Monday, August 2, 2021
Homeरिपोर्टमीडियाराजदीप सरदेसाई की 'चापलूसी' में लगा इंडिया टुडे, 'दलाल' लिखा तो कर दिए जाएँगे...

राजदीप सरदेसाई की ‘चापलूसी’ में लगा इंडिया टुडे, ‘दलाल’ लिखा तो कर दिए जाएँगे ब्लॉक: लोग ले रहे मजे

सोशल मीडिया पर इंडिया टुडे की इस हरकत के बाद सवाल उठाया जा रहा है कि यदि आपने राजदीप सरदेसाई को 'दलाल' कहा तो इंडिया टुडे आपको ब्लॉक कर देगा। इसलिए राजदीप को न टैग करें और न ही दलाल कहें।

इंडिया टुडे पत्रकार राजदीप सरदेसाई के झूठ फैलाने वाली आदतों को लेकर सोशल मीडिया पर उनका विरोध अक्सर होता है। कुछ लोग अपना गुस्सा जाहिर करने के लिए कई बार उन्हें अपशब्द भी कह देते हैं। लेकिन राजदीप तब भी अपनी हरकतों से बाज नहीं आते। 

पिछले दिनों उन्होंने किसान आंदोलन पर झूठ फैलाया और इंडिया टुडे ने उन्हें सस्पेंड कर दिया। एक माह बाद जब उनकी वापसी हुई तो संस्थान उनकी चापलूसी में ऐसा जुटा कि जैसे ही किसी ने उन्हें सोशल मीडिया पर कुछ गलत बोला, स्वंय संस्थान ने ही उन लोगों को ब्लॉक कर दिया।

सोशल मीडिया पर इंडिया टुडे की इस हरकत के बाद सवाल उठाया जा रहा है कि यदि आपने राजदीप सरदेसाई को ‘दलाल’ कहा तो इंडिया टुडे आपको ब्लॉक कर देगा। इसलिए राजदीप को न टैग करें और न ही दलाल कहें।

हालाँकि, कुछ ये भी कह रहे हैं, “इस तरह तो इंडिया टुडे को सबको ब्लॉक करना पड़ेगा क्योंकि देसाई की हरकतें राष्ट्रपति जी के कार्यालय से भी लतियाई गई हैं, वर्तमान में भी और प्रणव मुखर्जी द्वारा भी… अब क्या हम गधे को गधा और दल्ले को दल्ला भी ना बोलें? सोशल मीडिया है ये तुम्हारा पर्सनल नहीं जो गला दबा दो।”

बता दें कि राजदीप सरदेसाई ने आज थोड़ी देर पहले एक ट्वीट किया था। इसमें उन्होंने 3 बजे वाले शो के बारे में जानकारी दी थी। यहाँ एक सोशल मीडिया अकॉउंट ने उनके लिए ‘दलाल’ लिख दिया। बस राजदीप ने तो इस पर कुछ नहीं कहा, मगर इंडिया टुडे उनके बचाव में आ गया।

इंडिया टुडे ने लिखा, “इंडिया टुडे समूह सोशल मीडिया पर उन ऑडिएंस के प्रति प्रतिबद्ध है जो आपकी भाषा अपमानजनक और असाधारण मानते हैं। इसलिए हम आपके हैंडल को ब्लॉक कर रहे हैं। बतौर लीडर, हमारी जिम्मेदारी है कि हम रचनात्मक बातचीत और शालीनता के साथ असंतोष के लिए इस मंच को सुरक्षित रखें।”

अब इंडिया टुडे की इस हरकत के बाद जब सोशल मीडिया पर उनकी थू-थू होने लगी तो उन्होंने खुद को निष्पक्ष दिखाने के लिए ये संदेश अन्य कंटेट या ट्वीट्स के साथ भी पोस्ट करने लगे। दिलचस्प बात यह है कि इससे पहले ऐसा कदम इंडिया टुडे ने नहीं उठाया था और राजदीप का बचाव करने के बाद जगह-जगह उनका ये मैसेज पोस्ट किया गया।

अकॉउंट्स पर किए गए इंडिया टुडे के एक्शन को देख कर लगता है कि राजदीप को दलाल कहने से इंडिया टुडे की भावनाओं को ठेस पहुँची है और उन्हें एक नहीं बल्कि तमाम अकॉउंट्स को इसी का हवाला देकर ब्लॉक कर दिया है।

गौरतलब है कि ये पहली बार नहीं है कि जब राजदीप को सोशल मीडिया पर गाली पड़ी हो या किसी ने उन्हें दलाल कहा हो। इससे पहले एक वीडियो सामने आई थी जिसमें लोग सरदेसाई को चीख चीख कर दलाल कह रहे थे। हालाँकि, तब इंडिया टुडे की ओर से इस पर कोई एक्शन नहीं लिया गया था। लेकिन एक माह के सस्पेंशन से लौटे सरदेसाई के लिए इंडिया टुडे का ऐसे मोर्च पर आना बताता है कि ये सब केवल उन्हें बेहतर महसूस कराने के लिए किया गया, क्योंकि पिछले दिनों संस्थान द्वारा सैलरी काटे जाने और सस्पेंड किए जाने से उनकी भावनाएँ आहत हुई थीं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

22 साल की TikTok स्टार पूजा चव्हाण, सुसाइड से पहले मंत्री रहे शिवसेना नेता से हुई थी खूब बात: रिपोर्ट

आत्महत्या से पहले जिस व्यक्ति से पूजा चव्हाण की काफी बार बात हुई थी, कथित तौर पर वो महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री व शिवसेना नेता संजय राठौड़ हैं।

चक दे इंडिया: ओलंपिक के 60 मिनट और भारतीय महिला हॉकी टीम ने रचा इतिहास

यह पहली बार हुआ है कि भारतीय महिला हॉकी टीम ने सबको हैरान करते हुए इस तरह जीत हासिल की। 1980 के मॉस्को ओलंपिक में टीम को चौथा स्थान मिला था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,557FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe