Saturday, July 20, 2024
Homeविविध विषयअन्यअनन्या पांडे से बोले आर्यन- मैं तुमसे चुपके से ले आऊँगा: ड्रग्स चैट में...

अनन्या पांडे से बोले आर्यन- मैं तुमसे चुपके से ले आऊँगा: ड्रग्स चैट में दोस्तों को NCB के नाम से डराते भी थे शाहरुख खान के बेटे

आर्यन खान ने अपने दोस्तों को एनसीबी के नाम से डराया हुआ था। उसी एनसीबी ने उन्हें 3 अक्टूबर को क्रूज पार्टी के दौरान पकड़ लिया और अब 20 दिन से ज्यादा हो गए हैं वो वहीं जेल में हैं।

मुंबई ड्रग केस में आर्यन खान की गिरफ्तारी के बाद अभिनेत्री अनन्या पांडे से हुई पूछताछ ने पूरे बॉलीवुड के कान खड़े कर दिए हैं। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो लगातार अपनी जाँच में लगी है। ऐसे में इंडिया टुडे ने आर्यन और अनन्या की उस चैट को एक्सेस किया है जिसके कारण अभिनेत्री को समन किया गया।

इन चैट्स में कथिततौर पर आर्यन किसी अचित कुमार से ड्रग को बड़ी तादाद में खरीदने की बात कर रहे थे। उन्होंने 80 हजार रुपए की सिर्फ वीड (चरस) ऑर्डर की हुई थी। इसके अलावा आर्यन की चैट पढ़ने के बाद एनसीबी ने पाया कि अनन्या ही नहीं तीन अन्य स्टार किड से भी आर्यन ड्रग्स के बारे में बात करते थे।

आइए बताएँ अनन्या और आर्यन ने चैट में एक दूसरे से क्या बात की…

सबसे पहली चैट 2019 की है। यहाँ दोनों वीड लेने-देने पर बात कर रहे हैं:

आर्यन: वीड।
अनन्या: ये डिमांड में है।
आर्यन: मैं तुमसे चुपके से ले आऊँगा।
अनन्या: ठीक है।

इस चैट को पढ़कर एनसीबी को लग रहा है कि वो आर्यन को छोटे अमाउंट में ड्रग सप्लाई करती थीं।

अगली चैट में अनन्या बता रही हैं कि वो बिजनेस में हैं।

अनन्या: अब मैं बिजनेस में हूँ।
आर्यन: तुमने वीड खरीदी।
आर्यन– अनन्या!
अनन्या– मैं ले रही हूँ

एक हालिया चैट भी मिली है जो कि 18 अप्रैल 2021 की है। इसमें आर्यन अपने दो दोस्तों से कोकेन के बारे में बात कर रहे हैं।

आर्यन– कल कोकेन लेते हैं।
आर्यन– मैं तुम लोगों को एनसीबी से तबाह करवा दूँगा।

यहाँ गौर देने वाली बात ये है कि आर्यन खान ने अपने दोस्तों को एनसीबी के नाम से डराया हुआ था। उसी एनसीबी ने उन्हें 2-3 अक्टूबर को क्रूज पार्टी के दौरान पकड़ लिया और अब 20 दिन से ज्यादा हो गए हैं वो वहीं जेल में हैं। हाल में मुंबई कोर्ट में उनकी याचिका खारिज हुई थी। खबरें आई थीं कि वो अब रिहाई के लिए भगवान के सहारे हैं। वो रोज अपने बैरक में बने मंदिर की आरती में शामिल होते हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -