Wednesday, December 1, 2021
Homeविविध विषयमनोरंजनआर्यन खान को छोड़िए, संजय दत्त की ड्रग्स स्टोरी पढ़िए: आज 25 दिन में...

आर्यन खान को छोड़िए, संजय दत्त की ड्रग्स स्टोरी पढ़िए: आज 25 दिन में बेल-तब जेल में बीते थे 5 महीने, रिहैब सेंटर भी जाना पड़ा था

देखना दिलचस्प होगा कि जमानत के लिए वकीलों की फौज खड़ी करने वाले शाहरुख खान अपने बेटे के लिए आठवले की सलाह को कैसे लेते हैं। ऐसा करने वाले वे न पहले स्टार पिता होंगे और न आर्यन पहले स्टार किड।

क्रूज ड्रग्स केस में गिरफ्तार आर्यन खान को बॉम्बे हाई कोर्ट से 13 शर्तों पर जमानत मिली है। 2 अक्टूबर को क्रूज पर छापेमारी के बाद उन्हें नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने हिरासत में लिया था। कई घंटों की पूछताछ के बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया। निचली अदालतों में याचिका खारिज होने के बाद उन्होंने जमानत के लिए हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था।

आर्यन को जमानत मिलने के बाद बॉलीवुड में खुशी ​देखी जा रही है। इससे पहले ऐसे भी आरोप लगाए गए कि मुस्लिम पिता की संतान होने के कारण उन्हें निशाना बनाया जा रहा है। उनकी उम्र का हवाला देकर भी उन पर लगे आरोपों को कमतर साबित करने की कोशिश की गई। यहाँ तक कि इस मामले की जाँच कर रहे एनसीबी के ज्वाइंट डायरेक्टर समीर वानखेड़े के परिवार तक को इस पूरे विवाद में घसीटा गया।

इन सबके बीच आर्यन खान को लेकर एक सलाह केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले की ओर से भी आई। उन्होंने शाहरुख खान को अपने बेटे को नशामुक्ति केंद्र में भेजने की सलाह दी थी। अठावले ने कहा था, “उन्हें एक या दो महीने के लिए नशा मुक्ति केंद्र में भेज देना चाहिए, ताकि वो ड्रग्स की लत से छुटकारा पा सकें।”

वैसे ड्र्रग्स को लेकर संकट में आने वाले आर्यन खान पहले स्टार किड्स नहीं हैं। दिवंगत अभिनेता सुनील दत्त और अभिनेत्री नरगिस के बेटे संजय दत्त, जिनका अपने जीवन में कई बार कानून से पाला पड़ चुका है, भी कई दशक पहले इससे गुजर चुके हैं।

1982 में संजय दत्त को ड्रग्स के साथ पकड़ा गया

संजय दत्त 19-20 साल की उम्र में ही नशे के आदी हो गए थे। ड्रग्स की लत के कारण वह हमेशा विवादों में रहे। कई मौकों पर संजय ने अपने अनुभवों को खुद बयाँ भी किया है। साल 1982 में उन्हें ड्रग्स व अवैध नशाीले पदार्थों के साथ पकड़ा गया रगा। इसके लिए उन्होंने 5 महीने जेल में बिताए। रिहाई के बाद उन्होंने अमेरिका में दो साल बिताए। कहा जाता है कि इस दौरान उनका ज्यादातर समय टेक्सास के एक रिहैब सेंटर में बीता।

एक इंटरव्यू में संजय ने बताया था कि वह 12 सालों तक भयंकर रूप से ड्रग्स के शिकार रहे। दुनिया का ऐसा कोई ड्रग्स नहीं था, जो उन्होंने न लिया हो। संजय दत्त ने खुद मीडिया में बताया था कि पिता सुनील दत्त जब इलाज के लिए उन्हें अमेरिका लेकर गए तो डॉक्टर उन्हें देख बेहद हैरान हुए। डॉक्टर ने उनके पिता से पूछा, “आप भारत में किस तरह का खाना खाते हैं। ये सब ड्रग्स लेने के बाद अब तक जिंदा कैसे है।”

अब देखना दिलचस्प होगा कि जमानत के लिए वकीलों की फौज खड़ी करने वाले शाहरुख खान अपने बेटे के लिए आठवले की सलाह को कैसे लेते हैं। ऐसा करने वाले वे न पहले स्टार पिता होंगे और न आर्यन पहले स्टार किड।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कभी ज़िंदा जलाया, कभी काट कर टाँगा: ₹60000 करोड़ का नुकसान, हत्या-बलात्कार और हिंसा – ये सब देश को देकर जाएँगे ‘किसान’

'किसान आंदोलन' के कारण देश को 60,000 करोड़ रुपए का घाटा सहना पड़ा। हत्या और बलात्कार की घटनाएँ हुईं। आम लोगों को परेशानी झेलनी पड़ी।

बारबाडोस 400 साल बाद ब्रिटेन से अलग होकर बना 55वाँ गणतंत्र देश: महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का शासन पूरी तरह से खत्म

बारबाडोस को कैरिबियाई देशों का सबसे अमीर देश माना जाता है। यह 1966 में आजाद हो गया था, लेकिन तब से यहाँ क्वीन एलीजाबेथ का शासन चलता आ रहा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,742FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe