Thursday, September 23, 2021
Homeसोशल ट्रेंड'जोर से लैटरीन लगा था... लगा कि हो जाएगा, गिर जाएगा....' - 'गंजी-जांघिया-लैटरीन' पर...

‘जोर से लैटरीन लगा था… लगा कि हो जाएगा, गिर जाएगा….’ – ‘गंजी-जांघिया-लैटरीन’ पर JDU विधायक गोपाल मंडल

विधायक गोपाल मंडल ने महिला रिपोर्टर को अपने जंघिया की लंबाई भी दिखाई और कहा - "हम गमछा पहन नहीं पाए... लगा कि लैटरीन हो जाएगा... हम जल्दी से लैटरीन से आए, तब मिजाज फ्रेश हुआ।”

बिहार के जेडीयू विधायक गोपाल मंडल की तेजस राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन में अंडरवियर के साथ तस्वीर वायरल होने के बाद विवाद गहराता जा रहा है। आरोप है कि चलती ट्रेन में उनकी इस हरकत पर आपत्ति जताने वाले एक यात्री से उन्‍होंने गाली-गलौज तक कर डाली। हालात बिगड़ने पर RPF को हस्‍तक्षेप करना पड़ा था। जेडीयू विधायक ने मामले में सफाई दी है। उन्होंने मामले में एबीपी न्यूज से बात करते हुए सभी आरोपों को खारिज कर दिया और ऐसा करने के पीछे की वजह बताई।

आपत्तिजनक फोटो वायरल होने के आरोप पर उन्होंने कहा, “मेरी उम्र साठ वर्ष है। अपने डेरे में हम 2-4 बार लैटरीन गए, फिर स्टेशन पर वेटिंग रूम में लैटरीन गए। फिर लैटरीन लगा हुआ था, हम चढ़ गए। यहाँ चढ़ते ही लैटरीन लग गया। यहाँ आते ही हम कुर्ता-पायजामा खोले और गमछी कंधा पर रखे, लेकिन पहन नहीं पाए, लगा कि लैटरीन हो जाएगा, गिर जाएगा, फिर दिक्कत हो जाएगी।” 

वो आगे कहते हैं, “हम तेजी से निकल रहे थे। बगल वाले ने पूछा- कहाँ जा रहे हैं आप? मैंने कहा कि लैटरीन जा रहे हैं, तो उसने कहा कि इस वेश में नहीं जा सकते। मैंने पूछा क्यों, तो उसने बोला कि पहले आप कपड़ा पहनिए। हम अगर कपड़ा पहनते तो हमको लैटरीन हो जाता।”

इस दौरान विधायक ने महिला रिपोर्टर को अपने जंघिया की लंबाई भी दिखाई। जब रिपोर्ट ने उनसे अर्धनग्न अवस्था के बारे में सवाल किया तो उनका जवाब बेहद ही हास्यास्पद था। उन्होंने जंघिया की लंबाई दिखाते हुए कहा, “ये देखिए, हमारा जंघिया यहाँ तक है। हम फुल जंघिया पहनते हैं। उसको शॉर्ट पैंट माना जाता है। हम उसी जंघिया और बनियान में जा रहे थे। इधर कोई भी नहीं था। सिर्फ एक व्यक्ति ने हमें टोका।”

महिलाओं के असहज होने के बारे में सवाल करने पर उन्होंने कहा, “यहाँ कोई महिला नहीं थी और हमको इतना जोर से लैटरीन लगा था कि कुछ याद ही नहीं रहा, लगा कि हो जाएगा, हम दौड़ते हुए जा रहे थे। रोक कर उन्होंने डिस्टर्ब किया। लैटरीन से वापस लौट कर हमने पूछा कि बोलिए बाबू। उसी समय मेरा फोटो और वीडियो लिया गया। हमने पूछा कि बोलिए बाबू क्या दिक्कत है? आप कौन हैं तो उसने कहा- आम यात्री। मैंने कहा कि आम यात्री होकर ऐसे क्यों डिस्टर्ब करते हैं। हम एमएलए हैं। हम किसी कष्ट में हैं। हम लोगों को शिक्षा-दीक्षा देते हैं। हम ऐसी वेश-भूषा में जाते। यही हुआ मैडम कि हम गमछा पहन नहीं पाए, हम जल्दी से लैटरीन से आए, तब मिजाज फ्रेश हुआ।”

टोकने पर धमकाने और गाली-गलौज के आरोप पर विधायक ने कहा, “हम किसी को नहीं धमकाए, सिर्फ उससे ऐसा बोले कि आप ऐसा क्यों किए? उसी पर बकवास करने लगा। वहाँ पर कोई आम पब्लिक नहीं था। फिर उधर से पुलिस आई और उन्होंने बयान लिया। यह सब आरोप झूठा है। अगर हम उसे मारने की धमकी देते, गोली मारते तो एफआईआर करता मेरे ऊपर। बात को बतंगड़ बनाया गया है मैडम। हम सुलझे हुए हैं मैडम। हम चौथा बार एमएलए बने हैं। 60 साल हमारा उम्र है। हम गलत कर ही नहीं सकते हैं।”

वहीं ट्रेन में सफर कर रहे एक अन्य व्यक्ति से जब इस वाकया के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा, “विधायक जी आए और उन्होंने जल्दी से कपड़ा उतारा और बाथरूम की तरफ भागे। मुझे लगता है कि उन्हें ख्याल भी नहीं रहा कि वह ट्रेन में सफर कर रहे हैं। इस दौरान एक यात्री बिना मतलब उलझ गया। वह बदतमीजी से बात करने लगा। विधायक ने बोला कि तुम्हें नहीं पता कि मैं कौन हूँ, मेरी उम्र तो देखो। तो उसने कहा कि उम्र क्या देखें, आप नंगा घूम रहे हैं। उन्होंने कहा कि मैं नंगा नहीं घूम रहा हूँ। मैंने इतनी बड़ी चड्डी पहनी है। बनियान पहना है। गमछा लेने जा रहा हूँ। वह उनसे बेवजह का उलझ रहा था।”

इससे पहले जेडीयू विधायक गोपाल मंडल ने समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए कहा था, “वास्तव में मैं अंडरवियर और बनियान में था, क्योंकि जैसे ही मैं ट्रेन चढ़ा और कुछ दूर गया तो मेरा पेट खराब था। मैं जो बोलता हूँ सत्य बोलता हूँ। झूठ मैं बोलता नहीं हूँ।”

उल्लेखनीय है कि राजेंद्र नगर (पटना) से नई दिल्ली जा रही तेजस राजधानी एक्सप्रेस में जेडीयू के विधायक गोपाल मंडल की यह हरकत सामने आई। जब कपड़े उतारकर वो चलती ट्रेन में घूम रहे थे। गंजी और अंडरवियर पहनकर टहल रहे थे। गोपाल मंडल के गंजी-जांघिया में देखकर कोच में मौजूद दूसरे पैसेंजर ने कड़ी आपत्ति जताई। जिसके बाद चलती ट्रेन में कोच के अंदर जमकर हंगामा हुआ।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

इस्लामी कट्टरपंथ से डरा मेनस्ट्रीम मीडिया: जिस तस्वीर पर NDTV को पड़ी गाली, वह HT ने किस ‘दहशत’ में हटाई

इस्लामी कट्टरपंथ से डरा हुआ मेन स्ट्रीम मीडिया! ऐसा हम नहीं कह रहे बल्कि हिंदुस्तान टाइम्स ने ऐसा एक बार फिर खुद को साबित किया। जब कोरोना से सम्बंधित तमिलनाडु की एक खबर में वही तस्वीर लगाकर हटा बैठा।

गले पर V का निशान, चलता पंखा… महंत नरेंद्र गिरि के ‘सुसाइड’ पर कई सवाल, CBI जाँच को योगी सरकार तैयार

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष रहे महंत नरेंद्र गिरि की मौत के मामले की CBI जाँच कराने की सिफारिश की है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,886FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe