Thursday, October 1, 2020
Home रिपोर्ट मीडिया बोरिस जॉनसन की बड़ी फजीहत, चाय-दुकान पर उनकी सरकार के खिलाफ प्रस्ताव पारित: द...

बोरिस जॉनसन की बड़ी फजीहत, चाय-दुकान पर उनकी सरकार के खिलाफ प्रस्ताव पारित: द वायर

सिएटल में मौजूद भारतीय-अमेरिकी मुस्लिम काउंसिल के प्रवक्ता जावेद सिकंदर असम को भारत से काट देने जैसी बातें कहने वाले राजद्रोह का आरोपित शरजील इमाम के बयान का भी स्वागत करते हैं या नहीं, यह बात ना ही स्क्रॉल ने बताई है, ना दी वायर ने और ना ही दी न्यू इंडियन एक्सप्रेस ने।

गत लोकसभा चुनाव से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने एक इंटरव्यू के दौरान कहा था कि राहुल गाँधी के भ्रष्टाचारों के खिलाफ पूरे सबूत होने के बावजूद भी मीडिया उन पर बात नहीं करता है, लेकिन मोदी के लिए दुनिया के किसी कोने में भी अगर कोई गाली दे दे तो मीडिया फ़ौरन जाकर उसका बयान बड़े हेडलाइंस में चला देता है। ऐसा ही एक करनामा करते हुए ‘द न्यू इंडियन एक्सप्रेस‘ देखा जा रहा है।

द न्यू इंडियन एक्सप्रेस की एक खबर है, जिसकी हेडलाइन है- “In embarrassment for Modi government, Seattle City Council passes resolution against CAA, NRC”
जिसका अर्थ है- “मोदी सरकार की बड़ी फजीहत, सिएटल सिटी काउंसिल ने CAA और NRC के खिलाफ प्रस्ताव पारित किया है”

इस खबर को पढ़ने पर पता चलता है कि यह खबर उत्तरी अमेरिका महाद्वीप में बसे वाशिंगटन राज्य के किसी सीऐटल शहर की है, जो किसी तरह द न्यू इंडियन एक्सप्रेस के रिपोर्टर्स के हाथ लगी। इसके बाद सब सिलसिलेवार तरीके से होता नजर आया जो तरीका मोदी सरकार के खिलाफ मीडिया गिरोह अक्सर आजमाते हुए नजर आता है।

दिलचस्प बात यह है कि ये सब वही वामपंथी मीडिया गिरोह की घातक टुकड़ियाँ हैं, जो कई बार अपने सरकार-हिन्दू और देशविरोधी प्रोपेगैंडा के कारोबार में संलिप्त पाए गए हैं।

मीडिया गिरोह की सबसे प्रमुख इकाई, यानी प्रोपेगैंडा वेबसाइट दी वायर, स्क्रॉल, दी क्विंट आदि ने भी इस खबर को प्रकाशित किया। हालाँकि, दी वायर ने इसे ‘मोदी सरकार की शर्मिंदगी’ बताने का उतावलापन नहीं दिखाया।
‘दी वायर’ की रिपोर्ट बताती है कि जावेद सिकंदर सिएटल में भारतीय-अमेरिकी मुस्लिम काउंसिल के प्रवक्ता ने भी इस निर्णय का स्वागत किया है। अब अगर मोदी सरकार के विरोध में पारित किसी प्रस्ताव का स्वागत कोई जावेद, अब्दुल, लुकमान या गजनवी कर दे, तो भारत में मौजूद पत्रकारिता के समुदाय विशेष का स्खलित होना स्वाभाविक है ही।

मीडिया गिरोह की मानें तो अब अगर चीन की कोई नगर पालिका या ग्राम पंचायत भी भारत में फासिस्ट मोदी सरकार के दौरान चाउमीन में डाली जा रही शिमला मिर्च के खिलाफ प्रस्ताव जारी कर दे, तो मोदी सरकार की जड़ें हिलते देर नहीं लगेगी।

जैसा की भारतीय मीडिया में बैठे हुए कुछ कथित ‘सेक्युलर’ विचारकों ने नागरिकता कानून के खिलाफ शुरू से ही माहौल बनाया था, सिएटल में पारित इस प्रस्ताव में नागरिकता कानून और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (CAA-NRC) को मुस्लिमों के खिलाफ भेदभावपूर्ण बताया है।

विरोधी राजनीतिक दलों के प्रवक्ता की तरह काम करने वाले NDTV में रवीश कुमार जैसे लोगों की पूरी बटालियन जब मुस्लिमों को उकसाने के लिए रोजाना अपने प्राइम टाइम और सोशल मीडिया एकाउंट्स से डिटेंशन कैम्प की तुलना जर्मनी के गैस चैंबर से करते हैं तो एक समय आता है जब असहिष्णुता जैसे शब्द स्थापित होने शुरू हो जाते हैं।

सिएटल में मोदी सरकार के खिलाफ प्रस्ताव पारित होने से मोदी सरकार की फजीहत होना इसी प्रकार है, जिस तरह से चाय की दुकान पर खड़े चार लोग चाय-बीड़ी-सिगरेट ख़त्म होने के इन्तजार में समय बिताने के लिए नेहरू के नाम के साथ गयासुद्दीन गाजी जैसी परिकल्पनाओं पर बहस करते हैं। या फिर भारतीय स्कूल-कॉलेज के बच्चे कैंटीन में बैठकर युगांडा की सरकार की ईंट से ईंट बजा देने का संकल्प कर लेते हैं।

भारतीय मीडिया गिरोह बखूबी जानता है कि इस प्रकार की हेडलाइंस से आज नहीं तो कल उनका सन्देश समाज के बीच चर्चा का मुद्दा बनेगा और वाशिंगटन या सिएटल को ठीक से बोल पाने में अक्षम लोग भी इस बात से प्रभावित होते नजर आएँगे कि कहीं कोई मोदी सरकार के विरोध में प्रस्ताव पारित कर रहा है।

हालाँकि, सिएटल में मौजूद भारतीय-अमेरिकी मुस्लिम काउंसिल के प्रवक्ता जावेद सिकंदर असम को भारत से काट देने जैसी बातें कहने वाले राजद्रोह का आरोपित शरजील इमाम के बयान का भी स्वागत करते हैं या नहीं, यह बात ना ही स्क्रॉल ने बताई है, ना दी वायर ने और ना ही दी न्यू इंडियन एक्सप्रेस ने। हो सकता है कि मीडिया गिरोह की इन घातक टुकड़ियों ने यह जानने में रूचि भी न दिखाई हो कि जावेद सिकंदर के विचार शाहीन बाग़ की भेंट चढ़े बच्चे के बारे में क्या हैं।

भारतीय मीडिया के बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2019 के आम चुनावों से पहले ही अपनी राय स्पष्ट कर दी थी। एक इंटरव्यू के दौरान ऑपइंडिया की रिपोर्ट का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि हर घोटाले में नामदार परिवार (कॉन्ग्रेस की ओर इशारा करते हुए) का नाम सबसे ऊपर है। ऑनलाइन मैगज़ीन पर उनके खिलाफ सभी सबूत मौजूद हैं, लेकिन कोई भी मीडिया वाला उन पर बात करने को राजी नहीं होता है।

दरअसल, ऑपइंडिया ने गाँधी परिवार के सदस्यों द्वारा किए गए संदिग्ध भूमि सौदों का ख़ुलासा किया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस बयान की पोल खोलने के लिए दी न्यू इंडियन एक्सप्रेस और दी वायर की सिएटल में पारित हुए एक प्रस्ताव को मोदी सरकार की फजीहत बता देना इसी बात की पुष्टि करता है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जब बलात्कार से ज्यादा जरूरी हिन्दू प्रतीकों पर कार्टून बना कर नीचा दिखाना हो जाता है: अपना इतिहास स्वयं लिखो

अपने पक्ष की कहानियाँ खुद लिखना सीखिए, लेकिन उससे भी जरुरी है कि वो जिस मुद्दे पर उकसाएँ, उस पर चुप रहना सीखिए।

बलरामपुर: दलित लड़की के साथ सामूहिक बलात्कार, लड़की की मौत, शाहिद और साहिल गिरफ्तार

अनुसूचित जाति की एक युवती के साथ शाहिद और साहिल द्वारा सामूहिक बलात्कार की घटना सामने आई है। युवती की अस्पताल में मौत हो गई।
00:48:35

हाथरस केस में पुलिस पर सवाल उठना लाजमी: अजीत भारती का वीडियो | Ajeet Bharti on Hathras Case

भयावहता को दर्शाने के लिए जीभ काटने, रीढ़ की हड्डी तोड़ने, आँख फोड़ने की बात कही गई। ये भी कहा गया कि आरोपित सवर्ण है, इसलिए पुलिस छेड़छाड़ का मामला बताकर रफा-दफा करने की कोशिश कर रही है।

इलाज के लिए अमित शाह के न्यूयॉर्क जाने, उनके बीमार होने के वायरल दावों की क्या है सच्चाई, पढ़ें पूरी डिटेल

सोशल मीडिया पर गृह मंत्री अमित शाह को इलाज के लिए न्यूयॉर्क शिफ्ट करने की बात पूरी तरह से गलत है। इसके इतर, उनका स्वास्थ्य बिल्कुल ठीक है। उन्होंने आज मंत्रालय और पार्टी दोनों ही कामों में हिस्सा लिया है।

CM योगी ने की हाथरस पीड़िता के परिजनों से बात, परिवार को 25 लाख की आर्थिक मदद, मकान और सरकारी नौकरी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हाथरस गैंगरेप पीड़िता के परिजनों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बात की। बुधवार शाम को हुई बातचीत में सीएम योगी ने न्याय का भरोसा दिलाया। मुख्यमंत्री ने पीड़ित परिवार को ढाँढस बँधाया।

लड़कियों को भी चाहिए सेक्स, फिर ‘काटजू’ की जगह हर बार ‘कमला’ का ही क्यों होता है रेप?

बलात्कार आरोपित कटघरे में खड़ा और लोग तरस खा रहे... सबके मन में बस यही चल रहा है कि काश इसके पास नौकरी होती तो यह आराम से सेक्स कर पाता!

प्रचलित ख़बरें

ईशनिंदा में अखिलेश पांडे को 15 साल की सजा, कुरान की ‘झूठी कसम’ खाकर 2 भारतीय मजदूरों ने फँसाया

UAE के कानून के हिसाब से अगर 3 या 3 से अधिक लोग कुरान की कसम खाकर गवाही देते हैं तो आरोप सिद्ध माना जा सकता है। इसी आधार पर...

‘हिन्दू राष्ट्र में आपका स्वागत है, बाबरी मस्जिद खुद ही गिर गया था’: कोर्ट के फैसले के बाद लिबरलों का जलना जारी

अयोध्या बाबरी विध्वंस मामले में कोर्ट का फैसला आने के बाद यहाँ हम आपके समक्ष लिबरल गैंग के क्रंदन भरे शब्द पेश कर रहे हैं, आनंद लीजिए।

व्यंग्य: दीपिका के NCB पूछताछ की वीडियो हुई लीक, ऑपइंडिया ने पूरी ट्रांसक्रिप्ट कर दी पब्लिक

"अरे सर! कुछ ले-दे कर सेटल करो न सर। आपको तो पता ही है कि ये सब तो चलता ही है सर!" - दीपिका के साथ चोली-प्लाज्जो पहन कर आए रणवीर ने...

एंबुलेंस से सप्लाई, गोवा में दीपिका की बॉडी डिटॉक्स: इनसाइडर ने खोल दिए बॉलीवुड ड्रग्स पार्टियों के सारे राज

दीपिका की फिल्म की शूटिंग के वक्त हुई पार्टी में क्या हुआ था? कौन सा बड़ा निर्माता-निर्देशक ड्रग्स पार्टी के लिए अपनी विला देता है? कौन सा स्टार पत्नी के साथ मिल ड्रग्स का धंधा करता है? जानें सब कुछ।

शाम तक कोई पोस्ट न आए तो समझना गेम ओवर: सुशांत सिंह पर वीडियो बनाने वाले यूट्यूबर को मुंबई पुलिस ने ‘उठाया’

"साहिल चौधरी को कहीं और ले जाया गया। वह बांद्रा के कुर्ला कॉम्प्लेक्स में अपने पिता के साथ थे। अभी उनकी लोकेशन किसी परिजन को नहीं मालूम। मदद कीजिए।"

लड़कियों को भी चाहिए सेक्स, फिर ‘काटजू’ की जगह हर बार ‘कमला’ का ही क्यों होता है रेप?

बलात्कार आरोपित कटघरे में खड़ा और लोग तरस खा रहे... सबके मन में बस यही चल रहा है कि काश इसके पास नौकरी होती तो यह आराम से सेक्स कर पाता!

जब बलात्कार से ज्यादा जरूरी हिन्दू प्रतीकों पर कार्टून बना कर नीचा दिखाना हो जाता है: अपना इतिहास स्वयं लिखो

अपने पक्ष की कहानियाँ खुद लिखना सीखिए, लेकिन उससे भी जरुरी है कि वो जिस मुद्दे पर उकसाएँ, उस पर चुप रहना सीखिए।

आजमगढ़ में 8 साल की बच्ची को नहलाने के बहाने घर लेकर जाकर दानिश ने किया रेप, हालत नाजुक

बच्ची की माँ द्वारा शिकायत दर्ज कराने के बाद मामला दर्ज कर लिया गया है। घटना के संबंध में दानिश नाम के आरोपित की गिरफ्तारी भी हो चुकी है।

बुलंदशहर: 14 वर्षीय बच्ची को घर से उठाकर रिजवान उर्फ़ पकौड़ी ने किया रेप, मुँह में कपड़ा ठूँसा..चेहरे पर तेजाब डालने की धमकी, गिरफ्तार

14 वर्षीय लड़की को रुमाल सुँघाकर रेप करने वाले पड़ोसी रिजवान को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पीड़िता का इलाज चल रहा है।

अजमेर में टीपू सुल्तान ने अपने 2 दोस्तों के साथ दलित युवती के मुँह में कपड़ा ठूँसकर किया सामूहिक दुष्कर्म, 8 घंटे तक दी...

राजस्थान के अजमेर में एक युवती के साथ सामूहिक बलात्कार की घटना सामने आई है। आरोपित टीपू सुल्तान पर अपने दो साथियों के साथ इस घटना को अंजाम देने का आरोप है।

बलरामपुर: दलित लड़की के साथ सामूहिक बलात्कार, लड़की की मौत, शाहिद और साहिल गिरफ्तार

अनुसूचित जाति की एक युवती के साथ शाहिद और साहिल द्वारा सामूहिक बलात्कार की घटना सामने आई है। युवती की अस्पताल में मौत हो गई।

#RebuildBabri: सोशल मीडिया पोस्ट के जरिए मुस्लिमों को बरगलाने की कोशिश, पोस्टर के जरिए बाबरी ढाँचे के पुनर्निर्माण का आह्वान

अदालत ने बुधवार को बाबरी विध्वंस मामले में सभी 32 आरोपितों को बरी कर दिया। वहीं इस फैसले से बौखलाए मुस्लिमों ने सोशल मीडिया पर लोगों से बाबरी ढाँचे के पुनर्निर्माण का आह्वान किया है।
00:48:35

हाथरस केस में पुलिस पर सवाल उठना लाजमी: अजीत भारती का वीडियो | Ajeet Bharti on Hathras Case

भयावहता को दर्शाने के लिए जीभ काटने, रीढ़ की हड्डी तोड़ने, आँख फोड़ने की बात कही गई। ये भी कहा गया कि आरोपित सवर्ण है, इसलिए पुलिस छेड़छाड़ का मामला बताकर रफा-दफा करने की कोशिश कर रही है।

इलाज के लिए अमित शाह के न्यूयॉर्क जाने, उनके बीमार होने के वायरल दावों की क्या है सच्चाई, पढ़ें पूरी डिटेल

सोशल मीडिया पर गृह मंत्री अमित शाह को इलाज के लिए न्यूयॉर्क शिफ्ट करने की बात पूरी तरह से गलत है। इसके इतर, उनका स्वास्थ्य बिल्कुल ठीक है। उन्होंने आज मंत्रालय और पार्टी दोनों ही कामों में हिस्सा लिया है।

कॉन्ग्रेस के दबाव में झुकी उद्धव सरकार: महाराष्ट्र में नया कृषि कानून लागू करने का आदेश लिया वापस

कॉन्ग्रेस की तरफ से कैबिनेट बैठक के बहिष्कार की धमकी के बाद महाराष्ट्र की उद्धव सरकार ने बुधवार को नए कृषि कानून लागू करने का अगस्त महीने में दिया अपना आदेश वापस ले लिया है।

अतीक अहमद के करीबी राशिद, कम्मो और जाबिर के आलीशान बंगलों पर चला योगी सरकार का बुलडोजर, करोड़ो की संपत्ति खाक

प्रशासन ने अब अतीक गैंग के खास रहे तीन गुर्गों राशिद, कम्मो और जाबिर के अवैध आलीशान मकानों को जमींदोज कर दिया। यह सभी मकान प्रयागराज के बेली इलाके में स्थित थे।

हमसे जुड़ें

267,758FansLike
78,083FollowersFollow
326,000SubscribersSubscribe