Friday, August 19, 2022
Homeविविध विषयअन्य'भारत से क्रिकेट में हारने पर हिंदू लड़कियाँ उठा लेते थे पाकिस्तानी': Pak से...

‘भारत से क्रिकेट में हारने पर हिंदू लड़कियाँ उठा लेते थे पाकिस्तानी’: Pak से भागे हिंदू ने बताई हकीकत

"कोहली एक बार मैच जीत गया तो वहाँ गुजराती हिन्दुओं की तीन लड़कियाँ उठा ली गई थीं। मैच में हारने पर ऐसे बुरा हाल करते हैं। पाकिस्तान की पुलिस भी कुछ नहीं करती। कभी लड़कियाँ वापस आती हैं, कभी नहीं आती, हम थक-हार कर घर बैठ जाते हैं।"

टी-20 वर्ल्ड कप में भारतीय टीम के खिलाफ मिली जीत के बाद के जश्न और पाकिस्तानियों के हुड़दंग की कई खबरें आपने देखी-सुनी होगी। पहली बार वर्ल्ड कप क्रिकेट में पाकिस्तान ने भारत को हराया है। यही वजह है कि जीत के जश्न में वो बावले से नजर आए तो वहीं भारत के भी कॉन्ग्रेसी, लिबरल और वामपंथी गिरोह उनके ताल पर अपना असली रंग दिखाता नजर आया। सोचिए क्या होता यदि इस बार भी पाकिस्तान हार गया होता? तो शायद इसकी कीमत पाकिस्तान में रहने वाले हिन्दुओं को एक बार फिर चुकानी होती। जिसके बारे में ऑपइंडिया को एक पाकिस्तानी हिन्दू शरणार्थी ने ही बताया।

वर्ल्ड कप में भारत के हार से बहुतों को निराशा है तो वहीं काफी लोग ऐसे भी हैं जो पाकिस्तान की जीत पर खुशियाँ मना रहे हैं, पटाखे फोड़ रहे हैं लेकिन पाकिस्तानी हिन्दुओं के एक शरणार्थी कैंप में सन्नाटा है। यह कैंप दिल्ली के आदर्श नगर इलाके में है, जहाँ बिजली और पानी जैस तमाम मूलभूत समस्याओं के बीच गुजर-बसर करने को मजबूर पाकिस्तान के सिंध सूबे से आई एक हिन्दू महिला शरणार्थी ने बताया पाकिस्तान कल जीत गया दुःख हुआ। इसके पहले जब भी इंडिया से क्रिकेट में हारता था पाकिस्तान तो इसका बदला वहाँ हिन्दुओं की लड़कियाँ उठा कर लेता था। उनके ऐसा बताते ही मुझे आश्चर्य हुआ कि भारत से क्रिकेट में हार का बदला भी हिन्दुओं से? मैंने उनसे डिटेल में जानना चाहा तो पहले वो बचती रहीं। कहा डरती हूँ, परिवार के मम्मी-पापा, भाई-बहन सब पाकिस्तान में हैं, उनको खतरा हो सकता है।

कैंप के बाहर एक छोटी सी दुकान चलाने वाली महिला ने डरते हुए ही अपनी बात शुरू कीं तो बताया कि बहुत सी बातें है, पाकिस्तान में हमारे परिवार के काफी लोग हैं, उनको खतरा है। लेकिन मैं आपको बता रही हूँ जब भारत पाकिस्तान को हराता है तो वहाँ हिन्दुओं की लड़कियाँ उठा तक ली जाती हैं। भारत से हार का बदला लेने के लिए।

चार-पाँच साल पुरानी एक घटना का जिक्र करते हुए उन्होंने बताया, “कोहली (विराट कोहली) मैच जीत गया तो वहाँ गुजराती हिन्दुओं की तीन लड़कियाँ उठा ली गई थीं। मैच में हारने पर ऐसे बुरा हाल करते हैं। पाकिस्तान की पुलिस भी कुछ नहीं करती। कभी लड़कियाँ वापस आती हैं, कभी नहीं आती, हम थक-हार कर घर बैठ जाते हैं।”

पाकिस्तान में अपने परिवार के प्रति चिंतित हिन्दू शरणार्थी महिला जो 2011 से ही भारत में रह रही हैं, उन्होंने कहा, “मैं वीडियो पर नहीं बोलती, क्या पता पाकिस्तान में मेरे परिवार के साथ क्या हो जाए, उनको मार-काट दिया जाए।” हालाँकि, थोड़ी ही देर बाद वह बात करने को तैयार हो गईं। फिर भी डर उनकी बातों से साफ झलक रहा था।

उन्होंने पाकिस्तान में अपने इलाके की एक घटना का जिक्र किया, जब गुजराती हिन्दुओं की तीन लड़कियाँ पाकिस्तान के हार पर हिन्दुओं की बस्तियों से उठा ली गई थी। उनके हिसाब से यह घटना कोई चार-पाँच साल पुरानी है। उनका यह भी कहना है कि ऐसा अक्सर होता है। क्रिकेट में जब भी पाकिस्तान भारत से हारता है तो पागल हो जाता है। बहुत जुलुम होता है वहाँ हिन्दुओं पर, कहते हैं तुम्हारा इंडिया जीत गया इसलिए उठा ली तुम्हारी लड़कियाँ।

पाकिस्तान से अक्सर उनके परिवार के लोगों से जब भी बात होती है हिन्दुओं पर ऐसी जुल्म की कहानियाँ साझा करते हैं। भारत में एक झुग्गी में रहते हुए उन्हें भी अपने परिवार की उतनी ही चिंता है कि सभी लोग भारत आ जाएँ लेकिन यहाँ उन्हें 10 सालों में उतनी सुविधाएँ नहीं मिल पाईं हैं जो एक साधारण जीवन जीने के लिए जरूरी है। उनकी बातों में उनकी दुविधा भी साफ़ दिख रही थी। क्रिकेट में हार का बदला भी हिन्दुओं से यह बात जरूर हैरान करने वाली है कि पाकिस्तान में हिन्दुओं के हालत कितनी बद्तर हैं। कहीं न कहीं इज्जत और जान की सलामती की वजह से ये पाकिस्तानी हिन्दू यहाँ असुविधाओं में भी बेहतर जीवन की उम्मीद लिए समय काट रहे हैं।

उनसे हमारी बात ने पाकिस्तान में हिन्दुओं के हालात पर बहुत कुछ सोचने को विवश कर दिया। क्रिकेट तो खैर पाकिस्तान जंग समझ कर ही खेलता है और वहाँ के लोग देखते हैं। इसलिए हार की जीतनी भी भीषण प्रतिक्रिया आप सोच सकते हैं वैसी कई खबरें पहले भी आती रही हैं। आपने पहले भी ऐसी खबरें सुनी और देखी होंगी जब पाकिस्तान भारत से हारने के बाद TV फोड़ता, आगजनी करता नजर आया होगा तो वहीं रविवार (24 अक्टूबर 2021) को T-20 वर्ल्ड कप में जब पाकिस्तान ने भारत को हराया तो वर्षों बाद मिली यह जीत भी पचा नहीं पाया। रात में ही इस्लामाबाद, कराची, रावलपिंडी और क्वेटा जैसे बड़े शहरों में हजारों की भीड़ सड़कों पर उतर आई। इस दौरान बड़ी संख्या में लोगों ने हवाई फायरिंग कर अपनी खुशी का ऐसा इजहार किया कि अकेले कराची में ही अलग-अलग जगह हुई हवाई फायरिंग में 12 लोगों को गोली लगने की खबर है।

इतना ही नहीं पाकिस्तान ने कल की इस जीत को मजहबी रंग भी दे डाला है। पाकिस्तान के मंत्री शेख रशीद ने भारत के खिलाफ मिली इस जीत को पूरे इस्लाम की जीत करार दिया और दुनिया भर के मुस्लिमों को फतह की मुबारकबाद दी। तो सोचिए पाकिस्तान में हार की कितनी भीषण प्रतिक्रिया होती होगी।

बता दें कि T20 विश्व कप में भारत का पहला मुकाबला रविवार को पाकिस्तान से हुआ। इस मैच में टीम इंडिया को 10 विकेट से एकतरफा हार का सामना करना पड़ा। पाकिस्तान की जीत के साथ ही विश्व कप में भारत के हाथों उसकी लगातार 12 हार का सिलसिला भी टूट गया। भारत के विरुद्ध T20 मैचों में बाबर आजम और मोहम्मद रिजवान की साझेदारी सर्वाधिक है। साथ ही पहली बार T20 में भारत 10 विकेट से हारा। बाबर आजम ने 52 गेंदों पर 68 रन बनाए तो मोहम्मद रिजवान ने 55 गेंदों पर 79 रनों की पारी खेली। दोनों ही बल्लेबाज नाबाद रहे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

रवि अग्रहरि
रवि अग्रहरि
अपने बारे में का बताएँ गुरु, बस बनारसी हूँ, इसी में महादेव की कृपा है! बाकी राजनीति, कला, इतिहास, संस्कृति, फ़िल्म, मनोविज्ञान से लेकर ज्ञान-विज्ञान की किसी भी नामचीन परम्परा का विशेषज्ञ नहीं हूँ!

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘10000 महिलाओं के साथ सोया हूँ’: विरोध करने पर रेप पीड़िता से पूर्व फुटबॉलर ने कहा था, आरोप – नंगा कर के 20 मिनट...

बेंजामिन मेंडी पर रेप का आरोप लगाने वाली एक पीड़िता ने बताया कि पूर्व फुटबॉलर ने उससे कहा था कि वह 10,000 महिलाओं के साथ सो चुका है।

‘कार खरीदी, गर्लफ्रेंड्स व सब्जी वालों का धन्यवाद’: व्यंग्य को सच समझ रवीश कुमार ने दी बधाई, जवाब मिला – मजाक है, वामपंथ की...

मधुर सिंह ने कार खरीदने वाली अपनी पोस्ट में अपनी एक्स व वर्तमान गर्लफ्रेंड्स एवं सब्जी वालों को धन्यवाद दिया। रवीश कुमार व्यंग्य को समझ नहीं पाए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
215,277FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe