Sunday, July 14, 2024
Homeसोशल ट्रेंडआतंकी भिंडरावाले को 'शहीद' बताने पर हरभजन सिंह ने माँगी माफी, कहा- हड़बडी में...

आतंकी भिंडरावाले को ‘शहीद’ बताने पर हरभजन सिंह ने माँगी माफी, कहा- हड़बडी में व्हाट्सएप फॉरवर्ड शेयर कर दिया था

"मैं एक सिख हूँ, जो भारत के लिए लड़ेगा न कि भारत के खिलाफ। मैंने राष्ट्र की भावनाओं को आहत किया, इसके लिए यह मेरी बिना शर्त माफी है। वास्तव में मैं अपने लोगों के खिलाफ किसी भी राष्ट्र विरोधी समूह का समर्थन नहीं करता और ना ही कभी करूँगा।''

खालिस्तानी आतंकी जरनैल सिंह भिंडरावाले का महिमामंडन करने के कारण चौतरफा घिरे पूर्व टेस्ट क्रिकेटर हरभजन सिंह ने माफी माँग ली है। भिंडरावाले को दी श्रद्धांजलि को व्हाट्सएप फॉरवर्ड बताते हुए कहा है कि हड़बड़ी में बिना समझे शेयर कर दिया था। खुद को देश के लिए लड़ने वाला सिख बताते हुए देशवासियों की भावनाएँ आहत करने के लिए बिना शर्त माफी माँगी है

हरभजन ने भिंडरावाले को ‘शहीद’ बताते हुए इंस्टाग्राम  स्टोरी में उसकी एक तस्वीर साझा कर, ‘प्रणाम शहीदा नू’ लिखा था। अब इसके लिए उन्होंने ट्विटर के जरिए माफी माँगी है। अपने पोस्ट में कहा है कि वह भारत विरोधी या अपने देशवासियों के खिलाफ किसी भी चीज का समर्थन नहीं करते हैं।

उन्होंने कहा, ”मैं कल (6 जून 2021) के एक इंस्टाग्राम पोस्ट के लिए अपना स्पष्टीकरण देना चाहता हूँ और माफी माँगना चाहता हूँ। यह एक व्हाट्सएप फॉरवर्ड था, जिसे मैंने बिना सोचे-समझे जल्दबाजी में पोस्ट कर दिया, जो यह दर्शाता है कि मैं भी इनके साथ खड़ा हूँ। यह मेरी गलती थी, जिसे मैं स्वीकार करता हूँ और किसी भी मंच पर मैं उस पोस्ट पर लिखे विचारों और उन लोगों का समर्थन नहीं करता जिनकी तस्वीरें उसमें थीं। मैं एक सिख हूँ, जो भारत के लिए लड़ेगा न कि भारत के खिलाफ। मैंने राष्ट्र की भावनाओं को आहत किया, इसके लिए यह मेरी बिना शर्त माफी है। वास्तव में मैं अपने लोगों के खिलाफ किसी भी राष्ट्र विरोधी समूह का समर्थन नहीं करता और ना ही कभी करूँगा।”

हरभजन ने लिखा, ”मैंने 20 साल तक इस देश के लिए अपना खून-पसीना बहाया है। मैं कभी भी भारत विरोधी किसी भी चीज का समर्थन नहीं करूँगा।”

बता दें कि रविवार (6 जून 2021) को ऑपरेशन ब्लू स्टार की 37वीं बरसी पर हरभजन सिंह ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट से एक स्टोरी शेयर की थी। इसमें लिखा था, “सम्मान के साथ जीना और धर्म के लिए मरना। 1 जून से 6 जून 1984 को सचखंड श्री हरिमंदर साहिब पर शहीद होने वाले सिंह-सिंहनियों की शहादत को प्रणाम।”

उनकी इस हरकत के बाद वह ट्विटर पर ट्रेंड होने लगे और लोग उनसे सवाल करने लगे कि जिस भिंडरावाले ने तमाम हिंदुओं को मारा क्या वह शहीद है? तस्वीर में भी देख सकते हैं कि भिंडरावाले एकदम हीरो की तरह सेंटर में नीली पगड़ी में है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -