Sunday, December 6, 2020

विषय

भगवा आतंकवाद

‘भगवाकरण’ से परेशान मोदी-शाह ने लिया ऐतिहासिक निर्णय: इंद्रधनुष, तिरंगे से हटाया जाएगा भगवा

गुप्त सूत्रों ने बताया है कि अब से विमल गुटखा अपने विज्ञापनों में 'जुबाँ हरी हरी' कहेंगे। साथ ही, राजस्थानियों का 'केसरिया बालम' अब 'हरिया बालम' या 'करिया बालम' के नाम से पधारने को कहा जाएगा। नारंगी के फलों को पकने से पहले ही तोड़ लिया जाएगा ताकि वो बाहर से हरे और भीतर से सफेद ही दिखें और देश की सेकुलर फैब्रिक टाइट बनी रहे।

भीड़ की हर कार्रवाई को ‘भगवा आतंक’ से जोड़ती मीडिया: जब पुलिस का ही न्याय से उठ गया था भरोसा!

अगर मारे गए किसी "समुदाय विशेष" के परिवार को मिले सरकारी मुआवजे को देखें और उसकी तुलना भीड़ द्वारा मार दिए गए डॉ नारंग, रिक्शाचालक रविन्द्र जैसी दिल्ली में हुई घटनाओं से करें तो ये अंतर खुलकर सामने आ जाता है।

सेना से सबूत माँगने वाले जब हेमंत करकरे के लिए बिलबिलाते हैं तो क्यूट लगते हैं

आपको सेना के जवानों से सबूत माँगते वक्त लज्जा नहीं आई, आपको एयर स्ट्राइक पर यह कहते शर्म नहीं आई कि वहाँ हमारी वायु सेना ने पेड़ के पत्ते और टहनियाँ तोड़ीं, आपको बटला हाउस एनकाउंटर वाले अफसर पर कीचड़ उछालते हुए हया नहीं आई, लेकिन किसी पीड़िता के निजी अनुभव सुनकर आपको मिर्ची लगी कि ये जो बोल रही है, वो तो पूरी पुलिस की वर्दी पर सवाल कर रही है।

रवीश जी, साध्वी प्रज्ञा पर प्राइम टाइम में आपकी नग्नता चमकती हुई बाहर आ गई (भाग 4)

रवीश एक घोर साम्प्रदायिक और घृणा में डूबे व्यक्ति हैं जो आज भी स्टूडियो में बैठकर मजहबी उन्माद बेचते रहते हैं। साम्प्रदायिक हैं इसलिए उन्हें मजहबी व्यक्ति की रिहाई पर रुलाई आती है, और हिन्दू साध्वी के चुनाव लड़ने पर यह याद आता है कि भाजपा नफ़रत का संदेश बाँट रही है।

जिस साध्वी को ‘हिन्दू आतंकी’ कह कर टॉर्चर किया, वही बनीं कॉन्ग्रेस की सबसे बड़ी चुनौती

9 वर्षों तक जेल के सलाखों के पीछे रह चुकीं साध्वी प्रज्ञा सिंह ने जब अपनी आपबीती सुनाई तो अच्छे-अच्छों के रोंगटे खड़े हो गए। जब उन्होंने मीडिया के सामने आकर बताया कि उन्हें अपना 'अपराध' मानने के लिए किस तरह से टॉर्चर किया गया, तो सुननेवाले भी काँप उठे।

स्वामी असीमानंद और कर्नल पुरोहित के बहाने: ‘सैफ्रन टेरर’ की याद में

कल दो घटनाएँ हुईं, और दोनों ही पर मीडिया का एक गिरोह चुप है। अगर यही बात उल्टी हो जाती तो अभी तक चुनावों के मौसम में होली की पूर्व संध्या पर देश को बताया जा रहा होता कि भगवा आतंकवाद कैसे काम करता है। चैनलों पर एनिमेशन और नाट्य रूपांतरण के ज़रिए बताया जाता कि कैसे एक हिन्दू ने ट्रेन में बम रखे और समुदाय विशेष को अपनी घृणा का शिकार बनाया।

असीमानंद समझौता केस में बरी, ‘भगवा आतंक’ चिल्लाने वालों के लिए तमाचा

यूपीए सरकार और जाँच एजेंसियों ने ‘हिन्दू आतंकवादियों’ को दोषी ठहराते पर धमाका करने का आरोप लगाया था। अदालत ने आरोप को नकार असीमानंद को रिहा किया।

ताज़ा ख़बरें

असम: टेरर फंडिंग के आरोपित AIUDF प्रमुख बदरुद्दीन अजमल द्वारा संचालित ‘अजमल फाउंडेशन’ के खिलाफ FIR

ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (AIUDF) के प्रमुख बदरुद्दीन अजमल द्वारा संचालित 'अजमल फाउंडेशन' के खिलाफ असम के दिसपुर पुलिस स्टेशन में शुक्रवार को मामला दर्ज किया गया है।

‘गुपकार गैंग के पास जब सत्ता थी तो रिफ्यूज़ियों को वोट का अधिकार नहीं दिया, आज कहते हैं कोई तिरंगा नहीं उठाएगा’

"अरे उनसे पूछो, जिन्होंने हिन्दुस्तान को तब गले लगाया जब भारत का विभाजन हुआ और हिन्दुस्तान की धरती को चुना और रिफ्यूजी बनकर यहाँ आए। उनसे पूछो कि तिरंगे की शान क्या है।”

मुख्तार के करीबी जफर अब्बास व सादिक हुसैन जमीन के धाँधली के आरोप में यूपी पुलिस ने किया गिरफ्तार

पुलिस अधीक्षक डॉ. ओपी सिंह ने बताया कि दोनों आरोपितों की लंबे समय से तलाश थी। इन्हें गिरफ्तार कर चालान कर दिया गया है। बाकी आरोपितों की तलाश जारी है।

संजय राउत को डॉक्टरों ने दी कम बोलने की सलाह, कंगना रनौत को कहा था- ‘हरामखोर’

“डॉक्टरों ने मुझे कम बात करने और तनाव मुक्त जीवन जीने के लिए कहा है। मैं डॉक्टरों की बातों का पालन करूँगा और आशा करता हूँ कि मुझे फिर से अस्पताल नहीं जाना पड़ेगा।”

कर्नाटक के हसन जिले में गोहत्या करने वाले बूचड़खानों का खुलासा करने वाली महिला पत्रकार पर मुस्लिम भीड़ ने किया हमला

भीड़ ने न केवल पत्रकार के साथ दुर्व्यवहार किया बल्कि उसके साथ छेड़छाड़ की, साथ ही वहाँ से नहीं निकलने पर उसे गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी भी दी।

प्रचलित ख़बरें

‘जब इनकी माँ-बेटियाँ अहमद शाह दुर्रानी ले जाता तो उधर टके-टके की बिकती थी’: किसान आंदोलन में घृणा की खेती

"जिस सरकार की आप बात कर रहे हैं केंद्र की, आपको पता है कि ये कौन हैं? ये वही हैं, जो अपनी बेटियों की डोली हाथ जोड़ कर मुगलों के हवाले कर देते थे।"

जब नक्सलियों की ‘क्रांति के मार्ग’ में डिल्डो अपनी जगह बनाने लगता है तब हथियारों के साथ वाइब्रेटर भी पकड़ा जाता है

एक संघी ने कहा, "डिल्डो मिलने का मतलब वामपंथी न तो क्रांति कर पा रहे न वामपंथनों को संतुष्ट। कामपंथियों के बजाय रबर-यंत्र चुनने पर वामपंथनों को सलाम!"

आदिपुरुष में दिखाएँगे रावण का मानवीय पक्ष, सीता हरण को बताएँगे जायज: लंकेश का किरदार निभा रहे सैफ अली खान ने बताया

सैफ अली खान ने कहा है कि 'आदिपुरुष' में राम के साथ रावण द्वारा युद्ध किए जाने को सही साबित किया जाएगा।

‘ओ चमचे चल, तू जिनकी चाट के काम लेता है, मैं उनकी रोज बजाती हूँ’: कंगना और दिलजीत दोसांझ में ट्विटर पर छिड़ी जंग

कंगना ने दिलजीत को पालतू कहा, जिस पर दिलजीत ने कंगना से पूछा कि अगर काम करने से पालतू बनते हैं तो मालिकों की लिस्ट बहुत लंबी हो जाएगी।

अवॉर्ड वापसी का सीजन लौटा, किसानों की धमकी के बीच कंगना का सवाल- अभी का सिस्टम ठीक तो आत्महत्या को मजबूर क्यों?

आज केंद्र सरकार और किसानों के बीच 5वें राउंड की वार्ता होनी है। किसान संगठनों ने 8 दिसंबर को भारत बंद का ऐलान भी कर रखा है।

हमसे जुड़ें

272,571FansLike
80,569FollowersFollow
359,000SubscribersSubscribe