Thursday, July 25, 2024
Homeविविध विषयअन्यराजकोट में रात को भी चमका 'सूर्य': 45 गेंदों पर शतक जड़ के सूर्यकुमार...

राजकोट में रात को भी चमका ‘सूर्य’: 45 गेंदों पर शतक जड़ के सूर्यकुमार यादव ने श्रीलंका को किया पस्त, बरसाए 9 छक्के

ये इस फॉर्मेट में भारत की तरफ से दूसरा सबसे तेज़ शतक है। रोहित शर्मा ने 2017 में श्रीलंका के खिलाफ ही 35 गेंदों में 100 रन पूरे किए थे।

गुजरात के राजकोट में शनिवार (7 दिसंबर, 2022) को भारत और श्रीलंका के बीच खेले जा रहे तीसरे T20 अंतरराष्ट्रीय मैच में सूर्यकुमार यादव ने शानदार शतकीय पारी खेली। उन्होंने मात्र 45 गेंदों में अपना शतक पूरा कर दिया। पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारत की तरफ से चौथे नंबर पर उतर कर सूर्यकुमार यादव ने 51 गेंदों में 7 चौको और 9 छक्कों की मदद से 112 रनों की धुआँधार पारी खेली। ये उनका तीसरा अंतरराष्ट्रीय शतक है।

पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारत की स्थिति ठीक नहीं थी और ईशान किशन मात्र 1 रन बना कर चलते बने। राहुल त्रिपाठी 16 गेंदों में 35 रन का तेज़ कैमियो खेल कर आउट हो गए। इसके बाद शुभमन गिल ने सूर्यकुमार यादव के साथ मिल कर पारी को आगे बढ़ाया और 111 रनों की साझेदारी की। अंत में कप्तान हार्दिक पंड्या और दीपक हुड्डा सस्ते में चलते बने, लेकिन अक्षर पटेल ने 9 गेंदों मर नाबाद 21 रन बना कर सूर्यकुमार यादव का बखूबी साथ दिया।

सूर्यकुमार यादव ने भी नाबाद पारी खेली। करुणारत्ने और मधुशंका, श्रीलंका के दोनों ही गेंदबाजों को 4 ओवर में 50 से अधिक रन पड़े। सूर्यकुमार यादव इससे पहले इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के खिलाफ T20 शतक जड़ चुके हैं। ये इस फॉर्मेट में भारत की तरफ से दूसरा सबसे तेज़ शतक है। रोहित शर्मा ने 2017 में श्रीलंका के खिलाफ ही 35 गेंदों में 100 रन पूरे किए थे। सूर्यकुमार यादव पहले ऐसे बल्लेबाज हैं, जो ओपनिंग न उतर कर भी T20 में 3 शतक बना चुके हैं।

श्रीलंका की शुरुआत तो तेज़ रही लेकिन 5वें, 6ठे और 7वें ओवर में एक-एक कर तीन विकेट गिर गए और टीम लड़खड़ा गई। 10वें ओवर में चौथा विकेट ढह गया। अक्षर पटेल ने भारत को पहली सफलता दिलाई। अंत में श्रीलंका की हार हुई। चूँकि भारत ने 228 रनों का पहाड़ सा स्कोर खड़ा किया था, श्रीलंका की हार की पटकथा इसके टॉप ऑर्डर के फेल होने के साथ ही लिखी जा चुकी थी, क्योंकि 12वें ओवर में आधी टीम पवेलियन में थी। सूर्यकुमार यादव ‘मैन ऑफ द मैच’ भी रहे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘दरबार हॉल’ अब कहलाएगा ‘गणतंत्र मंडप’, ‘अशोक हॉल’ बना ‘अशोक मंडप’: महामहिम द्रौपदी मुर्मू का निर्णय, राष्ट्रपति भवन ने बताया क्यों बदला गया नाम

राष्ट्रपति भवन ने बताया है कि 'दरबार' का अर्थ हुआ कोर्ट, जैसे भारतीय शासकों या अंग्रेजों के दरबार। बताया गया है कि अब जब भारत गणतंत्र बन गया है तो ये शब्द अपनी प्रासंगिकता खो चुका है।

जिसका इंजीनियर भाई एयरपोर्ट उड़ाने में मरा, वो ‘मोटू डॉक्टर’ मारना चाह रहा था हिन्दू नेताओं को: हाई कोर्ट से माँग रहा था रहम,...

कर्नाटक हाई कोर्ट ने आतंकी मोटू डॉक्टर को राहत देने से इनकार कर दिया है। उस पर हिन्दू नेताओं की हत्या की साजिश में शामिल होने का आरोप है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -