Tuesday, September 28, 2021
Homeसोशल ट्रेंडकौन है 'जार्वो 69', जो भारत-इंग्लैंड टेस्ट क्रिकेट सीरीज के दौरान दो बार पिच...

कौन है ‘जार्वो 69’, जो भारत-इंग्लैंड टेस्ट क्रिकेट सीरीज के दौरान दो बार पिच पर आकर आए चर्चा में: ‘Trollstation’ पर ऐसे कई वीडियो

एक ट्वीट में प्रैंकस्टार ने पुष्टि की थी, "हाँ, मैं जार्वो हूँ, जो पिच पर गया था। मुझे भारत के लिए खेलने वाला पहला श्वेत व्यक्ति होने पर गर्व है।" इस दौरान डेनियल जार्विस भारतीय जर्सी के साथ पोज देते नजर आए।

भारत और इंग्लैंड के बीच तीसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन यानी शुक्रवार (27 अगस्त) को सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा के आउट होने के बाद क्रिकेटिंग गियर पहने ‘जार्वो 69’ सबको चकमा देते हुए हेडिंग्ले क्रिकेट मैदान में घुस गया। हालाँकि, उसे तुरंत सुरक्षाकर्मियों ने मैदान से बाहर निकाल दिया। इससे पहले वह दोनों टीमों के बीच दूसरे टेस्ट मैच के चौथे दिन के खेल के दौरान लार्ड्स मैदान में घुसा था। दरअसल, ‘जार्वो 69’ कोई भारतीय क्रिकेटर नहीं है और ना ही उसका क्रिकेट से दूर दूर तक कोई नाता है। बल्कि वह तो एक Serial Prankster है, जो इंग्लैंड के केंट काउंटी के ग्रेवेसेंड शहर का रहने वाला है।

शायद ही कोई ‘डेनियल जार्विस’ को उसके असली नाम से जानता होगा। वह दूसरे टेस्ट मैच के दौरान एक इंडियन फिल्डर के रूप में लॉर्ड्स क्रिकेट मैदान में घुसने के बाद सुर्खियों में आया है। उनकी भारतीय जर्सी का नाम ‘जार्वो 69’ था। वह दोनों टीमों के बीच दूसरे टेस्ट के चौथे दिन के खेल के दौरान लार्ड्स मैदान में घुसा था और भारतीय टीम के लिए क्षेत्ररक्षकों को सजाने जैसा नाटक कर रहा था। उसकी इस हरकत पर मोहम्मद सिराज और रविंद्र जडेजा भी अपनी हँसी नहीं रोक पाए थे। एक श्वेत क्रिकेट प्रशंसक के लिए न केवल पिच पर घुसना, बल्कि क्षेत्ररक्षकों की तरह दिखने का नाटक करना बेहद चौंकाने वाला दृश्य था। पहचान में आने के बाद जार्विस को सुरक्षाकर्मियों ने मैदान से तुरंत हटाया।

एक ट्वीट में प्रैंकस्टार ने पुष्टि की थी, “हाँ, मैं जार्वो हूँ, जो पिच पर गया था। मुझे भारत के लिए खेलने वाला पहला श्वेत व्यक्ति होने पर गर्व है।” इस दौरान डेनियल जार्विस भारतीय जर्सी के साथ पोज देते नजर आए।

डेनियल जार्विस के ट्वीट का स्क्रीनग्रैब

पिच पर दूसरी बार घुसे

शुक्रवार (27 अगस्त) को वह एक बार फिर भारतीय क्रिकेटर बनकर पोज दे रहे थे। इस बार वह एक हेलमेट, पैड, मास्क और एक बल्ले के साथ थे। जार्विस भीड़ के बीच से निकल आए थे। इसके बाद सुरक्षा अधिकारियों ने उन्हें स्टेडियम से बाहर निकाला। सोशल मीडिया पर कई वीडियो सामने आए हैं, जिसमें दिखाया गया है कि ‘जार्वो 69’ किस तरह से स्टंट करने में कामयाब रहा।

बाद में सीरियल प्रैंकस्टार ने ट्विटर पर कहा, “हाँ, यह मैं फिर से उर्फ जार्वो उर्फ जार्वो 69 था। इंग्लैंड और भारत के बीच टेस्ट क्रिकेट मैच का पूरा वीडियो बहुत जल्द मेरे यूट्यूब चैनल पर होगा।”

डेनियल जार्विस के ट्वीट का स्क्रीनग्रैब

‘जार्वो 69’ और सुरक्षा प्रोटोकॉल में चूक

डेनियल जार्विस की हरकतें यहीं नहीं रुकीं। उन्होंने अपने आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर एक वीडियो शेयर किया, जिसमें प्रैंकस्टार को क्रिकेट के मैदान के बीच में ‘Trespass‘ नाम का एक तंबू लगाते हुए देखा गया था। इसके बाद सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें वहाँ से भी हटा दिया। हालाँकि, ‘जार्वो 69’ बिना किसी गलत इरादे के ऐसे स्टंट करते हैं, लेकिन ऐसा करके उन्होंने अंतरराष्ट्रीय मैचों में कड़े सुरक्षा प्रोटोकॉल की खामियों के बारे में सवाल उठाए हैं। पिच पर क्रिकेटरों की सुरक्षा को लेकर भी चिंता जताई गई है।

(Video Courtesy: Youtube/BMWJarvo)

शुक्रवार को दूसरी बार पिच पर घुसने के बाद क्रिकेटर आरएस अश्विन ने ‘जार्विस’ को अपने ऑन-फील्ड मज़ाक को दोहराने से रोकने के लिए कहा। ट्वीट कर स्पिनर ने कमेंट भी किया।

आरएस अश्विन के ट्वीट का स्क्रीनग्रैब

इससे पहले भी डेनियल जार्विस कई खेल आयोजनों के दौरान जबरन घुस चुके हैं। 2015 में डाइविंग वर्ल्ड सीरीज़ के दौरान, उन्होंने लंदन के एक्वेटिक्स सेंटर में सुरक्षा घेरे को पार कर उसमें घुस गए थे। उन्होंने अपने यूट्यूब चैनल पर एक वीडियो साझा किया है, जिसमें जार्विस को पोल में जाने से पहले अपने कपड़े उतारते हुए देखा गया था। घटना का वीडियो मूल रूप से उनके ‘Trollstation’ नाम के यूट्यूब चैनल पर पोस्ट किया गया था। उस समय जार्विस की उम्र 26 साल थी।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महंत नरेंद्र गिरि के मौत के दिन बंद थे कमरे के सामने लगे 15 CCTV कैमरे, सुबूत मिटाने की आशंका: रिपोर्ट्स

पूरा मठ सीसीटीवी की निगरानी में है। यहाँ 43 कैमरे लगाए गए हैं। इनमें से 15 सीसीटीवी कैमरे पहली मंजिल पर महंत नरेंद्र गिरि के कमरे के सामने लगाए गए हैं।

अवैध कब्जे हटाने के लिए नैतिक बल जुटाना सरकारों और उनके नेतृत्व के लिए चुनौती: CM योगी और हिमंता ने पेश की मिसाल

तुष्टिकरण का परिणाम यह है कि देश के बहुत बड़े हिस्से पर अवैध कब्जा हो गया है और उसे हटाना केवल सरकारों के लिए कानून व्यवस्था की चुनौती नहीं बल्कि राष्ट्रीय सभ्यता के लिए भी चुनौती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,823FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe