Monday, July 15, 2024
Homeविविध विषयअन्यजिनकी कोचिंग में भारत बना क्रिकेट का वर्ल्ड चैंपियन, उनके साथ शाहीन अफरीदी ने...

जिनकी कोचिंग में भारत बना क्रिकेट का वर्ल्ड चैंपियन, उनके साथ शाहीन अफरीदी ने की बदतमीजी: बोले पूर्व क्रिकेटर- तबाह हो जाएगा पाकिस्तान का क्रिकेट

पाकिस्तान क्रिकेट टीम में अक्सर भाई-भतीजावाद का खेल चलता रहा है। मौजूदा कप्तान बाबर आजम अकमल बंधुओं के परिवार से हैं, तो शाहीन शाह अफरीदी दिग्गज आलराउंडर शाहिद अफरीदी के दामाद हैं।

पाकिस्तान की क्रिकेट टीम टी-20 विश्वकप में भारत और अमेरिका से हार कर बुरी तरह से बाहर हो गई। पाकिस्तानी टीम के विश्व कप से बुरी तरह से हारने की वजह से पाकिस्तान क्रिकेट में भूचाल आ चुका है। बलि का बकरा खोजने की कोशिशें की जा रही हैं। कुछ पर गाज गिरा दी गई है, तो अब शाहीन शाह अफरीदी और मोहम्मद रिजवान जैसे सीनियर खिलाड़ियों पर गाज गिराने की तैयारी हो रही है। इस बीच, पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर बासित अली ने कहा है कि बाबर आजम को बचाने के लिए ‘कुर्बानी के बकरे’ ढूँढे जा रहे हैं। वहीं, एक रिपोर्ट कोच गैरी कर्स्टन ने सौंपी है, जिसमें उन्होंने शाहीन शाह अफरीदी पर बदतमीजी के आरोप लगाए हैं।

जिसने बनाया भारत को चैंपियन, उसके साथ बदतमीजी

पाकिस्तानी टीम के विश्व कप से बाहर होने के बाद अब कोच और स्टाफ की तरफ से एक रिपोर्ट सौंपी गई है। इस रिपोर्ट में गुटबाजी के आरोप लगाए गए हैं और शाहीन शाह अफरीदी को मुख्य खिलाड़ी बताया गया है। ये रिपोर्ट गैरी कर्स्टन की ओर से बनाई गई है। दरअसल, शाहीन शाह अफरीदी को पाकिस्तानी टी-20 टीम की कमान दी गई थी, लेकिन 5 मैचों के बाद ही उनसे विश्व कप से ठीक पहले कप्तानी छीन ली गई और बाबर आजम को फिर से कप्तान बना दिया गया। अब शाहीन शाह अफरीदी पर आरोप लग रहे हैं कि वो टीम में गुटबाजी कर रहे हैं। इसमें बदतमीजी के भी आरोप लगे हैं।

टीम के सीनियर मैनेजर वहाब रियाज और मैनेजर मंसूर राणा ने भी उसका साथ दिया। यानी यह दोनों शिकायत के बावजूद मामले में कुछ बोले ही नहीं। अब इन खुलासों के बाद पाकिस्तान टीम की बुरी तरह बेइज्जती हो रही है। यही कारण रहा है कि पीसीबी ने वहाब और मंसूर को निकाल दिया है। रिपोर्ट में दावा किया गया है कि टी20 वर्ल्ड कप 2024 के दौरान शाहीन ने गैरी कर्स्टन और सहायक कोच अजहर महमूद के साथ बुरा बर्ताव किया था। दूसरी ओर वहाब और मंसूर ने भी उन्हें गलत तरीके से गाइड किया। पाकिस्तान टीम में फूट पड़ने और खिलाड़ियों की लॉबिंग करने वाली बात गैरी कर्स्टन पहले भी कह चुके हैं। बता दें कि गैरी के कोच रहते हुए ही भारत ने साल 2011 का क्रिकेट विश्वकप जीता था।

अफरीदी के समर्थन में आए पूर्व खिलाड़ी, बाबर आजम पर साधा निशाना

बासित अली पाकिस्तान के लिए 19 टेस्ट मैच और 50 वनडे मैच खेल चुके हैं। उनका दावा गंभीर नजर आता है। एक तरफ तो शाहीन शाह अफरीदी पर गुटबाजी के आरोप वाली रिपोर्ट सामने आ चुकी है, तो वहाब रियाज-अब्दुल रज्जाक जैसे सीनियर खिलाड़ियों को चयनसमिति से ही हटा दिया गया है।

बासित अली ने एक शो में कहा, “तैयारी जो की जा रही है, जो रिपोर्ट बनाई जा रही है, वो है शाहीन शाह अफरीदी और रिजवान के खिलाफ। इन्होंने ग्रुपिंग कर दी है, जो गलत है। ये जो रिपोर्ट बना रहे हैं, जिनके दिमाग में ये चीज है कि वो अपना मलबा इन पर डाल दें। ऐसा मत करिएगा, पाकिस्तान की क्रिकेट तबाह हो जाएगी।”

बासित अली ने कहा कि बाबर आजम को खास मदद की जाती है, तो शाहीन और रिजवान के साथ सही व्यवहार नहीं होता। उन्होंने कहा, “अल्लाह न करे कि ये चीज (अफरीदी-रिजवान पर कार्रवाई, बाबर का बचाव) हो गई, आप की भूल है। अगर आप समझते हैं कि रिजवान, शाहीन शाह अफरीदी और बाबर आजम एक पिच पर नहीं है। अगर आपने हटाना है तो तीनों की छुट्टी करें, ये नहीं कि 2 को आप कुर्बानी का बकरा बनाएँ और तीसरे को आप हीरो बना दें।”

बासित अली बाबर आजम की कप्तानी पर भी सवाल खड़े करते रहे हैं। उन्होंने न सिर्फ टी-20 विश्वकप बल्कि ऑस्ट्रेलिया में भी बाबर की सोचने की क्षमता पर सवाल उठाए। इसके साथ ही उन्होंने शाहीन शाह अफरीदी का ये कहकर बचाव किया कि उनसे अचानक कप्तानी छीन लेने से भी चीजें गड़बड़ हुई होंगी। यहाँ लोगों की बैठने की जगह पर कुर्सी बदल जाती है, तो दिक्कत होती है।

चयनकर्ता वहाब रियाज और अब्दुल रज्जाक पर गिराई जा चुकी है गाज

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के चेयरमैन मोहसिन नकवी ने पाकिस्तानी टीम की बुरी गत के बाद सबसे पहली गाज गिराई चयनकर्ताओं के 7 सदस्यीय पैनल में मुख्य वहाब रियाज और अब्दुल रज्जाक पर। दोनों को चयनसमिति से बाहर कर दिया गया। इस बारे में भी खूब बवाल हुआ। दरअसल, वहाब रियाज को 4 महीने पहले मुख्य चयनकर्ता बनाया गया था, लेकिन बाद में एक कमेटी गठित कर सातों सदस्यों को बराबर अधिकार दे दिए गए थे। इसके बाद भी गाज सिर्फ रियाज और अब्दुल रज्जाक जैसे खिलाड़ियों पर गिराई गई। वहाब रियाज ने इस फैसले पर नाराजगी जताई है, लेकिन उन्होंने चुप रहने में ही भलाई समझी है। उन्होंने कहा कि वो आरोप-प्रत्यारोप में नहीं पड़ना चाहते। वहाब रियाज ने कहा कि उन्होंने अपनी क्षमता में टीम के लिए 100 प्रतिशत योगदान दिया है।

बता दें कि पाकिस्तान क्रिकेट टीम में अक्सर भाई-भतीजावाद का खेल चलता रहा है। मौजूदा कप्तान बाबर आजम अकमल बंधुओं के परिवार से हैं, तो शाहीन शाह अफरीदी दिग्गज आलराउंडर शाहिद अफरीदी के दामाद हैं। शाहिद अफरीदी इमरान खान के प्रधानमंत्री रहते काफी ताकतवर हुआ करते थे, लेकिन देश में सरकार बदलने के बाद से शाहीन शाह अफरीदी के भी बुरे दिन शुरू हो गए। इसके अलावा बीच में इंजमाम उल हक को भी मुख्य चयनकर्ता बनाया गया था, तो उस पर अपने परिवार के इमाम उल हक को आगे बढ़ाने का आरोप लगा। मोइन खान पर अपने बेटे आजम खान को। इसी तरह से पाकिस्तान क्रिकेट में लगातार उलट-पुलट चलता रहा है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बैकफुट पर आने की जरूरत नहीं, 2027 भी जीतेंगे’: लोकसभा चुनावों के बाद हुई पार्टी की पहली बैठक में CM योगी ने भरा जोश,...

लोकसभा चुनावों के बाद पहली बार भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की लखनऊ में आयोजित बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कार्यकर्ताओं में जोश भरा।

जिसने चलाई डोनाल्ड ट्रंप पर गोली, उसने दिया था बाइडेन की पार्टी को चंदा: FBI लगा रही उसके मकसद का पता

पेंसिल्वेनिया के मतदाता डेटाबेस के मुताबिक, डोनाल्ड ट्रंप पर हमला करने वाला थॉमस मैथ्यू क्रूक्स रिपब्लिकन के मतदाता के रूप में पंजीकृत था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -