Thursday, January 27, 2022
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षादिल्ली सहित कई शहरों को दहलाने की फ़िराक में जैश आतंकी, सेब के बाग...

दिल्ली सहित कई शहरों को दहलाने की फ़िराक में जैश आतंकी, सेब के बाग में ऐसे बनाई गई तबाही की योजना

ख़ुफ़िया एजेंसियों ने आतंकवादियों की बातचीत के जो कोड इंटरसेप्ट किए हैं, उनमें ‘दिवाली के पटाखे’, ‘कश्मीर सेबों की दिल्ली में सप्लाई’ जैसी बातें शामिल थीं। गृह मंत्रालय में उच्च पदस्थ सूत्रों ने कहा कि दिल्ली और मुंबई में सभी प्रमुख एयरपोर्ट, बंदरगाह, प्रमुख प्रतिष्ठानों एवं सरकारी कार्यालयों पर सुरक्षा सख़्त कर दी गई है।

जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा ख़त्म होने के बाद से ही पाकिस्तान बुरी तरह से बौखलाया हुआ है। इसी के मद्देनज़र वो भारत में किसी आतंकी गतिविधि को अंजाम देने की फ़िराक में है। नवभारत टाइम्स ने बेहद विश्वसनीय सूत्रों का हवाला देकर अपनी ख़बर में लिखा है कि क़रीब एक दर्जन आतंकी राजधानी दिल्ली में मौजूद हैं। पाक अधिकृत कश्मीर (PoK) में बैठे आतंकी सरगनाओं ने जैश के तीन-चार प्रशिक्षित ग्रुप को बड़ी वारदात को अंजाम देने के लिए ‘करो या मरो’ का टास्क देकर दिल्ली, कश्मीर और पंजाब भेजा है।

ख़बर के अनुसार, ख़ुफ़िया एजेंसियों ने आतंकवादियों की बातचीत के जो कोड इंटरसेप्ट किए हैं, उनमें ‘दिवाली के पटाखे’, ‘कश्मीरी सेबों की दिल्ली में सप्लाई’ जैसी बातें शामिल थीं। गृह मंत्रालय में उच्च पदस्थ सूत्रों ने कहा कि दिल्ली और मुंबई में सभी प्रमुख एयरपोर्ट, बंदरगाह, प्रमुख प्रतिष्ठानों एवं सरकारी कार्यालयों पर सुरक्षा सख़्त कर दी गई है। ख़बर है कि पंजाब में सितंबर के महीने में ड्रोन के ज़रिए हथियार गिराए जाने के बाद पंजाब और जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा एजेंसियों को पहले ही सतर्क किया जा चुका है।

दिल्ली में आतंकी गतिविधि को अंजाम देने के लिए गुप्त योजना पाँच दिन पहले क़रीब 900 किलोमीटर दूर कश्मीर में सेब के बाग में तैयार हुई। इसका खाका आतंकी संगठन जैश के जम्मू-कश्मीर कमांडर अबु उस्मान ने तैयार किया और इस गुप्त योजना को नाम दिया ‘डी’। कश्मीर के बांदीपुरा ज़िले में सेब के बाग में पाँच दिन पहले पाकिस्तान के प्रशिक्षित आतंकवादियों की सीक्रेट मीटिंग हुई। 

इस मीटिंग में अबु उस्मान ने दावा किया कि हमारे भाई इन जगहों पर पहले ही पहुँच चुके हैं। इस मीटिंग में एक पाकिस्तानी और दो कश्मीरी आतंकी मौजूद थे। अबु उस्मान के पास एक स्नाइपर राइफल थी, जबकि बाकी तीन आतंकियों के पास एके-47, पिस्टल और हैंड ग्रेनेड मौजूद थे। इस इनपुट को जम्मू-कश्मीर पुलिस, सीआरपीएफ, बीएसएफ और दिल्ली पुलिस के साथ शेयर किया गया है।

अलर्ट मिलने के बाद सुरक्षा बढ़ाने के आदेश जारी किए गए हैं और खुफ़िया जानकारी जुटाने के आदेश जारी कर दिए गए हैं। अलर्ट मिलने के बाद स्पेशल सेल ने दिल्ली में कई इलाक़ों में सर्च अभियान चलाया था। सभी ज़िला डीसीपी, एसपी, एसएचओ को आगाह किया गया। इसके अलावा, उत्तर भारत के सभी एयरपोर्ट पर हाईअलर्ट कर दिया गया है। 

ग़ौरतलब है कि दिल्ली में जैश के 4 आतंकी मौजूद होने की ख़बर सामने आई थी। ख़ुफ़िया एजेंसी ने ख़ुद इसके बारे ख़ुलासा किया था। यह भी पता चला था कि इन आतंकवादियों के पास आधुनिक हथियार हैं और ये किसी बड़े हमले को अंजाम देने की फ़िराक में हैं।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘योगी जैसा मुख्यमंत्री मुलायम सिंह और अखिलेश भी नहीं रहे’: सपा के खिलाफ प्रचार पर बोलीं अपर्णा यादव- ‘पार्टी जो कहेगी करूँगी’

अपर्णा यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ करते हुए कहा कि उन्हें मेरा समाजसेवा का काम दिखा था, जबकि अखिलेश यह नहीं देख पाए।

धर्मांतरण के दबाव से मर गई लावण्या, अब पर्दा डाल रही मीडिया: न्यूज मिनट ने पूछा- केवल एक वीडियो में ही कन्वर्जन की बात...

लावण्या की आत्महत्या पर द न्यूज मिनट कहता है कि वॉर्डन ने अधिक काम दे दिया था, जिससे लावण्या पढ़ाई में पिछड़ गई थी और उसने ऐसा किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
153,876FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe