कमलेश तिवारी हत्याकांड: महमूदाबाद में धारा 144, सोशल मीडिया पुलिस ने बढ़ा दी निगरानी

प्रशासन ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मों की निगरानी भी बढ़ा दी है, ताकि सोशल मीडिया के इस्तेमाल से हिंसा भड़काने की कोशिशों पर लगाम लगाई जा सके।

हिन्दू महासभा के नेता कमलेश तिवारी की उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में हुई हत्या के बाद सीतापुर जिले में स्थित उनके गृह नगर महमूदाबाद में स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। स्थिति पर नियंत्रण बनाए रखने के लिए क्षेत्र में कल (सोमवार, 22 अक्टूबर, 2019) से धारा 144 की निषेधाज्ञा लागू कर दी गई है। ऐसा करने का आदेश डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट द्वारा दिया गया है। प्रशासन ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मों की निगरानी भी बढ़ा दी है, ताकि सोशल मीडिया के इस्तेमाल से हिंसा भड़काने की कोशिशों पर लगाम लगाई जा सके। गौरतलब है कि हिन्दू महासभा के कमलेश तिवारी की हत्या गत शुक्रवार (18 अक्टूबर, 2019) को उनके ही कार्यालय में कर दी गई थी।

प्रशासन क्षेत्र में साम्प्रदायिक तनाव की संभावना को लेकर चिंतित है। परसों (रविवार, 20 अक्टूबर, 2019 को) डासना देवी मंदिर के महंत यति नरसिंहानंद सरस्वती ने भड़काऊ, उकसाने वाला भाषण दिया था। पुलिस के अनुसार सरस्वती ने महमूदाबाद में कमलेश तिवारी के परिवार से मिलने के बाद भड़काऊ भाषण दिया था, और इससे मुस्लिम समुदाय के खिलाफ उनके भाषण से नफ़रत भड़क उठी थी। महंत और उनके शिष्यों के खिलाफ पुलिस ने इस ‘हेट स्पीच’ के लिए मुकदमा दर्ज कर लिया है।

मीडिया सूत्रों के मुताबिक कमलेश तिवारी की हत्या से उपजी परिस्थिति के अलावा त्यौहारी मौसम भी पुलिस द्वारा निगरानी बढ़ाए जाने का कारण है। धारा 144 लागू किए जाने के अलावा पुलिस ने क्षेत्र की फोटो या वीडियो मीडिया द्वारा लिए जाने पर भी प्रतिबंध लगा दिया है।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

सीतापुर के जिला मजिस्ट्रेट (डीएम) अखिलेश तिवारी ने मीडिया से बातचीत में कहा कि स्थानीय मीडिया को क्षेत्र में आने से रोक दिया गया है। ऐसा करने के पीछे सुरक्षा कारण हैं। उन्होंने यह भी जोड़ा कि हालाँकि, प्रशासन मीडिया की आज़ादी का सम्मान भी बहुत करता है, लेकिन इस समय सबसे महत्वपूर्ण चीज़ कमलेश तिवारी के परिवार की सुरक्षा का ध्यान रखना है। जिले के पुलिस अधीक्षक (SP) एल आर कुमार ने कहा कि महमूदाबाद कस्बे की स्थिति हाल फ़िलहाल में सामान्य है, और पुलिस हालात की निगरानी बहुत ध्यान से कर रही है। उन्होंने यह भी बताया कि डासना मंदिर के पुजारी और उनके समर्थकों पर भड़काऊ भाषण के लिए मुकदमा दर्ज कर लिया गया है, और सोशल मीडिया की भी निगरानी बहुत कठोरता के साथ की जा रही है।

इन सभी के बीच कमलेश तिवारी की पार्टी हिंदू महासभा ने उनको मरणोपरांत ‘हिन्दूरत्न’ सम्मान से नवाज़े जाने की घोषणा की है। इसके अलावा हिन्दू महासभा के लखनऊ ऑफ़िस के सामने तिवारी का प्रतिमा लगाई जाएगी।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

सोनिया गाँधी
शिवसेना हिन्दुत्व के एजेंडे से पीछे हटने को तैयार है फिर भी सोनिया दुविधा में हैं। शिवसेना को समर्थन पर कॉन्ग्रेस के भीतर भी मतभेद है। ऐसे में एनसीपी सुप्रीमो के साथ उनकी आज की बैठक निर्णायक साबित हो सकती है।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

114,514फैंसलाइक करें
23,114फॉलोवर्सफॉलो करें
121,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: