Tuesday, May 21, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाकश्मीरी पंडित को आतंकियों ने गोली मारी, दवा की दुकान चलाते हैं बाल कृष्ण:...

कश्मीरी पंडित को आतंकियों ने गोली मारी, दवा की दुकान चलाते हैं बाल कृष्ण: J&K में 24 घंटे में 4 हमले

24 घंटों के भीतर कश्मीर में आतंकियों का यह चौथा हमला था। इससे पहले आतंकियों ने बिहार के दो मजदूरों को गोली मार दी थी।

जम्मू-कश्मीर के शोपियाँ जिले में आतंकवादियों ने सोमवार (4 अप्रैल 2022) को एक कश्मीरी पंडित पर फायरिंग की। इस घटना में कश्मीरी पंडित गंभीर रूप से घायल हो गए। श्रीनगर के आर्मी अस्पताल में उन्हें भर्ती कराया गया है। घटना की जानकारी मिलते ही सुरक्षाबल इलाके में पहुँचे और नाकाबंदी कर सर्च ऑपरेशन शुरू कर दी।

घायल कश्मीरी पंडित का नाम बाल कृष्ण है। वह दक्षिण कश्मीर के शोपियाँ जिले के चोटीगाम के रहने वाले हैं। इस जानलेवा हमले में उन्हें तीन गोलियाँ लगी है। उनके हाथ और पैर में चोटें आई हैं। वे गाँव में ही दवा की दुकान चलाते हैं।

बता दें कि 24 घंटों के भीतर कश्मीर में आतंकियों का यह चौथा हमला था। इससे पहले आतंकी हमलों में गैर कश्मीरी मजदूरों को निशाना बनाया गया। पुलवामा में सोमवार दोपहर को आतंकियों ने दो गैर कश्मीरी मजदूरों पर हमला किया था। इस हमले में दोनों मजदूर घायल हो गए। उनकी पहचान बिहार निवासी पातालश्वर कुमार और जोको चौधरी के रूप में हुई है। 

वहीं श्रीनगर के मैसूमा इलाके में आतंकवादियों ने सीआरपीएफ जवानों पर गोली चलाई, जिसमें एक जवान वीरगति को प्राप्त हो गया और एक अन्य जवान घायल हो गया। इलाके की घेराबंदी कर हमलावरों के लिए तलाशी अभियान शुरू किया गया।

यह आतंकी घटना ऐसे समय में हुई हैं, जब घाटी में पर्यटन में तेजी देखी जा रही है। घाटी में रोजाना हजारों की संख्या में सैलानी आ रहे हैं। 28 मार्च 2022 को घाटी में पर्यटकों को लेने और छोड़ने के लिए रिकॉर्ड 90 फ्लाइट्स का इस्तेमाल किया गया था। इससे पहले आतंकवादियों ने पंजाब के मजदूरों को अपना निशाना बनाया था। पुलवामा के नौपोरा गाँव में एक ड्राइवर और हेल्पर को गोली मार कर घायल कर दिया था। दोनों पंजाब के पठानकोट के निवासी थे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ से लड़ रही लालू की बेटी, वहाँ यूँ ही नहीं हुई हिंसा: रामचरितमानस को गाली और ‘ठाकुर का कुआँ’ से ही शुरू हो...

रामचरितमानस विवाद और 'ठाकुर का कुआँ' विवाद से उपजी जातीय घृणा ने लालू यादव की बेटी के क्षेत्र में जंगलराज की यादों को ताज़ा कर दिया है।

निजी प्रतिशोध के लिए हो रहा SC/ST एक्ट का इस्तेमाल: जानिए इलाहाबाद हाई कोर्ट को क्यों करनी पड़ी ये टिप्पणी, रद्द किया केस

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने एक मामले की सुनवाई करते हुए SC/ST Act के झूठे आरोपों पर चिंता जताई है और इसे कानून प्रक्रिया का दुरुपयोग माना है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -