22 बार चाकू घोंपे गए। स्थानीय लोगों ने गंभीर हालत में महिला को अस्पताल पहुँचाया। लेकिन वहाँ डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मेडिकल जाँच के दौरान पता चला कि मृतका 8 माह की गर्भवती थी। इस हमले में उसके पेट में पल रहे बच्चे की भी मौत हो गई।

पुलिस ने इसे पारिवारिक कलह के कारण की गई हत्या बताया है। फिलहाल मृतका का भाई और अब्बा को गिरफ्तार किया गया है। आगे पुलिस को हमलावर की तलाश है। इजरायल के अधिकारियों ने इस हमले को आतंकी वारदात की तरह बताया है। अब्राहम इनिशिएटिव द्वारा जारी एक आँकड़े के मुताबिक अयाह की हत्या के बाद साल 2023 में इजरायल में मरने वाले अरब के नागरिकों की तादाद 222 हो गई है। ये हत्याएँ अलग-अलग समय पर अलग-अलग लोगों द्वारा विभिन्न कारणों से हुईं थीं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘दरबार हॉल’ अब कहलाएगा ‘गणतंत्र मंडप’, ‘अशोक हॉल’ बना ‘अशोक मंडप’: महामहिम द्रौपदी मुर्मू का निर्णय, राष्ट्रपति भवन ने बताया क्यों बदला गया नाम

राष्ट्रपति भवन ने बताया है कि 'दरबार' का अर्थ हुआ कोर्ट, जैसे भारतीय शासकों या अंग्रेजों के दरबार। बताया गया है कि अब जब भारत गणतंत्र बन गया है तो ये शब्द अपनी प्रासंगिकता खो चुका है।

जिसका इंजीनियर भाई एयरपोर्ट उड़ाने में मरा, वो ‘मोटू डॉक्टर’ मारना चाह रहा था हिन्दू नेताओं को: हाई कोर्ट से माँग रहा था रहम,...

कर्नाटक हाई कोर्ट ने आतंकी मोटू डॉक्टर को राहत देने से इनकार कर दिया है। उस पर हिन्दू नेताओं की हत्या की साजिश में शामिल होने का आरोप है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -