Tuesday, October 19, 2021
Homeसोशल ट्रेंड'कहाँ है वेदों में शिव?' देवदत्त 'नालायक' ने जब यह पूछा तो वेद का...

‘कहाँ है वेदों में शिव?’ देवदत्त ‘नालायक’ ने जब यह पूछा तो वेद का उदाहरण दे लोगों ने रगड़ दिया

हिंदुत्व/हिन्दू धर्म का सबसे प्रचलित मंत्र "ॐ नमः शिवाय" भी कृष्ण यजुर्वेद के अंश श्री रुद्र चमकम् से ही लिया गया है।

ट्विटर पर फ़िलहाल जिन लोगों को सबसे ज्यादा ‘अच्छे दिन’ की दरकार है, उनमें देवदत्त पटनायक का नाम चोटी में शुमार होना चाहिए। आजकल वे जो भी ट्वीट कर रहे हैं, वह बर्र के छत्ते की तरह उन्हें महँगा ही पड़ता जा रहा है। वे चाहे राखीगढ़ी में आर्य-आक्रमण-सिद्धांत की कब्र खुद जाने के बाद भी उसकी पैरवी कर रहे हों, या किसी के माँ-बाप को याद कर रहे हों, सारे दाँव उलटे ही पड़ रहे हैं।

इन्हीं ‘उलटफेरों’ की शृंखला में उनका वह ट्वीट भी है, जिसमें पटनायक दावा करते हैं कि वेदों में कहीं भगवान शिव का ज़िक्र ही नहीं है। और कुछ ही देर में भारतीय इतिहास के बारे में ट्वीट करने वाला मशहूर ट्विटर हैंडल ‘true Indology’ उन्हें पलट कर जवाब में वह वैदिक ऋचा बता देता है, जिसमें भगवान शिव को उनके अन्य नामों शम्भु, शंकर, पशुपति के अलावा “शिव” नाम से भी नमस्कार किया गया है।

यही नहीं, हिंदुत्व/हिन्दू धर्म का सबसे प्रचलित मंत्र “ॐ नमः शिवाय” भी कृष्ण यजुर्वेद के ही अंश श्री रुद्र चमकम् से ही लिया गया है।

बदज़ुबानी के चलते बन चुके हैं ‘नालायक’

हालाँकि देवदत्त को उनके घरवालों का दिया हुआ उपनाम तो पटनायक है, लेकिन आजकल ट्विटर पर अपनी हरकतों और बदज़ुबानी के चलते वह ‘देवदत्त नालायक’ के नाम से अधिक जाने जा रहे हैं।

दरअसल एक ट्विटर यूजर ने पटनायक को आइना दिखाते हुए उनके द्वारा की गई आपत्तिनजक टिप्पणियों का स्क्रीनशॉट ट्वीट किया और उनसे जवाब माँगा। ट्विटर यूजर ने लिखा कि अगर आपकी माँ आज ज़िंदा होतीं तो आपकी हरकतों के कारण अपना सिर शर्म से झुका लेतीं।

इसका जवाब देते हुए देवदत्त पटनायक ने अजीबोगरीब भाषा का इस्तेमाल किया। उन्होंने लिखा कि उन्होंने आज ही अपनी माँ (जो मर चुकी हैं) से बात की है और वह बिलकुल खुश हैं। साथ ही उन्होंने दावा किया कि उनके सभी पूर्वज स्वर्ग में हैं और हँसी-ख़ुशी हैं। उन्होंने ट्विटर ट्विटर यूजर को लिखा कि तुम्हारे सारे पूर्वक नरक में बिलख-बिलख कर रो रहे हैं।

सवाल पूछने वालों से लगातार दुर्व्यवहार करने और उनके ख़िलाफ़ आपत्तिजनक टिप्पणियाँ करने के लिए कुख्यात देवदत्त पटनायक को लोगों ने उनकी ताज़ा हरकत के बाद ‘देवदत्त नालायक’ और ‘देवदत्त खलनायक’ जैसे विशेषणों से नवाजा है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बांग्लादेश का नया नाम जिहादिस्तान, हिन्दुओं के दो गाँव जल गए… बाँसुरी बजा रहीं शेख हसीना’: तस्लीमा नसरीन ने साधा निशाना

तस्लीमा नसरीन ने बांग्लादेश में हिंदुओं पर कट्टरपंथी इस्लामियों द्वारा किए जा रहे हमले पर प्रधानमंत्री शेख हसीना पर निशाना साधा है।

पीरगंज में 66 हिन्दुओं के घरों को क्षतिग्रस्त किया और 20 को आग के हवाले, खेत-खलिहान भी ख़ाक: बांग्लादेश के मंत्री ने झाड़ा पल्ला

एक फेसबुक पोस्ट के माध्यम से अफवाह फैल गई कि गाँव के एक युवा हिंदू व्यक्ति ने इस्लाम मजहब का अपमान किया है, जिसके बाद वहाँ एकतरफा दंगे शुरू हो गए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,820FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe