Sunday, March 7, 2021
Home रिपोर्ट मीडिया हिंदुओं का नरसंहार करने वाले इस्लामी अक्रांता सागरिका घोष को लगते हैं देशभक्त और...

हिंदुओं का नरसंहार करने वाले इस्लामी अक्रांता सागरिका घोष को लगते हैं देशभक्त और आजादी के परिंदे

सागरिका के अनुसार, सिराजुद्दौला, टीपू सुल्तान और बहादुर शाह ज़फ़र जैसे लोग "महान देशभक्त शासक" थे। आजादी के लिए लड़ने वाले थे। लेकिन, सच्चाई यही है कि इन्होंने हिंदुओं पर जैसे-जैसे अत्याचार किए उन्हें शब्दों में बयॉं करना मुमकिन नहीं है।

नागरिकता संशोधन क़ानून (CAA) के ख़िलाफ़ हुए हिंसक विरोध-प्रदर्शनों के दौरान हिन्दू-विरोधी कट्टरता साफ़ तौर पर दिखी। बावजूद इसके लिबरल गैंग इनकी पर्दादारी कर अपने राजनीतिक एजेंडे को बढ़ाने में लगा है। लिबरल गैंग की एक सदस्य हैं सागरिका घोष। मुख्यधारा की मीडिया की कुख्याता प्रोपेंगेंडाबाज सागरिका ने एक बार फिर इस्लामपरस्त और सीएए विरोधी अपने एजेंडे का प्रदर्शन किया है।

हाल ही में सागरिका घोष ने एक ट्वीट कर जिहादियों का जमकर महिमामंडन किया। जिन जिहादियों का उन्होंने महिमामंडन किया है उन्होंने हिंदुओं के खिलाफ ऐसे-ऐसे अत्याचार किए हैं जिन्हें शब्दों में बयाँ करना मुश्किल है। सागरिका के अनुसार, सिराजुद्दौला, टीपू सुल्तान और बहादुर शाह ज़फ़र जैसे लोग “महान देशभक्त शासक” थे।

लिबरल्स के तर्क केवल और केवल उनके पाखंड की निशानी से अधिक और कुछ नहीं होते। एक तरफ़ तो यह तर्क दिया जाता है कि भारत 1947 से पहले अस्तित्व में नहीं था, जबकि दूसरी तरफ़, इस्लामिक आक्रांताओं का “महान देशभक्त शासक” के रूप में महिमामंडन किया जाता है। स्पष्ट तौर पर, लिबरल गैंग को इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि वे जो कह रहे हैं वह सच है या झूठ। उन्हें केवल अपने एजेंडे को आगे बढ़ाना होना है। वे केवल इसी की परवाह करते हैं। इसके लिए उन्हें इस्लामी निरंकुश शासकों का महिमामंडन करने की ज़रूरत पड़ती रहती है।

टीपू सुल्तान एक उन्मादी नरसंहारक था। उसने न सिर्फ़ हिन्दुओं पर अत्याचार किया बल्कि उनका नरसंहार करने पर वह गर्व भी करता था। इससे उसका जिहादी चरित्र जाहिर होता है। दूसरी तरफ़,
सिराजुद्दौला ने देशभक्ति की भावनाओं की कोई परवाह नहीं की। अपनी शक्ति बनाए रखने के लिए वह ऐसे लोगों को कुचलता रहा। उसके दौर में बंगाल में इस्लामी शासन द्वारा हिन्दुओं के ख़िलाफ़ क्रूरता की गई। यही वजह थी कि उस समय अधिकांश हिन्दुओं ने इस क्षेत्र में ब्रिटिश शासन का स्वागत किया था।
सिराजुद्दौला बंगाल का अंतिम स्वतंत्र नवाब था।

बहादुर शाह ज़फ़र की कहानी बेहद जटिल है। 1857 के युद्ध को ‘स्वतंत्रता के पहले युद्ध’ के रूप में स्थापित किया गया। निश्चित रूप से यह ‘हिन्दू-मुस्लिम एकता की कहानी’ नहीं है, जैसा कि अब तक बताया जाता रहा है। यह एक रणनीतिक उद्देश्य पूर्ति के लिए था, जिसके तहत अस्थायी रूप से एक-दूसरे के साथ सहयोग करने वाले समूह थे।

सागरिका घोष का इतिहास ज्ञान लिबरल संस्करण की विशिष्टता है। इसके अनुसार हिन्दू-मुस्लिम संबंधों की खाई के लिए अंग्रेज जिम्मेदार थे। जबकि सच्चाई यह है कि पिछले हज़ार वर्षों में ऐसा कोई समय नहीं रहा जब हिन्दू-मुस्लिम संबंध अच्छे रहे हों। फिर भी हिन्दुओं और दूसरे माहजब के बीच विभाजन के लिए अंग्रेजों को दोषी ठहराने का प्रयास किया जाता है ताकि नेहरू के सेक्युलर-लिबरल दृष्टि को उचित ठहराया जा सके।

सागरिका घोष ने अपने ट्वीट में इस तथ्य को पूरी तरह से नज़रअंदाज़ कर दिया है कि नागरिकता संशोधन क़ानून (CAA) के विरोध का वर्तमान उन्माद पूरी तरह से इस्लामी चरमपंथियों द्वारा संचालित है। इन विरोध-प्रदर्शनों में “हिन्दुओं से आज़ादी” और “काफ़िरों से आज़ादी” जैसे नारे सुनाई पड़े। साफ़ तौर से प्रदर्शनकारी उसी विचारधारा का पालन करते हैं जिसका टीपू सुल्तान ने किया था।

फेक न्यूज़ की रानी: पुराने माल के सहारे सेना और कश्मीर को बदनाम कर रही सागरिका घोष

सागरिका हम समझते हैं, कुंठा छिपाने और अपनी किताब बेचने का यह तरीका पुराना है

रोमिला थापर जैसे वामपंथियों ने गढ़े हिन्दू-मुस्लिम एकता की कहानी, किया इतिहास से खिलवाड़: विलियम डालरिम्पल

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

8-10 घंटे तक पानी में थी मनसुख हिरेन की बॉडी, चेहरे-पीठ पर जख्म के निशान: रिपोर्ट

रिपोर्टों के अनुसार शव मिलने से 12-13 घंटे पहले ही मनसुख हिरेन की मौत हो चुकी थी। लेकिन, इसका कारण फिलहाल नहीं बताया गया है।

‘ठकबाजी गीता’: हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस अकील कुरैशी ने FIR रद्द की, नहीं माना धार्मिक भावनाओं का अपमान

चीफ जस्टिस अकील कुरैशी ने कहा, "धारा 295 ए धर्म और धार्मिक विश्वासों के अपमान या अपमान की कोशिश के किसी और प्रत्येक कृत्य को दंडित नहीं करता है।"

PM मोदी की रैली में मिथुन चक्रवर्ती का भी होगा संबोधन, शुभेंदु ने कहा- TMC आई तो बंगाल बन जाएगा कश्मीर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोलकाता के ब्रिगेड ग्राउंड में रैली करने वाले हैं। इसमें मिथुन चकवर्ती भी मौजूद रहेंगे।

आज मनसुख हिरेन, 12 साल पहले भरत बोर्गे: अंबानी के खिलाफ साजिश में संदिग्ध मौतों का ये कैसा संयोग!

मनसुख हिरेन की मौत के पीछे साजिश की आशंका जताई जा रही है। 2009 में ऐसे ही भरत बोर्गे की भी संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हुई थी।

CM योगी से मिला किसानों का प्रतिनिधिमंडल, कहा- कृष‍ि कानूनों पर भड़का रहे लोग, आंदोलन से आवागमन बाधित होने की शिकायत

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने किसानों के हितों की रक्षा का भरोसा दिलाते हुए कहा कि नए कृषि कानून उनकी आय दोगुनी करने के उद्देश्य से लागू किए गए हैं और इससे कृषकों की आय में निरंतर वृद्धि होगी।

प्रचलित ख़बरें

माँ-बाप-भाई एक-एक कर मर गए, अंतिम संस्कार में शामिल नहीं होने दिया: 20 साल विष्णु को किस जुर्म की सजा?

20 साल जेल में बिताने के बाद बरी किए गए विष्णु तिवारी के मामले में NHRC ने स्वत: संज्ञान लिया है।

मौलाना पर सवाल तो लगाया कुरान के अपमान का आरोप: मॉब लिंचिंग पर उतारू इस्लामी भीड़ का Video

पुलिस देखती रही और 'नारा-ए-तकबीर' और 'अल्लाहु अकबर' के नारे लगा रही भीड़ पीड़ित को बाहर खींच लाई।

‘शिवलिंग पर कंडोम’ से विवादों में आई सायानी घोष TMC कैंडिडेट, ममता बनर्जी ने आसनसोल से उतारा

बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए टीएमसी ने उम्मीदवारों का ऐलान कर दिया है। इसमें हिंदूफोबिक ट्वीट के कारण विवादों में रही सायानी घोष का भी नाम है।

‘40 साल के मोहम्मद इंतजार से नाबालिग हिंदू का हो रहा था निकाह’: दिल्ली पुलिस ने हिंदू संगठनों के आरोपों को नकारा

दिल्ली के अमन विहार में 'लव जिहाद' के आरोपों के बाद धारा-144 लागू कर दी गई है। भारी पुलिस बल की तैनाती है।

‘वे पेरिस वाले बँगले की चाभी खोज रहे थे, क्योंकि गर्मी की छुट्टियाँ आने वाली हैं’: IT रेड के बाद तापसी ने कहा- अब...

आयकर छापों पर चुप्पी तोड़ते हुए तापसी पन्नू ने बताया है कि मुख्य रूप से तीन चीजों की खोज की गई।

पिछले 1000-1200 वर्षों से बंगाल में हो रही गोहत्या, कोई नहीं रोक सकता: ममता के मंत्री सिद्दीकुल्लाह का दावा

"उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने यहाँ आकर कहा था कि अगर भाजपा सत्ता में आती है, तो वह राज्य में गोहत्या को समाप्त कर देगी।"
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

292,301FansLike
81,962FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe