Friday, July 19, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'दुनिया में शांति हमारी सबसे बड़ी प्राथमिकता': अमेरिका दौरे पर PM मोदी, एलन मस्क...

‘दुनिया में शांति हमारी सबसे बड़ी प्राथमिकता’: अमेरिका दौरे पर PM मोदी, एलन मस्क समेत 24 दिग्गजों से होगी मुलाकात

पीएम मोदी ने अमेरिकी मीडिया संस्थान 'वॉल स्ट्रीट जर्नल (WSJ)' को इंटरव्यू भी दिया है, जिसमें उन्होंने कहा है कि विश्व में शांति भारत की पहली प्राथमिकता है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका के राजकीय दौरे पर निकल गए हैं, जहाँ वो न सिर्फ राष्ट्रपति जो बायडेन, बल्कि 24 बड़ी हस्तियों से मुलाकात करेंगे। इनमें हाल ही में ट्विटर को खरीदने वाले दुनिया के सबसे अमीर उद्योगपति एलन मस्क भी शामिल हैं। इस सूची में नोबेल विजेताओं से लेकर कलाकारों, वैज्ञानिकों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों तक के नाम शामिल हैं। एलन मस्क ‘Tesla’ और ‘SpaceX’ जैसी बड़ी कंपनियों कंपनियों के मालिक हैं।

इस दौरे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जिन लोगों से मिलेंगे, वो हैं – एलन मस्क, एस्ट्रोफिजिक्स के विशेषज्ञ नील देग्रासे टायसन, ग्रैमी अवॉर्ड जीतने वालों भारतीय-अमेरिकी गायिका फाल्गुनी शाह (फालू), पॉल रोमर, निकोलस नसीम तालिब, रे डेलियो, जेफ़ स्मिथ, माइकल फोरमैन, डेनियल रसेल, एल्ब्रिज कौलबी, डॉ पीटर एग्रे, डॉ स्टेफेन क्लासको और चन्द्रिका टंडन। चन्द्रिका ग्रैमी नॉमिनेटेड कलाकार हैं और साथ ही एक सफल कारोबारी भी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इससे पहले 2015 में एलन मस्क से मिले थे, जब उन्होंने कैलिफोर्निया स्थित टेस्ला फैक्ट्री का दौरा किया था। तब एलन मस्क ने ट्विटर को नहीं खरीदा था। अब ये मुलाकात ऐसे समय में होने वाली है, तब टेस्ला भारत में फैक्ट्री लगाने के लिए लोकेशन और जमीन भी खोज रही है। पीएम मोदी ने अमेरिकी मीडिया संस्थान ‘वॉल स्ट्रीट जर्नल (WSJ)’ को इंटरव्यू भी दिया है, जिसमें उन्होंने कहा है कि विश्व में शांति भारत की पहली प्राथमिकता है।

इंटरव्यू में पीएम मोदी ने कहा कि सम्प्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता का सम्मान करना हमारी परंपरा रही है। उन्होंने कहा कि बातचीत के जरिए हम मुद्दों को सुलझाते हैं, लेकिन हम अपनी अखंडता की रक्षा में भी सक्षम हैं। उन्होंने सभी देशों से अंतरराष्ट्रीय कानून और अन्य देशों की संप्रभुता का सम्मान किए जाने की अपील करते हुए कहा कि विवादों को कूटनीति और बातचीत से सुलझाया जाना चाहिए, युद्ध से नहीं। उन्होंने कहा कि हमें कुछ लोग न्यूट्रल कहते हैं, लेकिन हम शांति की तरफ हैं।

उन्होंने चीन से अच्छे संबंधों के लिए सीमा पर शांति को पहली ज़रूरत करार दिया। उन्होंने कहा कि पहले की तुलना में दुनिया आज सबसे ज्यादा कनेक्टेड है। बकौल पीएम मोदी, सप्लाई चेन में विवधता आज बहुत आवश्यक है। उन्होंने WSJ से कहा कि भारत किसी देश को पीछे नहीं छोड़ रहा है, बल्कि अपनी स्थिति को मजबूत कर रहा है। उन्होंने भारत के लिए और बड़े रोल की बात करते हुए कहा कि भारत-अमेरिका के नेताओं का एक-दूसरे में बड़ा भरोसा है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ सब हैं भोले के भक्त, बोल बम की सेवा जहाँ सबका धर्म… वहाँ अस्पृश्यता की राजनीति मत ठूँसिए नकवी साब!

मुख्तार अब्बास नकवी ने लिखा कि आस्था का सम्मान होना ही चाहिए,पर अस्पृश्यता का संरक्षण नहीं होना चाहिए।

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -