Sunday, April 14, 2024
Homeसोशल ट्रेंडराहुल गाँधी के वैष्णो देवी यात्रा पर भड़के लोग, कहा- 'मस्जिद-मजारों पर नजर आने...

राहुल गाँधी के वैष्णो देवी यात्रा पर भड़के लोग, कहा- ‘मस्जिद-मजारों पर नजर आने वाले को अब हर चुनाव से पहले मंदिर जाना पड़ता है’

"मोदी और योगी जी ने सब कुछ बदलकर रख दिया है। राहुल गाँधी माता वैष्णव देवी के दर्शन को गए हैं, प्रियंका गाँधी अयोध्या जा रही हैं, मायावती अपने मंच से हर हर महादेव का नारा लगा रही हैं और टीपू सुल्तान के चहक अखिलेश यादव मथुरा में मंदिर बनाने की घोषणा कर रहे हैं। हमारा वोट सार्थक हुआ।"

अनुच्छेद 370 के निरस्त होने के बाद कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेता व सांसद राहुल गाँधी गुरुवार (सितंबर 9, 2021) से जम्मू के दो दिवसीय दौरे पर पहुँच चुके हैं। वह जम्मू पहुँच कर सबसे पहले माँ वैष्णो के दर्शन के लिए रवाना हुए। उनके यात्रा मार्ग पर जाने का एक वीडियो वायरल है, जहाँ माता वैष्णो देवी के जयकारों की गूँज है। 

राहुल गाँधी के इस दौरे को लेकर सोशल मीडिया पर लोग तरह-तरह की प्रतिक्रियाएँ दे रहे हैं। एक यूजर ने लिखा, “मन्दिर नहीं बनाएँगे लेकिन हिन्दू लोग को उल्लू बनाने के लिए चुनाव के नजदीक आने पर मन्दिर जाकर नाटक बाजी करेंगे। कौवा दूध से नहाएगा तो भी सफेद नहीं बनने वाला।”

विनय कुमार त्रिपाठी लिखते हैं, “कहीं किसी हिंदू प्रदेश में चुनाव आने वाले है, सावधान ये नक़ली लोग मंदिर नहीं बनाने वाले हैं।”

लेहरीलाल नाम के यूजर ने लिखा, “मोदी और योगी जी ने सब कुछ बदलकर रख दिया है। राहुल गाँधी माता वैष्णव देवी के दर्शन को गए हैं, प्रियंका गाँधी अयोध्या जा रही हैं, मायावती अपने मंच से हर हर महादेव का नारा लगा रही हैं और टीपू सुल्तान के चहक अखिलेश यादव मथुरा में मंदिर बनाने की घोषणा कर रहे हैं। हमारा वोट सार्थक हुआ।”

एक यूजर ने लिखा, “पहले जो सिर्फ मस्जिद-मजारों पर ही नजर आते थे उन्हें अब हर चुनाव से पहले हिंदूओं को रिझाने के लिए मंदिर-मंदिर घूमना पड़ रहा है। मोदी है तो मुमकिन है।”

जीतू पाल ने लिखा, “राहुल जी कहते थे मंदिरों में तो लोग लड़की छेड़ने जाते हैं। अब क्या राहुल जी आपने भी लड़की छेड़ी या नहीं।”

एक अन्य ने लिखा, “मंदिर में लोग लड़कियाँ छेड़ने जाते है यह बयान देने वाला जनेऊ धारी फर्जी ब्राह्मण आज मंदिर घूम रहा है। यह आदमी स्वार्थ के लिए कोई भी रोल कर लेता है।” गौतलब है कि कॉन्ग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गॉंधी भी कह चुके हैं कि मंदिर जाने वाले लोग ही छेड़खानी करते हैं। 

चंद्रभूषण श्रीवास्तव लिखते हैं, “दर्शन नहीं ड्रामा है, इनका मकसद सिर्फ कैमरे में आना है।”

अरुण सिंह ने लिखा, “आखिर राहुल जी के किसी भी कदम को कोई भी सीरियसली क्यो नहीं लेता, इतना तो बढिया नाटक कर रहे है मंदिर जाने का लेकिन फिर जनता इनको एक समझदार नेता नहीं मानती। बंगाल के पंडाल पर, यूपी के काँवड़ पर, जगन्ननाथ पुरी की यात्रा पर भी अगर बोलते तो शायद सच लगता।”

उल्लेखनीय है कि चुनाव के समय में कॉन्ग्रेस पार्टी का हिंदू धर्म के प्रति आस्था उमड़-उमड़ कर सामने आती रहती है। वे विभिन्न मंदिरों और धार्मिक स्थलों पर मत्था टेकते नजर आते हैं। पिछले कई वर्षों में इस तरह के शॉर्टकट ही कॉन्ग्रेस की वर्तमान राजनीतिक सोच को परिभाषित करते रहे हैं।

पिछले दिनों केरल की पूर्व स्वास्थ्य मंत्री शैलजा टीचर ने कॉन्ग्रेस पार्टी पर ‘सॉफ्ट हिन्दुत्व’ के जरिए देश को बर्बाद करने का आरोप लगाया। केके शैलजा ने इंदिरा गाँधी और राजीव गाँधी के समय को याद किया और उसी के आधार पर राहुल गाँधी पर भी आरोप लगाया।

सीपीआईएम नेता शैलजा टीचर ने कहा कि गाँधी मंदिर-मंदिर घूमते हैं, यहाँ तक कि शिव मंदिर भी। जबकि उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए क्योंकि भारत एक ‘सेक्युलर’ देश है। शैलजा ने इसे नौटंकी बताया और केरल की प्रदेश कॉन्ग्रेस से यह अपेक्षा की कि वह सेक्युलर केरल बनाए रखने के लिए यह सब नौटंकी नहीं करेगी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

BJP की तीसरी बार ‘पूर्ण बहुमत की सरकार’: ‘राम मंदिर और मोदी की गारंटी’ सबसे बड़ा फैक्टर, पीएम का आभामंडल बरकार, सर्वे में कहीं...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में बीजेपी तीसरी बार पूर्ण बहुमत की सरकार बनाती दिख रही है। नए सर्वे में भी कुछ ऐसे ही आँकड़े निकलकर सामने आए हैं।

‘राष्ट्रपति आदिवासी हैं, इसलिए राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा में नहीं बुलाया’: लोकसभा चुनाव 2024 में राहुल गाँधी ने फिर किया झूठा दावा

राष्ट्रपति मुर्मू को राम मंदिर ट्रस्ट का प्रतिनिधित्व करने वाले एक प्रतिनिधिमंडल ने अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा समारोह में शामिल होने के लिए औपचारिक रूप से आमंत्रित किया गया था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe