Wednesday, December 8, 2021
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाहरामी नाले से दाखिल हो सकते हैं पाकिस्तानी 'कमांडो', खुफिया इनपुट के बाद हाई...

हरामी नाले से दाखिल हो सकते हैं पाकिस्तानी ‘कमांडो’, खुफिया इनपुट के बाद हाई अलर्ट जारी

पाकिस्तान के अंडरवाटर कॉम्बेट अब समुद्र के ज़रिए आतंकी वारदात को अंजाम दे सकते हैं। पाकिस्तानी कमांडो के संबंध में ख़ुफ़िया सूचना है कि वो पानी के अंदर हमला करने में माहिर हैं और हरामी नाले से होते हुए वे बंदरगाह के साथ जहाजों को भी निशाना बना सकते हैं।

भारत के ख़िलाफ़ पाकिस्तान हर रोज़ नए षणयंत्र रच रहा है। अब नौसेना को इंटेलीजेंस ब्यूरो (IB) ने गुरुवार (29 अगस्त) को अलर्ट जारी किया है। अलर्ट के मुताबिक पाकिस्तान के अंडरवाटर कॉम्बेट (पानी के अंदर युद्ध) में प्रशिक्षित कमांडो अब समुद्र के ज़रिए आतंकी वारदात को अंजाम दे सकते हैं। पाकिस्तानी कमांडो के संबंध में ख़ुफ़िया सूचना है कि वो पानी के अंदर हमला करने में माहिर हैं और बंदरगाह के साथ जहाजों को भी निशाना बना सकते हैं। दूसरी आशंका है कि कच्छ के रण में सरक्रीक के हरामी नाले के सहारे पाक‍िस्तानी कमांडो घुसपैठ कर सकते हैं।

बता दें कि भारत और पाकिस्‍तान से लगे सरक्रीक में हरामी नाला है। हालाँकि, यह आम लोगों के लिए प्रतिबंधित है। इस क्षेत्र में 8 किमी लंबा खतरनाक दलदल है और यह वाटर चैनल करीब 500 वर्ग किमी में फैला हुआ है। कुछ वर्षों से इस इलाके में पाकिस्तानी मछुआरे अक्सर जल सीमा का उल्‍लंघन करते रहे हैं।

गुजरात में पूर्वी कच्छ के डेप्युटी एसपी डीएस वाघेला ने बताया कि उन्हें राज्य सरकार से एक आतंकी ख़तरे के बारे में सूचना प्राप्त हुई है। संपूर्ण कच्छ ज़िला हाई अलर्ट पर है, सभी लैंडिंग पोर्ट पर सुरक्षा की व्यवस्था की गई है।

ख़बर के अनुसार, इस ख़ुफ़िया सूचना के मिलने बाद कांदला बंदरगाह पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। IB सूत्रों के हवाले से न्यूज़ एजेंसी ANI ने बताया कि ख़ुफ़िया एजेंसी की यह रिपोर्ट है कि पाकिस्तान के प्रशिक्षित एसएसजी कमांडों या फिर आतंकी गल्फ खाड़ी या सरक्रीक इलाक़े से छोटे नावों के ज़रिए घुसपैठ कर सकते हैं, बीएसएफ और भारतीय तटरक्षक बलों और अन्य सुरक्षा एजेंसियों को अलर्ट कर दिया गया है। इसके अलावा, निगरानी रखने के लिए इलाक़े में पेट्रोलिंग बढ़ा दी गई है। 

इससे पहले, सोमवार (26 अगस्त) को ही नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह ने कहा था कि पाकिस्तान के आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद की एक समुद्री शाखा लोगों को हमले करने के लिए प्रशिक्षित कर रही है, लेकिन भारतीय नौसेना इस तरह के हर प्रयास को मुँहतोड़ जवाब देने में सक्षम है।

एडमिरल सिंह ने जानकारी दी कि लश्कर द्वारा समुद्री रास्तों के जरिए आतंकी हमले की योजना बनाए जाने की ख़ुफ़िया सूचना मिली है। बता दें कि 26/11 मुंबई हमले के दौरान भी आतंकियों ने भारत में घुसने के लिए समुद्री रास्तों का ही उपयोग किया था। इसके बाद भारत ने समुद्री मार्गों व तटीय इलाक़ों में सुरक्षा के लिए विशेष योजनाएँ तैयार की।

एडमिरल सिंह ने कहा था कि तटवर्ती पुलिस और नौसेना मिल कर यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि समुद्र के द्वारा भारत में घुसपैठ की हर कोशिश नाकाम साबित हो। हाल ही में मध्य प्रदेश और राजस्थान में आईएसआई समर्थित आतंकियों के घुसने की ख़बर आई थी, जिसके बाद इन राज्यों की पुलिस को हाई अलर्ट पर रखा गया। तमिलनाडु में कई लोगों को हिरासत में भी लिया गया।

ग़ौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद-370 को निरस्त किए जाने के बाद से ही पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। इसलिए वो भारत को लगातार युद्ध की धमकी दे रहा है। भारत-पाकिस्तान के बीच इस तनावपूर्ण स्थिति में पाकिस्तान ने गुरुवार (29 अगस्त) को अपनी मध्यम दूरी की सतह से सतह में मार करने वाली बैलिस्टिक  मिसाइल गजनवी का भी परीक्षण किया है, जिसकी रेंज 290 किलोमीटर है। पाकिस्तान की ओर से आतंकियों की घुसपैठ की लगातार कोशिशें जारी है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कोरोना काल में ₹42 लाख का क्रिकेट मैच… खिलाड़ी झारखंड के ‘माननीय’ MLA लोग, मैन ऑफ द मैच खुद CM सोरेन

कोरोना महामारी के दौरान 42 लाख रुपए का क्रिकेट मैच खेल लिया झारखंड के विधायकों ने। मैन ऑफ द मैच खुद बने मुख्यमंत्री सोरेन।

‘वसीम रिजवी का सिर कलम करने वाले को 25 लाख रुपए का इनाम’: कॉन्ग्रेस नेता ने खुलेआम किया दोबारा ऐलान

कॉन्ग्रेस विधायक राशिद खान ने मंगलवार को कहा कि वह शिया वक्‍फ बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष वसीम रिजवी का सिर काटने वाले को 25 लाख रुपए का इनाम देने की बात पर अभी भी कायम हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
142,284FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe