Thursday, June 13, 2024
Homeसोशल ट्रेंडमहिला से लेकर 7 साल के बच्चे तक... कोहली के फैन्स सब को माँ-बहन...

महिला से लेकर 7 साल के बच्चे तक… कोहली के फैन्स सब को माँ-बहन की गालियाँ दे रहे सोशल मीडिया पर

कोहली की आलोचना करने पर उनके फैन्स ने सोशल मीडिया पर माँ-बहन की गाली देनी शुरू कर दी। एक यूजर के 7 साल के बच्चे को विराट कोहली की नाजायज औलाद तक बता दिया गया और कुछ गालियाँ इतनी भद्दी हैं कि उसे लिखा भी नहीं जा सकता।

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विरोट कोहली के ट्वीट से असहमत होने पर एक ट्विटर यूजर को भारी आलोचना का सामना करना पड़ा। कोहली के फैंस ने न केवल ट्विटर यूजर गप्पिस्तान रेडियो (Gappistan Radio) को जमकर गालियाँ दी, बल्कि उनके 7 साल के बेटे को भी घसीटा। नतीजा यह हुआ कि अपने 7 वर्षीय बेटे को लेकर की जी रही भद्दी गालियों से आहत और परेशान पिता ने हमेशा के लिए ट्विटर छोड़ दिया।

ट्विटर यूजर गप्पिस्तान रेडियो (Gappistan Radio) के अलावा कोहली की आलोचना करने वाली महिलाओं तक को सोशल मीडिया पर भद्दी-भद्दी गालियों का सामना करना पड़ा। शरण्या शेट्टी ने स्क्रीनशॉट शेयर करके कोहली के फैन्स द्वारा की जी रही ज्यादतियों को उजागर किया है।

Gappistan Radio ने इससे जुड़ा स्क्रीनशॉट शेयर किया है। दरअसल यूजर ने इंस्टाग्राम पर अपने 7 साल के बेटे की तस्वीर पोस्ट की थी। यूजर द्वारा कोहली के ट्वीट पर असहमति जताने के बाद विराट कोहली के फैंस ने उनके (यूजर) बेटे की तस्वीर पर बेहद ही घटिया और भद्दी गालियाँ दी हैं। उन्होंने माँ-बहन की गाली देते हुए बच्चे को विराट कोहली की नाजायज औलाद तक बता दिया और कुछ गालियाँ इतनी भद्दी हैं कि उसे लिखा नहीं जा सकता।

Virat Kohli fans abuse Twitter user Gappistan Radio
गप्पिस्तान रेडियो के बेटे को दी जाने वाली भद्दी गालियों का स्क्रीनशॉट

गप्पिस्तान रेडियो ने यह भी कहा कि भारतीय क्रिकेटर का एक फैन उन्हें उनके बेटे की तस्वीरें भी भेज रहा था, जो कि खतरे की बात है।

Virat Kohli fans abuse Twitter user Gappistan Radio
साभार: Twitter

ट्विटर यूजर ने कहा कि विराट कोहली के फैंस से मिल रही गालियों के कारण उन्हें इंस्टाग्राम पर अपना अकाउंट डिसेबल करना पड़ा।

Virat Kohli fans abuse Twitter user Gappistan Radio
साभार: Twitter

इतना ही नहीं, गप्पिस्तान रेडियो ने इसके बाद ट्विटर को भी अलविदा कह दिया। उन्होंने कहा कि वह अपने और अपने बेटे के खिलाफ टारगेटेड हमलों के कारण ट्विटर छोड़ रहे हैं। उन्होंने कहा “मैं सब कुछ बर्दाश्त कर सकता हूँ लेकिन अपने बेटे पर किए गए हमले को बर्दाश्त नहीं कर सकता।”

Virat Kohli fans abuse Twitter user Gappistan Radio
साभार: Twitter

गौरतलब है कि भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने तेज़ गेंदबाज मोहम्मद शमी को कथित रूप से ट्रोल किए जाने को लेकर अपना विरोध दर्ज कराया था। उन्होंने ऐसे लोगों को ‘रीढ़विहीन’ बताते हुए कहा कि उनके लिए किसी का मजाक बनाना मनोरंजन का जरिया हो गया है। उन्होंने कहा कि ये प्रकरण हतोत्साहित करने वाला है।

इसी ट्वीट के बाद गप्पिस्तान ने असहमति जताते हुए कहा था, “कोहली ने शमी को गाली देने की निंदा की, जबकि यह देखा गया कि किसी भी भारतीय ने शमी को गाली नहीं दी। यह पाकिस्तानी हैंडलों की साजिश थी। यह भारतीय टीम ईमानदार होने के लिए बकवास कर सकती है। उम्मीद है कि केन विलियमसन कल इस दर्दनाक टूर्नामेंट का अंत करेंगे।”

Image
गप्पिस्तान रेडियो का ट्वीट (साभार: Twitter)

बता दें कि T20 विश्व कप में पाकिस्तान के हाथों भारत की 10 विकेट से हार के बाद मोहम्मद शमी को ‘मुस्लिम होने के कारण ट्रोल किए जाने’ का नैरेटिव चलाया गया था। शमी को निशाना बनाने वाले ज्यादातर ट्वीट्स पाकिस्तान के थे। ऐसा सामने आया है कि ये पाकिस्तान की सोशल मीडिया हैंडलों द्वारा रची गई साजिश थी। यह भारत को नीचा दिखाने की उनकी एक चाल थी। 

शमी की आलोचना करने वाले ट्वीट्स उतने विजिबल नहीं थे और दूसरों की तरह चुनिंदा पेजों तक ही सीमित थे लेकिन शमी की आलोचना पर हमला करने वाले चुनिंदा ट्वीट्स की ज्यादा विजिबिलिटी थी। यह अभी भी कई लोगों के लिए एक रहस्य है क्योंकि कहीं भी शमी विरोधी ट्वीट या सोशल मीडिया पोस्ट दिखाई नहीं दे रहे थे। मतलब, कुछ ही हैंडल थे, जो शमी के खिलाफ अभद्र टिप्पणियों में लिप्त थे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कश्मीर समस्या का इजरायल जैसा समाधान’ वाले आनंद रंगनाथन का JNU में पुतला दहन प्लान: कश्मीरी हिंदू संगठन ने JNUSU को भेजा कानूनी नोटिस

जेएनयू के प्रोफेसर और राजनीतिक विश्लेषक आनंद रंगनाथन ने कश्मीर समस्या को सुलझाने के लिए 'इजरायल जैसे समाधान' की बात कही थी, जिसके बाद से वो लगातार इस्लामिक कट्टरपंथियों के निशाने पर हैं।

शादीशुदा महिला ने ‘यादव’ बता गैर-मर्द से 5 साल तक बनाए शारीरिक संबंध, फिर SC/ST एक्ट और रेप का किया केस: हाई कोर्ट ने...

इलाहाबाद हाई कोर्ट में जस्टिस राहुल चतुर्वेदी और जस्टिस नंद प्रभा शुक्ला की बेंच ने इस मामले की सुनवाई करते हुए कहा कि सबूत पेश करने की जिम्मेदारी सिर्फ आरोपित का ही नहीं है, बल्कि शिकायतकर्ता का भी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -