Saturday, July 24, 2021
Homeविविध विषयमनोरंजनसिर्फ एक साल में 937% बढ़ गया रिया चक्रवर्ती का फिक्स्ड एसेट्स: ED की...

सिर्फ एक साल में 937% बढ़ गया रिया चक्रवर्ती का फिक्स्ड एसेट्स: ED की पूछताछ के बाद ITR डिटेल्स से खुलासा

सुशांत सिंह राजपूत के परिवार की ओर से आरोप लगाया गया था कि सुशांत के बैंक अकाउंट में से 15 करोड़ रुपए निकले हैं। अब रिया चक्रवर्ती की ITR डिटेल्स खँगालने के बाद ED को यह पता लगाना है कि...

फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या मामले में उनकी गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती से लगातार पूछताछ चल रही है। प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने पहले शुक्रवार और फिर आज सोमवार (अगस्त 10, 2020) को रिया, उनके भाई, पिता और मैनेजर से पूछताछ की।

पूछताछ के दौरान जाँच एजेंसी को रिया की कमाई को लेकर कई अहम जानकारियाँ हाथ लगी हैं। रिया ने ईडी को ITR (Income Tax Return) सौंपा है।

वित्तीय वर्ष 2017-18, 2018-19 के ITR में रिया चक्रवर्ती की कमाई में अचानक इजाफा हो गया। ये आखिर कैसे हुआ? क्या था इनकम का सोर्स? इसके बारे फिलहाल कुछ भी पता नहीं चला है।

रिया की साल 2017-18  में सलाना कमाई 18.75 लाख रुपए थी जो कि साल 2018-19 में ये 18.23 लाख रुपए हो जाती है। रिया की साल 2017-18 में बाहर के सोर्स से होने वाली कमाई 1,27,625 होती है लेकिन अचानक ही साल 2018-19 में ये बढ़कर 2,38,334 हो जाती है। हालाँकि साल 2017-18 में सालाना सभी सोर्सेज से होने वाली नॉर्मल बिजेनस इनकम 17,57,442 से घटकर 16,04,936 हो जाती है।

एक और अहम बात रिया के ITR में दिखी है, जिसमें उनके फिक्स्ड एसेट्स साल 2017-18 में 96 हजार है जबकि साल 2018-19 में ये फिक्स्ड एसेट्स बढ़कर 9 लाख तक पहुँच जाते हैं। ये एक बड़ा मार्जिन है। रिया के शेयर होल्डर फंड साल 2017-18 में 34,05,727 है जबकि साल 2018-19 में ये शेयर होल्डर फंड्स 42,06,338 हो गए।

ईडी इसकी भी जाँच कर रही है कि रिया ने 2017-18 में 34 लाख रुपए के शेयर कहाँ से खरीदे, जबकि कमाई 18 लाख ही है। रिया का शेयर होल्डर फंड 2017-18 में 34 लाख से 2018-19 में 42 लाख तक पहुँच गया। यानी दो साल में शेयर की कीमत में 8 लाख की बढ़ोतरी हुई। ITR में 2017-2019 के बीच किसी बड़े ट्रांजेक्शन की जानकारी नहीं है। इसके अलावा HDFC बैंक, ICICI बैंक में उनकी एफडी की भी जाँच हो रही है।

गौरतलब है कि सुशांत सिंह राजपूत के परिवार की ओर से आरोप लगाया गया था कि सुशांत के बैंक अकाउंट में से 15 करोड़ रुपए निकले हैं। इसके अलावा भी कई और पैसों के लेन-देन की बात कही गई थी। इसी के बाद से ही ईडी ने इस पूरे मामले में पूछताछ तेज की है।

उल्लेखनीय है कि इससे पहले ईडी की पूछताछ में फर्जी शेल कंपनी का खुलासा हुआ था। जानकारी के मुताबिक जाँच में 10 करोड़ रुपए से ज्यादा का मामला सामने आया है। ईडी को शक है कि सुशांत के अकाउंट से जो पैसा ट्रांसफर हुआ है, वह फर्जी शेल कंपनी के जरिए किया गया। इन शेल कंपनियों का ताल्लुक रिया चक्रवर्ती और उनके भाई शोविक से बताया जा रहा है।

खबरों के मुताबिक 18 घंटे से भी ज्यादा समय तक चली पूछताछ के बावजूद ईडी, शोविक के जवाब से संतुष्ट नहीं हो सका। उन्होंने कई सवालों के गोलमोल जवाब दिए। वहीं रिया भी अपने और पिता के नाम पर रजिस्टर्ड दो फ्लैट्स के बारे में स्पष्ट रूप से जानकारी नहीं दे सकीं थीं। वो अपनी आय और खर्चों पर भी ठीक से जवाब नहीं दे पाई थी। इसलिए ईडी ने रिया को फिर से सोमवार को तलब किया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दैनिक भास्कर के ₹2,200 करोड़ के फर्जी लेनदेन की जाँच कर रहा है IT विभाग: 700 करोड़ की आय पर टैक्स चोरी का खुलासा

मीडिया समूह की तलाशी में छह वर्षों में ₹700 करोड़ की आय पर अवैतनिक कर, शेयर बाजार के नियमों का उल्लंघन और लिस्टेड कंपनियों से लाभ की हेराफेरी के आयकर विभाग को सबूत मिले हैं।

पेगासस विवाद के पीछे बीडीएस या कतर, वॉशिंगटन पोस्ट की संपादक ने भी फोन नम्बरों की पुष्टि से किया इनकार: एनएसओ सीईओ

स्पाइवेयर पेगासस के मालिक एनएसओ ग्रुप के सीईओ ने कहा, ''मौजूदा 'स्नूपगेट' विवाद के पीछे बीडीएस मूवमेंट या कतर का हाथ हो सकता है।''

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,047FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe