Saturday, April 20, 2024
Homeरिपोर्टमीडियाहिंदुओं की मौत, चिताएँ... तब दानिश सिद्दीकी के फोटो बिकते थे... अब बिक रहीं...

हिंदुओं की मौत, चिताएँ… तब दानिश सिद्दीकी के फोटो बिकते थे… अब बिक रहीं उनके अब्बा-परिवार की तस्वीरें ₹23000 में

यहाँ कुछ तस्वीरें हैं जो 16 जुलाई को क्लिक की गई थीं, जिस दिन अफगानिस्तान के कंधार में स्पिन बोल्डक जिले में तालिबान द्वारा पत्रकार की हत्या कर दी गई थी।

अफगानिस्तान के कंधार के स्पिन बोल्डक जिले में तालिबानियों ने रॉयटर्स के फोटो जर्नलिस्ट दानिश सिद्दीकी को मार डाला। जैसे ही फोटो-पत्रकार मारा गया, उसके शोक संतप्त परिवार और रिश्तेदारों की तस्वीरें स्टॉक इमेज साइट, गेटी इमेजेज (Getty Images) पर वस्तुओं की तरह बिकने लगीं

ब्रिटिश-अमेरिकी मीडिया कंपनी Getty Images अब मृतक रॉयटर्स पत्रकार के परिवार के सदस्यों, रिश्तेदारों और उनके शोक संतप्त पिता की कई तस्वीरों को बेच रही है। स्टॉक इमेज साइट पर एडिटोरियल सेक्शन के तहत तस्वीर 23,000 रुपए प्रति पीस में बिक रही हैं, जो Getty Images पर संपादकीय तस्वीरों के एक बड़े संस्करण के लिए मानक मूल्य है। इसी तरह की तस्वीरों का एक छोटा वर्जन कम कीमत में डाउनलोड किया जा सकता है।

यहाँ कुछ तस्वीरें हैं जो 16 जुलाई को क्लिक की गई थीं, जिस दिन अफगानिस्तान के कंधार में स्पिन बोल्डक जिले में तालिबान द्वारा पत्रकार की हत्या कर दी गई थी।

दानिश सिद्दीकी के पिता की तस्वीर Getty Image पर 23,000 रुपए में बिक रही है
Capture1-3.jpg (1473×894)
दानिश सिद्दीकी के पिता और उनके रिश्तेदारों की एक और तस्वीर Getty Image पर 23,000 रुपए में बिक रही है
दानिश सिद्दीकी की मृत्यु के बाद उनके आवास पर एकत्रित हुए रिश्तेदारों और परिवार के सदस्यों की छवि
पत्रकार के आवास के बाहर क्लिक की गई ऐसी ही तस्वीर Getty Image पर बेची जा रही है

जब हमने Getty Images पर तस्वीरों से जुड़े नामों की लिस्ट देखी, तो हमने पाया कि वेबसाइट पर ऐसी तस्वीरों का सबसे महत्वपूर्ण योगदान हिंदुस्तान टाइम्स का है। यहाँ एक और बात ध्यान देने योग्य है कि ब्रिटिश-अमेरिकी मीडिया कंपनी दानिश सिद्दीकी की मौत के बाद ही उनके परिवार की क्लिक की गई तस्वीरों को बेच रही है। Getty Images के संपादकीय सेक्शन के तहत उनके नाम के सामने मौजूद 77 तस्वीरों में किसी में भी उनकी मृत्यु से पहले उनके परिवार को नहीं दिखाया गया है।

कई वामपंथी लिबरलों द्वारा मृतक फोटो जर्नलिस्ट की तस्वीर को सोशल मीडिया पर प्रसारित करने पर आपत्ति जताए जाने के बाद दानिश सिद्दीकी के परिवार की तस्वीरें स्टॉक इमेज साइट पर दिखाई दी हैं।

अंतिम संस्कार की तस्वीरें 23,000 में मिल रही

जब भारत कोविड -19 की सबसे बुरे दूसरी लहर से जूझ रहा था, ब्रिटिश-अमेरिकी मीडिया कंपनी Getty Images कोविड-19 महामारी के कारण हुई मौत की अंतिम संस्कार की कई तस्वीरों को बेच रहा था। हिंदू चिता को प्रदर्शित करने वाली सैकड़ों तस्वीरें भी उसी कीमत (23,000) पर बिकीं, जिस कीमत पर आज ब्रिटिश-अमेरिकी मीडिया कंपनी साइट पर दानिश सिद्दीकी के परिवार और रिश्तेदारों की तस्वीरें बेची जा रही हैं।

दरअसल, इससे भी बड़ा संयोग यह है कि Getty Images पर दिल्ली की चिता की तस्वीरों में हिंदुस्तान टाइम्स का सबसे बड़ा योगदान था। समाचार एजेंसी ने 30 दिनों में लगभग 330 चित्र अपलोड किए थे। मीडिया हाउस से जुड़े कई फोटोग्राफरों ने तस्वीरें लीं, जिनमें अमल केएस, राज के राज, साकिब अली, मोहम्मद जाकिर और अन्य शामिल हैं।

रॉयटर्स के दानिश सिद्दीकी ने कई बार भारत में जलते हुए घाट की तस्वीर शेयर किया

हालाँकि, रॉयटर्स, जिसके लिए दानिश सिद्दीकी ने काम किया, पश्चिमी मीडिया हाउसों में से एक था, जो महामारी की विनाशकारी दूसरी लहर के दौरान भारतीयों, विशेष रूप से हिंदुओं की मृत्यु से अत्यधिक खुश हुआ। एक तस्वीर जो हमने पूरे सोशल मीडिया, ट्विटर, फेसबुक या यहाँ तक कि व्हाट्सएप पर फैमिली ग्रुप में देखी, वह रॉयटर्स द्वारा भारत में जलते हुए घाट का हवाई दृश्य था। इसे दानिश सिद्दीकी ने लिया था।

इस तस्वीर को ट्विटर पर कई बार साझा करते हुए, दानिश सिद्दीकी ने लिखा था, “जैसा कि भारत ने COVID मामलों का विश्व रिकॉर्ड पोस्ट किया, लोगों की अंतिम संस्कार की चिता, जो कोरोना वायरस बीमारी के कारण मारे गए थे, को 22 अप्रैल, 2021 को नई दिल्ली के एक श्मशान घाट पर चित्रित किया गया था।” उन्होंने लोगों को उनके काम की तारीफ करने के लिए धन्यवाद भी दिया था।

उस तस्वीर के अलावा, दानिश सिद्दीकी ने कई ऐसी तस्वीरें क्लिक की थीं, जो Getty Images के समान ब्रिटिश स्वामित्व वाली स्टॉक फोटोग्राफी एजेंसी अलामी (Alamy) पर बेची जा रही हैं। दूसरी लहर के दौरान भारत में कोविड -19 की मौत पर अपनी रिपोर्ट के साथ कई मीडियाहाउसों ने उन तस्वीरों का इस्तेमाल किया था।

Alamyपर उपलब्ध दानिश सिद्दीकी द्वारा क्लिक की गई एक भारतीय अंतिम संस्कार की एक तस्वीर
Alamyपर उपलब्ध दानिश सिद्दीकी द्वारा क्लिक की गई एक भारतीय अंतिम संस्कार की एक और तस्वीर

कोविड -19 पीड़ितों के परिवार की गोपनीयता का स्पष्ट उल्लंघन होने के बावजूद, जिनकी जानकारी और अनुमति के बिना दानिश सिद्दीकी ने उन तस्वीरों को क्लिक किया था, रॉयटर्स के पत्रकार को इन तस्वीरों के लिए अंतर्राष्ट्रीय प्रशंसा मिली थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एक ही सिक्के के 2 पहलू हैं कॉन्ग्रेस और कम्युनिस्ट’: PM मोदी ने मलयालम तमिल के बाद मलयालम चैनल को दिया इंटरव्यू, उठाया केरल...

"जनसंघ के जमाने से हम पूरे देश की सेवा करना चाहते हैं। देश के हर हिस्से की सेवा करना चाहते हैं। राजनीतिक फायदा देखकर काम करना हमारा सिद्धांत नहीं है।"

‘कॉन्ग्रेस का ध्यान भ्रष्टाचार पर’ : पीएम नरेंद्र मोदी ने कर्नाटक में बोला जोरदार हमला, ‘टेक सिटी को टैंकर सिटी में बदल डाला’

पीएम मोदी ने कहा कि आपने मुझे सुरक्षा कवच दिया है, जिससे मैं सभी चुनौतियों का सामना करने में सक्षम हूँ।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe