Friday, June 14, 2024
Homeविविध विषयअन्य'हाशिम अमला ने कइयों को धर्मांतरित कर मुस्लिम बनाया, उनमें हिन्दू भी': Pak के...

‘हाशिम अमला ने कइयों को धर्मांतरित कर मुस्लिम बनाया, उनमें हिन्दू भी’: Pak के पूर्व कप्तान सईद अनवर का खुलासा, कहा – अल्लाह ने वर्ल्ड कप को बना रखा है मोहरा

साल 2021 में भारत-पाकिस्तान मैच के बाद इस्लामी कट्टरपंथी पाकिस्तान की जीत का जश्न मना रहे थे। इस दौरान, पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज वकार यूनुस ने कहा था कि...

पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर और कप्तान रहे सईद अनवर (Saeed Anwar) ने दावा किया है कि दक्षिण अफ्रीका के पूर्व क्रिकेटर हाशिम आमला (Hashim Amla) ने कई लोगों को धर्मांतरित कर मुस्लिम बनाया है। सोशल मीडिया में, यह वीडियो सामने आने के बाद लोग अलग-अलग तरह की प्रतिक्रिया दे रहे हैं।

दरअसल, अनटोल्ड पाकिस्तान नामक ट्विटर अकाउंट पर एक वीडियो शेयर किया गया है। यह वीडियो किसी कार्यक्रम का बताया जा रहा है। इस वीडियो में, पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर सईद अनवर ने कहा है कि हाशिम अमला के कारण एक हिंदू परिवार मुस्लिम बन गया।

वायरल वीडियो में सईद अनवर हाशिम अमला की तारीफ करते हुए कहते हैं, “विश्व कप में कई लोग इस्लाम कबूल कर रहे हैं। अल्लाह ने वर्ल्ड कप को मोहरा बना रखा है। हाशिम अमला एक शानदार क्रिकेटर हैं। उसने कितने लोगों को कलाम पढ़ाया। एक पूरा हिन्दू खानदान मुस्लिम बन गया। मोहम्मद यूसुफ कई लोगों का जरिया बना। आप में अल्लाह ने बहुत टैलेंट दिया है। जो करना है करो, कारोबार करो, हुकूमत करो। अल्लाह को साथ ले लो और नबी का काम अपना काम बना लो।”

सईद अनवर इस वीडियो में कह रहे हैं कि क्रिकेट के बहाने हाशिम अमला ने कई हिंदुओं को भी धर्मांतरित कर मुस्लिम बनाया है। हालाँकि, इस वीडियो को लेकर हाशिम अमला की ओर अब तक कोई भी बयान नहीं आया है।

बता दें कि हाशिम अमला पर कट्टर इस्लामिक होने के आरोप लगते रहे हैं। हाशिम अमला इस्लाम को किस हद तक मानते हैं, इसका सबसे बड़ा उदाहरण यह है कि वह अपनी टीशर्ट पर शराब कंपनी का लोगो तक नहीं लगाते थे। इसके लिए उन्हें जुर्माना तक भरना पड़ता था। यही नहीं, ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर रहे डीन जोन्स ने लाइव मैच में कमेंट्री करते हुए उन्हें आतंकवादी तक कह दिया था।

सोशल मीडिया पर प्रतिक्रिया::

तरुण कुमार नामक यूजर ने लिखा, “अरे गधों, क्या हो जायेगा दूसरे धर्म के लोगों को मुस्लिम बनाकर। जो पहले से मुस्लिम हैं पाकिस्तान में, वो तो सब भूखे मर रहे हैं। मुस्लिम दुनिया में सबसे गरीब और भुखमरी ग्रस्त समुदाय है। अल्ला में कुछ दम है तो उनकी हालत में सुधार कर ले। नया भुखमरी ग्रस्त मुस्लिम देश पाकिस्तान है।”

एक ट्विटर यूजर ने लिखा है, “इंग्लैंड, दक्षिण अफ्रीका आदि टीमों के लिए खेलना काफिरों से पैसे कमाने का जरिया मात्र है। इनका वास्तविक लक्ष्य हमेशा एक ही होता है।”

सुख राजन साहा नामक यूजर ने लिखा, “तुम लोग सब जाहिल हो जाहिल।”

दीपक ने लिखा, “अबे पहले आटे का जुगाड़ कर लो।”

बता दें कि यह पहला मौका नहीं है जब पाकिस्तान की ओर से हिंदुओं के खिलाफ इस तरह की बात कही गई हो। इससे पहले, भी कई बार पाकिस्तानी क्रिकेटर जिहादी भाषा का उपयोग कर चुके हैं।

साल 2021 में भारत-पाकिस्तान मैच के बाद इस्लामी कट्टरपंथी पाकिस्तान की जीत का जश्न मना रहे थे। इस दौरान, पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज वकार यूनुस ने कहा था कि उन्हें पूरे मैच में सबसे अच्छी बात ये लगी कि रिजवान ने सभी हिंदुओं के सामने खड़े होकर नमाज पढ़ी। उनके इस बयान पर जब लोगों ने आपत्ति जताई और विरोध हुआ तो उन्होंने माफी माँगते हुए कहा कि उनके मुँह से ये बात आवेश में निकल गई थी। 

वकार ने ट्वीट कर माफी माँगी और लिखा, “आवेश में आकर मैंने ऐसी बात कह दी, मैंने ऐसा कुछ कहा, जो मेरा कहने का मतलब नहीं था, जिससे काफी लोगों की भावनाएँ आहत हुई हैं। मैं इसके लिए माफी माँगता हूँ, मेरा ऐसा मकसद बिल्कुल नहीं था, सच में गलती हो गई। खेल लोगों को रंग और धर्म से हटकर जोड़ता है।”

शोएब अख्तर ने मैच से पहले किया दो राष्ट्र सिद्धांत का प्रचार

साल 2021 में ही, पाकिस्तान के पूर्व गेंदबाज शोएब अख्तर और हरभजन सिंह आजतक के एक कार्यक्रम में साथ दिखे थे। कार्यक्रम के दौरान शोएब ने दो राष्ट्र सिद्धांत का प्रचार करते हुए हरभजन को कहा कि वो इसमें यकीन रखते हैं और उनकी अपनी विचारधारा है। अगर उन्होंने इस पर बात करनी शुरू कर दी तो चीजें बहुत आगे चली जाएँगी।

‘आएगा गजवा-ए-हिंद, जीतेंगे कश्मीर’

इसी तरह एक वीडियो वायरल हुआ था। इसमें शोएब अख्तर समा टीवी से बात करते हुए कह रहे थे कि “ये हमारी पाक किताब में लिखा है कि गजवा ए हिंद आएगा। अटक की नदी दोबारा खून से लाल रंग की होगी। अफगानिस्तान की सेना अटक पहुँचेंगी। उसके बाद शमल मशरिक से सेनाएँ उठेंगी। अलग-अलग दल उज्बेकिस्तानन आदि से पहुँचेंगे… जो लाहौर तक फैले ऐतिहासिक क्षेत्र खोरासन को दर्शाता है। बाद में वह ताकतें कश्मीर को जीतेंगी और फिर बाद इंशाल्लाह काफिला बढ़ता (बाकी बचे भारत की ओर) रहेगा।”

भारत सुरक्षित नहीं है- जावेद मियानंद

साल 2019 में जावेद मियानंद ने बयान दिया था, “आईसीसी को आगे आना चाहिए और दुनिया, आईसीसी के सहयोगी देशों को बताना चाहिए कि भारत में खेलना बंद करें क्योंकि यह देश सुरक्षित नहीं है। दूसरे देश भारत से बेहतर हैं। भारत में लोग अपने ही देशवासियों से लड़ रहे हैं। क्या हो रहा है, देखिए और ऐक्शन लीजिए।” उस समय भारतीय क्रिकेटर विनोद कांबली ने जावेद को आड़े हाथ लेकर कहा था कि रिटार होने के बाद भी उंगली करने की आदत नहीं गई।

शाहिद अफरीदी का जहर

पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर शाहिद अफरीदी अक्सर भारत विरोधी बातें करते हैं। एक बार उन्होंने भारत के लिए जहर उगलते हुए कहा था, “उन्हें तो ठीक-ठाक मारा है हमने। इतना मारा है कि कई बार माफियाँ माँगी हैं उन्होंने।” उन्होंने दावा किया कि भारत और ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध दबाव ज्यादा रहने से उन्हें खेलने में खूब मजा आता था। 

‘इस्लाम अपनाओ जन्नत जाओगे’

पाकिस्तानी क्रिकेटर अहमद शहजाद का एक वीडियो कुछ दिन पहले वायरल हुआ था। वीडियो 2014 की थी। जब श्रीलंका और पाकिस्तान का मैच हो रहा था। वायरल वीडियो में दिलशान बल्लेबाजी कर के लौट रहे हैं और उनके साथ चल रहे अहमद शाहजाद उन्हें कह रहे हैं कि अगर आप नॉन-मुस्लिम हैं और इस्लाम अपना लेते हैं तो इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि फिर अपने जीवन में आप क्या करते हो, आप अंततः जन्नत हो जाओगे।

तलवार से मार सकता हूँ इंसान: आर्टिकल 370 हटने पर जावेद की धमकी

आर्टिकल 370 हटने से कई पाकिस्तानी आग बबूला थे। ऐसे में पूर्व क्रिकेटर जावेद ने भारत को तलवार दिखाकर धमकी दी थी। उन्होंने कहा था, “कश्मीरी भाइयों फ़िक्र ना करो, हम आपके साथ हैं। मेरे पास बल्ला भी है छक्का मारा था अब ये (तलवार) चलेगा। जब बल्ले से छक्का मार सकता हूँ तो इससे (तलवार) से इंसान क्यों नहीं मार सकता।” 

मोहम्मद शमी मुस्लिम होने के कारण टीम से बाहर: मोइन खान

साल 2019 में श्रीलंका के साथ हुए मैच में मोहम्मद शमी की जगह जडेजा को जगह मिलने के बाद पाक के पूर्व क्रिकेटर मोइन खान ने नफरत फैलाने का काम किया था। उनका कहना था कि शमी को मौका इसलिए नहीं मिला क्योंकि भाजपा मुस्लिमों के आगे बढ़ने नहीं देना चाहती।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कश्मीर समस्या का इजरायल जैसा समाधान’ वाले आनंद रंगनाथन का JNU में पुतला दहन प्लान: कश्मीरी हिंदू संगठन ने JNUSU को भेजा कानूनी नोटिस

जेएनयू के प्रोफेसर और राजनीतिक विश्लेषक आनंद रंगनाथन ने कश्मीर समस्या को सुलझाने के लिए 'इजरायल जैसे समाधान' की बात कही थी, जिसके बाद से वो लगातार इस्लामिक कट्टरपंथियों के निशाने पर हैं।

शादीशुदा महिला ने ‘यादव’ बता गैर-मर्द से 5 साल तक बनाए शारीरिक संबंध, फिर SC/ST एक्ट और रेप का किया केस: हाई कोर्ट ने...

इलाहाबाद हाई कोर्ट में जस्टिस राहुल चतुर्वेदी और जस्टिस नंद प्रभा शुक्ला की बेंच ने इस मामले की सुनवाई करते हुए कहा कि सबूत पेश करने की जिम्मेदारी सिर्फ आरोपित का ही नहीं है, बल्कि शिकायतकर्ता का भी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -