Wednesday, July 17, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयपाकिस्तान में दर्जन भर बंदूकधारियों ने बस से उतारकर 9 मजदूरों की हत्या की,...

पाकिस्तान में दर्जन भर बंदूकधारियों ने बस से उतारकर 9 मजदूरों की हत्या की, विधायक के भाई की हत्या: सरकार ने बताया आतंकी हमला

पाकिस्तान की मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार, नुश्की टीचिंग हॉस्पिटल के एमएस डॉक्टर जफर मेंगल ने कहा कि मृतकों के शरीर के विभिन्न हिस्सों में गोली मारी गई थी। वहीं, एक अन्य घटना में दो लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी गई, जबकि तीन अन्य लोग घायल हो गए हैं। इसमें एक व्यक्ति प्रांतीय असेंबली के सदस्य ग़ुलाम दस्तगीर बादिनी का भाई था।

पाकिस्तान में एक बार अज्ञात हमलावरों ने 11 लोगों की गोली मारकर हत्या है। क्वेटा में शुक्रवार (12 अप्रैल 2024) को हुई दो अलग-अलग आतंकी घटनाओं में लोगों को निशाना बनाया गया। मृतकों में 9 पंजाब के रहने वाले थे। वे क्वेटा से ताफ्तान जाने के लिए एक बस से यात्रा कर रहे थे। अज्ञात आतंकवादियों ने बस रोककर उन्हें बाहर निकाला और अपहरण कर लिया और फिर हत्या कर दी। इसकी जिम्मेदारी अभी तक किसी भी संगठन ने नहीं ली है।

पुलिस ने अपहरण किए गए इन लोगों की तलाशी के लिए अभियान चलाया, लेकिन उनके शव एक पहाड़ी के पास पुल के नीचे पाए गए। इन सभी को गोली मारी गई थी। मारे गए लोग पंजाब के मंडी बहाउद्दीन, वजीराबाद और गुजरांवाला इलाकों के रहने वाले थे। नुश्की के पुलिस अधीक्षक (एसपी) अल्लाह बख्श के अनुसार, ये सभी मृतक मजदूर थे। पाकिस्तान ने इसे आतंकी हमला कहा है।

पाकिस्तान की मीडिया संस्थान द न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, नुश्की टीचिंग हॉस्पिटल के एमएस डॉक्टर जफर मेंगल ने कहा कि मृतकों के शरीर के विभिन्न हिस्सों में गोली मारी गई थी। वहीं, एक अन्य घटना में दो लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी गई, जबकि तीन अन्य लोग घायल हो गए हैं। इसमें एक व्यक्ति प्रांतीय असेंबली के सदस्य ग़ुलाम दस्तगीर बादिनी का भाई था।

नुश्की के डिप्टी कमिश्नर हबीबुल्लाह मुसाखेल ने कहा कि शुक्रवार (12 अप्रैल 2024) की रात को एक दर्जन से अधिक आतंकवादियों ने सुल्तान चढाई के पर क्वेटा-नुश्की-ताफ्तान NH 40 को अवरुद्ध कर दिया था। इसके बाद वाहनों की जाँच शुरू कर दी। एक कार को उन्होंने रोकने की कोशिश की, लेकिन वह नहीं रूका तो उस पर गोलीबारी की।

गोली लगने से कार का टायर फट गया और कार पलट गई। कार पलटने से इसमें सवार विधायक के भाई की मौत हो गई। वहीं, चार अन्य सवार घायल हो गए। हबीबुल्लाह ने बताया कि उसी राजमार्ग पर आतंकियों ने एक बस को रुकवाया और उसमें सवार यात्रियों के पहचान पत्रों की जाँच की। इसके बाद उनका अपहरण कर लिया गया। बाद में उन सबका शव बरामद किया गया।

बलूचिस्तान के मुख्यमंत्री सरफराज बुगती ने 11 लोगों की हत्या की निंदा की और कहा कि घटना में शामिल आतंकवादियों को माफ नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हमलों में शामिल आतंकवादियों का छोड़ा नहीं जाएगा। वहीं, गृह मंत्री मोहसिन नकवी ने भी घटना की निंदा करते हुए कहा कि कायद-ए-आजम के पाकिस्तान में ऐसी दुखद घटना के लिए कोई जगह नहीं है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अमेरिकी राजनीति में नहीं थम रहा नस्लवाद और हिंदू घृणा: विवेक रामास्वामी और तुलसी गबार्ड के बाद अब ऊषा चिलुकुरी बनीं नई शिकार

अमेरिका में भारतीय मूल के हिंदू नेताओं को निशाना बनाया जाना कोई नई बात नहीं है। निक्की हेली, विवेक रामास्वामी, तुलसी गबार्ड जैसे मशहूर लोग हिंदूफोबिया झेल चुके हैं।

आज भी फैसले की प्रतीक्षा में कन्हैयालाल का परिवार, नूपुर शर्मा पर भी खतरा; पर ‘सर तन से जुदा’ की नारेबाजी वाले हो गए...

रिपोर्ट में यह भी कहा गया था कि गौहर चिश्ती 17 जून 2022 को उदयपुर भी गया था। वहाँ उसने 'सर कलम करने' के नारे लगवाए थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -