Sunday, August 1, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयमुस्लिम ट्रैवल बैन पर बायडेन ने पलटा ट्रंप का फैसला, मेक्सिको बॉर्डर पर बन...

मुस्लिम ट्रैवल बैन पर बायडेन ने पलटा ट्रंप का फैसला, मेक्सिको बॉर्डर पर बन रही दीवार की फंडिंग भी रोकी

ट्रंप ने आदेश पर हस्ताक्षर करते हुए कहा था कि यह मुस्लिमों पर प्रतिबंध नहीं है जैसा कि मीडिया गलत प्रचार कर रहा है, यह धर्म के बारे में भी नहीं है। यह आतंकवाद और हमारे देश को सुरक्षित रखने को लेकर है।

डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बायडेन (Joe Biden) ने बुधवार (जनवरी 20, 2021) को अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली। बायडेन ने कार्यभार संभालते ही ट्रंप प्रशासन के कई अहम फैसलों को बदल दिया, जिनमें ‘मुस्लिम ट्रैवल बैन’ (Muslim travel ban) भी एक है। ट्रंप प्रशासन ने इस कदम को चरमपंथी इस्लामी आतंकवादियों से अमेरिका को सुरक्षित बनाने का प्रयास बताया था।

नवनिर्वाचित राष्ट्रपति ने अमेरिका में ‘मुस्लिम ट्रैवल बैन’ (Muslim travel ban) को हटाकर पाँच मुस्लिम-बहुल राष्ट्रों- ईरान, लीबिया, सोमालिया, सीरिया और यमन के साथ-साथ उत्तर कोरिया और वेनेजुएला के कुछ अन्य अधिकारियों पर जारी प्रतिबंध समाप्त करने का फैसला लिया है।

कार्यालय संभालने के कुछ घंटे बाद ही बायडेन ने ‘मुस्लिम यात्रा प्रतिबंध’ को समाप्त करने सहित 17 कार्यकारी आदेश ज्ञापनों और घोषणाओं पर हस्ताक्षर किए। दरअसल, अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इसके तहत कुछ मुस्लिम देशों और अफ्रीकी देशों के अमेरिका में ट्रेवल पर रोक लगा दी थी। इतना ही नहीं, अमरीका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति बायडेन ने मेक्सिको बॉर्डर (Mexico border) पर दीवार बनाने के डोनाल्ड ट्रंप के फैसले को भी पलट दिया और इसके लिए फंडिंग भी रोक दी है। इस फैसले के बाद मैक्सिको ने जो बायडेन की भी प्रशंसा की है।

बायडेन के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जैक सुलिवन ने कहा कि प्रतिबंध ‘हमारे देश पर एक दाग से कम नहीं था और यह ज़ेनोफोबिया (अपरिचित या विदेशियों को पसंद ना करना) और धार्मिक दुश्मनी ही थी’। 2017 में ट्रंप के कार्यालय में पहले सप्ताह से ही लागू, मुस्लिम प्रतिबंध ने शुरू में सात मुस्लिम-बहुसंख्यक देशों- ईरान, इराक, लीबिया, सोमालिया, सूडान, सीरिया और यमन से यात्रा को प्रतिबंधित कर दिया था।

ट्रंप ने कहा था- यह मुस्लिमों पर प्रतिबंध नहीं

इस प्रतिबन्ध के शासकीय आदेश का बचाव करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने तब जोर देकर कहा था कि ‘यह प्रतिबंध मुस्लिमों पर नहीं है’ जैसा कि मीडिया द्वारा गलत प्रचार किया जा रहा है। ट्रंप ने आदेश पर हस्ताक्षर करते हुए कहा था कि यह मुस्लिमों पर प्रतिबंध नहीं है जैसा कि मीडिया गलत प्रचार कर रहा है, यह धर्म के बारे में भी नहीं है। यह आतंकवाद और हमारे देश को सुरक्षित रखने को लेकर है। ट्रंप ने कहा था कि दुनिया भर में 40 से अधिक देश मुस्लिम बहुल हैं जो इस आदेश से प्रभावित नहीं होंगे।

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बायडेन ने शपथग्रहण के बाद पहले ही दिन कई अहम फैसलों पर हस्ताक्षर किए, जिनमें प्रमुख तौर पर पेरिस जलवायु समझौता भी है। व्हाइट हाउस ने जानकारी दी कि जलवायु परिवर्तन पर पेरिस समझौते में अमेरिका की फिर से वापसी होगी। बायडेन ने पेरिस जलवायु समझौते में दोबारा शामिल होने का ऐलान किया। डेमोक्रेटिक राष्ट्रपति ने देश की जनता से चुनाव के दौरान ही यह वादा किया था।

इसके अलावा, बायडेन ने कोरोना वायरस के खिलाफ मुहिम तेज करने के उद्देश्य से एक निर्णय पर हस्ताक्षर करते हुए मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग को अनिवार्य कर दिया है। साथ ही, दोबारा WHO में शामिल होने का फैसला किया है। कोरोना महामारी के दौरान तत्कालीन राष्ट्रपति ट्रंप ने WHO से हटने का फैसला किया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मस्जिद के सामने जुलूस निकलेगा, बाजा भी बजेगा’: जानिए कैसे बाल गंगाधर तिलक ने मुस्लिम दंगाइयों को सिखाया था सबक

हिन्दू-मुस्लिम दंगे 19वीं शताब्दी के अंत तक महाराष्ट्र में एकदम आम हो गए थे। लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक इससे कैसे निपटे, आइए बताते हैं।

मानसिक-शारीरिक शोषण से धर्म परिवर्तन और निकाह गैर-कानूनी: हिन्दू युवती के अपहरण-निकाह मामले में इलाहाबाद HC

आरोपित जावेद अंसारी ने उत्तर प्रदेश में 'लव जिहाद' के खिलाफ बने कानून के तहत हो रही कार्रवाई को रोकने के लिए इलाहाबाद हाईकोर्ट का रुख किया था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,404FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe