Saturday, September 26, 2020
Home विविध विषय मनोरंजन 'गदहे हैं ये लोग': शिकारा से कश्मीरी पंडितों के जख्म पर नमक रगड़ने वाला...

‘गदहे हैं ये लोग’: शिकारा से कश्मीरी पंडितों के जख्म पर नमक रगड़ने वाला चोपड़ा बौखलाया

लगता है कि बतौर निर्देशक लगातार तीसरी फ़िल्म फ्लॉप होने से विधु विनोद चोपड़ा बौखला गए हैं। वे चाहते हैं कि उन्होंने कश्मीरी पंडितों के दर्द को बेचा है, तो कोई सवाल न पूछे। वे शेखी बघार रहे हैं और सहानुभूति भी लूटना चाहते हैं।

बतौर निर्देशक अपनी लगातार तीन फ़िल्में फ्लॉप होने के बाद विधु विनोद चोपड़ा बौखला गए हैं। झूठे आँकड़ों के जरिए आलोचकों को चुप कराने में जुट गए हैं। उन्होंने अपनी फ़िल्में ‘3 इडियट्स’ और ‘शिकारा’ को लेकर झूठ बोला है। बता दें कि वो ‘3 इडियट्स’ से बतौर निर्माता जुड़े हुए थे। यहाँ सवाल उठता है कि आलोचकों पर निशाना साधने के लिए उन्होंने ख़ुद की निर्देशित की हुई फ़िल्मों का आँकड़ा क्यों नहीं दिया? क्या इसीलिए, क्योंकि इससे उनकी और भी बेइज्जती हो जाती? उनके आँकड़ों की सच्चाई जानेंगे लेकिन पहले पढ़िए कि उन्होंने आख़िर कहा क्या?

कश्मीरी पंडितों का दर्द दिखाने के नाम पर उन्होंने ‘शिकारा’ बनाई। लेकिन, फिल्म में मुसलमानों के अत्याचार को छिपा लिया गया और प्रेम-कहानी पर जोर दिया गया। चोपड़ा ने कहा कि कश्मीरी पंडित और मुसलमान एक-दूसरे से सॉरी कहें और आगे बढ़ें। अत्याचार कश्मीरी हिन्दुओं पर हुआ तो वो मुस्लिमों से सॉरी क्यों बोलें, इस सवाल पर चोपड़ा भड़क जाते हैं। तभी कश्मीरी पंडित व पत्रकार दिव्या राजदान ने ‘शिकारा’ के स्क्रीनिंग के दौरान विधु विनोद चोपड़ा को जोर से डाँटा। राजदान ने पूछा कि उन्होंने फिल्म में कश्मीरी पंडितों पर हुए अत्याचार को छिपाया क्यों?

अब निर्देशक-निर्माता विधु विनोद चोपड़ा में अपने आलोचकों को गदहा कहा है। उन्होंने कहा कि उनकी फ़िल्म ‘3 इडियट्स’ ने पहले ही दिन 33 करोड़ रुपए की कमाई की थी। उन्होंने दावा किया कि उन्हें पता था कि शिकारा का पहले दिन का बॉक्स ऑफिस कलेक्शन 30 लाख रुपया ही होगा। साथ ही उन्होंने ये भी दावा किया कि उन्होंने ये फ़िल्म अपनी माँ की याद में बनाई है। बकौल चोपड़ा, कुछ लोग कहते हैं कि उन्होंने कश्मीरी पंडितों का दर्द बेच कर रुपए कमाने के लिए ”शिकारा’ बनाई, वो सभी गदहे हैं। वैसे चोपड़ा अपने आलोचकों को गदहा तभी कह रहे हैं, जब उनके पास सवालों के कोई जवाब नहीं हैं।

अब आते हैं ‘3 इडियट्स’ के पहले दिन के कलेक्शन पर। फ़िल्म समीक्षक और बॉक्स ऑफिस विशेषज्ञ सुमित कादेल ने विधु विनोद चोपड़ा की पोल खोलते हुए बताया कि क्रिसमस 2009 के मौके पर रिलीज हुई अमित ख़ान अभिनीत फिल्म की पहले दिन की कमाई 12.78 करोड़ रुपए थी। हालाँकि, इसके बाद आई सलमान ख़ान की ‘दबंग’ ने 3 इडियट्स के ओपनिंग रिकॉर्ड तोड़ डाले थे। ‘3 इडियट्स’ के लगभग 1 साल बाद आई सुपरस्टार रजनीकांत की तमिल मूवी ‘एंथिरन (रोबोट)’ ने दोनों ही फ़िल्मों के सारे रिकार्ड्स को तोड़ डाला था। ऐसे में, चोपड़ा ने झूठ बोला कि उनकी फ़िल्म ने उस वक्त 33 करोड़ रुपए कमाए थे।

- विज्ञापन -

वहीं ‘शिकारा’ के बॉक्स ऑफिस कलेक्शन को लेकर भी विधु विनोद चोपड़ा सही नहीं बोल पाए। वरिष्ठ फ़िल्म समीक्षक व बॉक्स ऑफिस ट्रैकर तरन आदर्श के इस ट्वीट को देखिए, जिसमें उन्होंने रिलीज के एक दिन बाद ही बताया था कि ‘शिकारा’ ने पूरे भारत में 1.2 करोड़ रुपए की नेट कमाई की है:

इससे पता चलता है कि जहाँ अपने पुराने फ़िल्म की कमाई को ढाई गुना ज्यादा बता कर चोपड़ा अपने ताज़ा फिल्म की कमाई कम बता कर शेखी बघारने के साथ-साथ ही सहानुभूति भी बटोरना चाहते हैं। दरअसल, उन्होंने अपने द्वारा निर्देशित की गई फ़िल्मों का नाम इसीलिए नहीं लिया, क्योंकि उनकी पिछली तीनों फ़िल्में फ्लॉप रही हैं। अप्रैल 2015 में ‘Broken Horses’ के जरिए वो हॉलीवुड में पाँव पसारने चले थे लेकिन फ़िल्म 25 लाख रुपए के लिए भी तरस गई। इसे इतिहास की सबसे बड़ी फ्लॉप फ़िल्मों में रखा जाता है। चोपड़ा की बौखलाहट का कारण लगातार तीसरी फ़िल्म का फ्लॉप होना तो नहीं?

क्या राजकुमार हिरानी के निर्देशन के बिना विधु विनोद चोपड़ा की इतनी भी हैसियत नहीं कि वो एक फ़िल्म भी हिट करा सकें? ‘3 इडियट्स’, ‘मुन्नाभाई’ सीरीज, ‘पीके’ और ‘संजू’- इन सभी फ़िल्मों के निर्देशक हिरानी ही थे। विधु विनोद चोपड़ा ने ‘एकलव्य’ के लिए 2007 में निर्देशक की टोपी पहनी थी, जो बुरी तरह फ्लॉप रही। अमिताभ बच्चन, सैफ अली खान, संजय दत्त और जिमी शेरगिल जैसे सितारों के रहते भी उनकी फ़िल्म नहीं बच पाई और अब शिकारा के साथ फ्लॉप फिल्मों की उन्होंने हैट्रिक पूरी कर ली है।

‘कश्मीरी हिन्दुओं पर थूकने का काम करती है शिकारा फिल्म, उल्टे हिन्दुओं को ही कम्युनल कहती है’

मुसलमानों से किस बात की माफ़ी माँगें कश्मीरी हिन्दू? कि उनकी लड़कियों का गैंगरेप हुआ, निर्मम हत्या की गई?

सरला का गैंगरेप और शरीर को 3 हिस्सों में चीर सरे बाजार घुमाना… शिकारा के ‘शातिरों’ ने सब कुछ छुपाया

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘यही लोग संस्थानों की प्रतिष्ठा को ठेस पहुँचाने का मौका नहीं छोड़ते’: उमर खालिद के समर्थकों को पूर्व जजों ने लताड़ा

दिल्ली दंगों में उमर खालिद की गिरफ्तारी के बाद पुलिस और सरकारी की मंशा पर सवाल उठाने वाले लॉबी को पूर्व जजों ने लताड़ लगाई है।

‘मारो, काटो’: हिंदू परिवार पर हमला, 3 घंटे इस्लामी भीड़ ने चौथी के बच्चे के पोस्ट पर काटा बवाल

कानपुर के मकनपुर गाँव में मुस्लिम भीड़ ने एक हिंदू घर को निशाना बनाया। बुजुर्गों और महिलाओं को भी नहीं छोड़ा।

चीन ने शिनजियांग में 3 साल में 16000 मस्जिद ध्वस्त किए, 8500 का तो मलबा भी नहीं बचा

कई मस्जिदों को सार्वजनिक शौचालयों में बदल दिया गया। मौजूदा मस्जिदों में से 75% में ताला जड़ा है या आज उनमें कोई आता-जाता नहीं है।

‘मुझे सोफे पर धकेला, पैंट खोली और… ‘: पुलिस को बताई अनुराग कश्यप की सारी करतूत

अनुराग कश्यप ने कब, क्या और कैसे किया, यह सब कुछ पायल घोष ने पुलिस को दी शिकायत में विस्तार से बताया है।

ड्रग्स चैट वाले ग्रुप की एडमिन थी दीपिका पादुकोण, दो नंबरों का करती थी इस्तेमाल

ड्रग्स मामले में दीपिका पादुकोण से एनसीबी शनिवार को पूछताछ करने वाली है। उससे पहले यह बात सामने आई है कि ड्रग चैट वाले ग्रुप की वह ए​डमिन थीं।

छद्म नारीवाद और हिंदू घृणा का जोड़: भारतीय संस्कृति पर हमला बोल कर कहा जाएगा- ‘ब्रेक द स्टिरियोटाइप्स’

यह स्टिरियोटाइप हर पोशाक की कतरनों के साथ क्यों नहीं ब्रेक किए जाते? हिंदुओं के पहनावे पर ही ऐसा प्रहार क्यों? क्यों नन की ड्रेस में मॉडल आदर्श होती है? क्यों बुर्के को स्टिरियोटाइप का हिस्सा नहीं माना जाता? क्यों केवल रूढ़िवाद की परिभाषा साड़ी और घूँघट तक सीमित हो जाती है?

प्रचलित ख़बरें

‘मुझे सोफे पर धकेला, पैंट खोली और… ‘: पुलिस को बताई अनुराग कश्यप की सारी करतूत

अनुराग कश्यप ने कब, क्या और कैसे किया, यह सब कुछ पायल घोष ने पुलिस को दी शिकायत में विस्तार से बताया है।

पूना पैक्ट: समझौते के बावजूद अंबेडकर ने गाँधी जी के लिए कहा था- मैं उन्हें महात्मा कहने से इंकार करता हूँ

अंबेडकर ने गाँधी जी से कहा, “मैं अपने समुदाय के लिए राजनीतिक शक्ति चाहता हूँ। हमारे जीवित रहने के लिए यह बेहद आवश्यक है।"

‘काफिरों का खून बहाना होगा, 2-4 पुलिस वालों को भी मारना होगा’ – दिल्ली दंगों के लिए होती थी मीटिंग, वहीं से खुलासा

"हम दिल्ली के मुख्यमंत्री पर दबाव डालें कि वह पूरी हिंसा का आरोप दिल्ली पुलिस पर लगा दें। हमें अपने अधिकारों के लिए सड़कों पर उतरना होगा।”

नूर हसन ने कत्ल के बाद बीवी, साली और सास के शव से किया रेप, चेहरा जला अलग-अलग जगह फेंका

पानीपत के ट्रिपल मर्डर का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने नूर हसन को गिरफ्तार कर लिया है। उसने बीवी, साली और सास की हत्या का जुर्म कबूल कर लिया है।

एजाज़ ने प्रिया सोनी से कोर्ट मैरिज के बाद इस्लाम कबूल करने का बनाया दबाव, मना करने पर दोस्त शोएब के साथ रेत दिया...

"एजाज़ ने प्रिया को एक लॉज में बंद करके रखा था, वह प्रिया पर लगातार धर्म परिवर्तन का दबाव बनाता था। जब वह अपने इरादों में कामयाब नहीं हुआ तो उसने चोपन में दोस्त शोएब को बुलाया और उसके साथ मिल कर प्रिया का गला रेत दिया।"

‘मारो, काटो’: हिंदू परिवार पर हमला, 3 घंटे इस्लामी भीड़ ने चौथी के बच्चे के पोस्ट पर काटा बवाल

कानपुर के मकनपुर गाँव में मुस्लिम भीड़ ने एक हिंदू घर को निशाना बनाया। बुजुर्गों और महिलाओं को भी नहीं छोड़ा।

‘यही लोग संस्थानों की प्रतिष्ठा को ठेस पहुँचाने का मौका नहीं छोड़ते’: उमर खालिद के समर्थकों को पूर्व जजों ने लताड़ा

दिल्ली दंगों में उमर खालिद की गिरफ्तारी के बाद पुलिस और सरकारी की मंशा पर सवाल उठाने वाले लॉबी को पूर्व जजों ने लताड़ लगाई है।

नूर हसन ने कत्ल के बाद बीवी, साली और सास के शव से किया रेप, चेहरा जला अलग-अलग जगह फेंका

पानीपत के ट्रिपल मर्डर का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने नूर हसन को गिरफ्तार कर लिया है। उसने बीवी, साली और सास की हत्या का जुर्म कबूल कर लिया है।

‘मारो, काटो’: हिंदू परिवार पर हमला, 3 घंटे इस्लामी भीड़ ने चौथी के बच्चे के पोस्ट पर काटा बवाल

कानपुर के मकनपुर गाँव में मुस्लिम भीड़ ने एक हिंदू घर को निशाना बनाया। बुजुर्गों और महिलाओं को भी नहीं छोड़ा।

चीन ने शिनजियांग में 3 साल में 16000 मस्जिद ध्वस्त किए, 8500 का तो मलबा भी नहीं बचा

कई मस्जिदों को सार्वजनिक शौचालयों में बदल दिया गया। मौजूदा मस्जिदों में से 75% में ताला जड़ा है या आज उनमें कोई आता-जाता नहीं है।

‘मुझे सोफे पर धकेला, पैंट खोली और… ‘: पुलिस को बताई अनुराग कश्यप की सारी करतूत

अनुराग कश्यप ने कब, क्या और कैसे किया, यह सब कुछ पायल घोष ने पुलिस को दी शिकायत में विस्तार से बताया है।

‘नशे में कौन नहीं है, मुझे बताओ जरा?’: सितारों का बचाव कर संजय राउत ने ‘शराबी’ वाले अमिताभ की याद दिलाई

ड्रग्स मामले में दीपिका पादुकोण से पूछताछ से पहले संजय राउत ने बॉलीवुड सितारों का बचाव करते हुए NCB पर साधा निशाना है।

कानुपर में रिवर फ्रंट: ऐलान कर बोले योगी- PM मोदी ने की थी यहाँ गंगा स्वच्छता की प्रशंसा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानपुर में गंगा तट पर खूबसूरत रिवर फ्रंट बनाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने इसे पीएम मोदी को उपहार बताया।

अतीक अहमद से अवैध प्रॉपर्टी को जमींदोज करने पर हुआ खर्च भी वसूलेगी योगी सरकार

बाहुबली अतीक अहमद की अवैध प्रॉपर्टी पर कार्रवाई के बाद अब उससे इस पर आया खर्च भी वसूलने की योगी सरकार तैयारी कर रही है।

पैगंबर पर कार्टून छापने वाली ‘शार्ली एब्दो’ के पुराने कार्यालय के पास चाकू से हमला: 4 घायल, 2 गंभीर

फ्रांस की व्यंग्य मैग्जीन 'शार्ली एब्दो' के पुराने ऑफिस के बाहर एक बार फिर हमले की खबर सामने आई है। हमले में 4 लोग घायल हो गए।

मोइनुद्दीन चिश्ती पर अमीश देवगन की माफी राजस्थान सरकार को नहीं कबूल, कहा- धार्मिक भावनाएँ आहत हुई है

जिस टिप्पणी के लिए पत्रकार अमीश देवगन माफी माँग चुके हैं, उस मामले में कार्रवाई को लेकर राजस्थान सरकार ने असाधारण तत्परता दिखाई है।

हमसे जुड़ें

264,935FansLike
78,031FollowersFollow
324,000SubscribersSubscribe
Advertisements