Monday, July 22, 2024
Homeविविध विषयधर्म और संस्कृतिमहाशिवरात्रि पर मुकेश अंबानी ने बेटे आकाश के साथ सोमनाथ के किए दर्शन, मंदिर...

महाशिवरात्रि पर मुकेश अंबानी ने बेटे आकाश के साथ सोमनाथ के किए दर्शन, मंदिर ट्रस्ट को दिए ₹1.51 करोड़

"मुकेश अंबानी और आकाश अंबानी परंपराओं का सम्मान करते हैं और हिंदू त्योहारों को उत्साह के साथ मनाते रहे हैं। उन्हें धार्मिक कार्य एवं धर्मार्थ दान करते हुए देखना बहुत अच्छा लगता है। जैसे कि सोमनाथ ट्रस्ट को उन्होंने बहुत बड़ा दान किया है।"

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) और उनके बेटे आकाश अंबानी महाशिवरात्रि के मौके पर गुजरात के सोमनाथ मंदिर (Somnath Mandir) पहुँचे। इस दौरान मुकेश अंबानी ने सोमनाथ मंदिर ट्रस्ट (Somnath Mandir Trust) को 1.51 करोड़ रुपए दान भी दिए। सोशल मीडिया पर मुकेश अंबानी और आकाश अंबानी की भगवान शिव की पूजा-अर्चना करते हुए तस्वीरें वायरल हो रही हैं। तस्वीरों में दोनों भगवान शिव का जलाभिषेक और प्रार्थना करते हुए दिखाई दे रहे हैं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, दोनों का स्वागत मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष पीके लाहिड़ी और सचिव योगेंद्रभाई देसाई ने किया। मंदिर के पुजारी ने सम्मान के तौर पर उन्हें चंदन का लेप लगाया और दुशाला ओढ़ाया। मुकेश अंबानी और आकाश अंबानी की सोमनाथ मंदिर में पूजा करने की तस्वीरें वायरल होने के बाद सभी उनकी तारीफ कर रहे हैं। काव्या पटेल लिखती हैं, “यही कारण है कि मेरे मन में इन लोगों के लिए इतना सम्मान है।”

एक अन्य ट्विटर यूजर ने लिखा, “मुकेश अंबानी और आकाश अंबानी परंपराओं का सम्मान करते हैं और हिंदू त्योहारों को उत्साह के साथ मनाते रहे हैं। उन्हें धार्मिक कार्य एवं धर्मार्थ दान करते हुए देखना बहुत अच्छा लगता है। जैसे कि सोमनाथ ट्रस्ट को उन्होंने बहुत बड़ा दान किया है।”

एक और यूजर ने लिखा कि हम उनके इस तरह से परोपकार करने की सराहना करते हैं।

12 ज्योतिर्लिंगों में से एक सोमनाथ मंदिर

सोमनाथ मंदिर भारत के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है। यह अरब सागर तट पर वेरावल के प्राचीन बंदरगाह के निकट स्थित है। इस मंदिर को लेकर मान्यता है कि स्वयं चंद्रदेव ने इस शिवलिंग की स्थापना की थी। इसका नाम सोमनाथ होने का कारण यह बताया जाता है कि चंद्रमा का एक नाम सोम भी है। इसलिए इसका नाम सोमनाथ रखा गया। इसका उल्लेख स्कंदपुराण, श्रीमद्भागवत गीता, शिवपुराणम आदि प्राचीन ग्रंथों में भी किया गया है। यह मंदिर तीन भागों में विभाजित है। इसका शिखर 150 फुट ऊँचा है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आम सैनिकों जैसी ड्यूटी, सेम वर्दी, भारतीय सेना में शामिल हो चुके हैं 1 लाख अग्निवीर: आरक्षण और नौकरी भी

भारतीय सेना में शामिल अग्निवीरों की संख्या 1 लाख के पार हो गई है, 50 हजार अग्निवीरों की भर्ती की जा रही है।

भारत के ओलंपिक खिलाड़ियों को मिला BCCI का साथ, जय शाह ने किया ₹8.50 करोड़ मदद का ऐलान: पेरिस में पदकों का रिकॉर्ड तोड़ने...

बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने बताया कि ओलंपिक अभियान के लिए इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) को बीसीसीआई 8.5 करोड़ रुपए दे रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -