Monday, January 17, 2022
Homeरिपोर्टमीडियाTRP केस में इंडिया टुडे को सबसे पहले समन भेजेगी ED, हंसा रिसर्च के...

TRP केस में इंडिया टुडे को सबसे पहले समन भेजेगी ED, हंसा रिसर्च के बयान के बाद होगी पूछताछ

इंडिया टुडे वो पहला चैनल होगा, जिसे TRP मामले पर समन भेजा जाएगा और पूछताछ होगी। ED अब टीआरपी केस में मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों के साथ-साथ उन सभी चैनल की जाँच करेगी, जिनका उल्लेख FIR में किया गया है।

TRP मामले की जाँच ईडी (ED) के पास पहुँचने के बाद इस केस में बड़ी डेवलपमेंट सामने आ रही है। ईडी के सूत्रों से पता चला है कि इंडिया टुडे पहला चैनल होगा, जिसे इस मामले पर वह समन भेजेगी और पूछताछ करेगी।

बता दें कि यह पूछताछ मुंबई पुलिस के पास दर्ज एफआईआर पर आधारित होगी, जिसमें इंडिया टुडे का नाम लिखा हुआ है। ईडी पहले शिकायतकर्ता (हंसा रिसर्च) का बयान दर्ज करेगी और फिर इंडिया टुडे के एग्जीक्यूटिव्स को पूछताछ के लिए बुलाएगी।

गौरतलब है कि शुक्रवार (नवंबर 20, 2020) को केंद्रीय जाँच एजेंसी ईडी ने टीआरपी केस में प्रवर्तन मामला सूचना रिपोर्ट यानी ECIR दर्ज की थी। रिपब्लिक टीवी ने बताया था कि अब ईडी मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों के साथ-साथ उन सभी चैनल की जाँच करेगी, जिनका उल्लेख ओरिजनल एफआईआर (FIR) में किया गया है।

ईडी के अलावा इस केस में सीबीआई की जाँच भी चल रही है यानी ईडी दूसरी केंद्रीय जाँच एजेंसी है, जिसने केस दर्ज किया

TRP केस

8 अक्टूबर को आयोजित एक प्रेस वार्ता में मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने टीआरपी घोटाले मामले में रिपब्लिक टीवी और उसके एडिटर इन चीफ अर्णब गोस्वामी पर कई गम्भीर आरोप लगाए थे। उन्होंने दावा किया था कि चैनल ने टीआरपी से जुड़ी जानकारी में बदलाव करने के लिए आम लोगों को पैसे दिए थे और उनसे कहा गया था कि वह उनका चैनल चलाकर अपना टीवी ऑन रखें।

हालाँकि, उसी दिन देर शाम तक रिपब्लिक टीवी ने सबूतों के साथ अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को खारिज करते हुए बताया कि असली रिपोर्ट में उनके चैनल का नाम कहीं भी नहीं है, बल्कि उन पर सवाल उठाने वाले इंडिया टुडे का नाम ओरिजनल एफआईआर में है। इसके बाद इंडिया टुडे और मुंबई पुलिस की मंशा पर सवाल खड़े हो गए थे। बाद में मुंबई पुलिस कमिशनर को मानना भी पड़ा था कि एफआईआर में इंडिया टुडे का नाम है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

खालिस्तानी प्रोपगेंडे को पीछे धकेल सामने आए ब्रिटिश सिख, PM मोदी को दिया धन्यवाद, कहा- ‘आपने बहुत कुछ किया है’

अमेरिका के साउथहॉल के पार्क एवेन्यू में स्थित गुरुद्वारा गुरू सभा में एकत्रित होकर सिख समुदाय के लोगों ने पीएम मोदी को उनके प्रयासों के लिए धन्यवाद दिया।

बॉर्डर जिलों में बढ़ रहे मस्जिद-मदरसों के बीच उत्तराखंड की जमीन पर नेपाल का दावा, चीन कब्जा चुका है उनका 33 हेक्टेयर

भारत के निर्माण कार्यों और अन्य परियोजनाओं का विरोध करते हुए नेपाल की देउबा सरकार ने फिर से अलापा लिपुलेख का राग।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
151,727FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe