Tuesday, July 27, 2021
Homeदेश-समाजग्राउंड रिपोर्ट: चुन-चुन कर जलाई हिन्दुओं की दुकानें, ताहिर हुसैन के तहखाने वाली इमारत...

ग्राउंड रिपोर्ट: चुन-चुन कर जलाई हिन्दुओं की दुकानें, ताहिर हुसैन के तहखाने वाली इमारत में थे 3000 गुंडे

दंगाई भीड़ ने दुकानों का बोर्ड पढ़-पढ़ कर ये तय किया कि किसे जलाना है और किसे छोड़ना है। हिन्दुओं की दुकानों को जलाया और दूसरे मजहब की दुकानों का छूआ भी नहीं गया। बड़ी संख्या में ​हिन्दुओं की गाड़ियों को फूॅंक दिया गया।

उत्तर-पूर्वी दिल्ली के चाँदबाग में दंगों के दौरान एक फर्नीचर के दुकान में भी आग लगा दी गई। ऑपइंडिया ने ‘अरोड़ा फर्नीचर’ के आसपास रहने वाले स्थानीय लोगों से संपर्क किया और वहाँ जाकर स्थिति का जायजा लिया। पता चला कि पूरे फ्लोर पर आग लगाई गई और समानों को लूट लिया गया। दुकान के मालिक ने बताया कि इस वारदात को कट्टरपंथियों ने अंजाम दिया है। उन्होंने जानकारी दी कि मजहबी भीड़ ने ‘अरोड़ा फर्नीचर’ वाली इमारत के सभी फ्लोर पर आग लगा दी और वहाँ रखे कुछ समानों को भी फूँक डाला। बाकी समान वो अपने साथ लूट कर ले गए।

स्थानीय लोगों ने बताया कि उसी गली में एक समुदाय विशेष के व्यक्ति की भी दुकान थी, जिसे जरा सा भी नुकसान नहीं पहुँचाया गया। स्थानीय लोगों के मुताबिक़, दंगाई भीड़ ने दुकानों का बोर्ड पढ़-पढ़ कर ये तय किया कि किसे जलाना है और किसे छोड़ना है। यानी, हिन्दुओं की दुकानों को जलाया गया और दूसरे मजहब की दुकानों का छूआ भी नहीं। एक ‘गोयल मेडिकल स्टोर’ है, उसे भी लूट लिया गया। वैश्य समाज के लोगों की दुकानें थीं, जिन्हें या तो आग के हवाले कर दिया गया, या फिर लूट लिया गया।

देखिए, अरोड़ा फर्नीचर का दंगाइयों ने क्या किया हाल

इसका मतलब है कि सारे हिन्दुओं की दुकानों के बारे में जानकारी इकट्ठी कर ली गई थी। हिन्दुओं की गाड़ियों को भारी संख्या में जलाया गया। लोगों ने स्थानीय निगम पार्षद ताहिर हुसैन के बारे में बताया कि उसकी इमारत का परिसर बहुत बड़ा है, जिसमें एक तहख़ाना भी है। हुसैन आम आदमी पार्टी का नेता है और पार्टी भी उसके बचाव में उतर आई है। आईबी अधिकारी अंकित शर्मा सहित 4 लोगों की हत्या का आरोप भी उसके ही गुंडों पर है। चारों को मार कर उनकी लाशों को चाँदबाग़ की नाली में फेंक दिया गया था।

लोगों ने बताया कि ताहिर हुसैन के घर में क़रीब 3000 दंगाई जमा थे। कई संदिग्ध लोगों का आना-जाना लगा हुआ था, यानी काफ़ी पहले से इसकी साज़िश रची जा रही थी। अंकित शर्मा के बारे में लोगों ने बताया कि उन्हें घसीट कर ले जाया गया था। जब अंकित को पता चला कि ताहिर के गुंडे तीन लोगों को पकड़ के ले गए हैं, तब वो उन्हें छुड़ाने और लोगों को समझाने निकले थे। स्थानीय लोगों ने बताया कि उसके थोड़ी देर बार ही अंकित की माँ अपने बेटे को ढूँढ़ते हुए चिंतित सी घूम रही थी। बाद में उनकी मौत की ख़बर आई।

स्थानीय लोगों ने बताया कि अंकित के मृत शरीर पर पत्थर बाँध कर नाले में फेंक दिया गया था। चाँदबाग़ में एक पुल है, जिसके दूसरी तरफ़ मुस्लिम बहुल क्षेत्र हैं। स्थानीय लोग इस पुलिया को ‘बॉर्डर’ भी कहते हैं। स्थानीय हिन्दू उस पुलिया को ‘बॉर्डर’ कह कर भी सम्बोधित करते हैं। दरअसल, ताहिर हुसैन का घर ही इस तरीके से बनाया गया है कि उससे चारों ओर का इलाक़ा कवर हो और अंदर जो भी लोग हों, वो एकदम सुरक्षित रहें। स्थानीय लोगों ने बताया कि उनलोगों ने ही उसे जिताया और वो अब उनके साथ ही ऐसा व्यवहार कर रहा है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के लिए अपत्तिजनक भाषा का प्रयोग करते हुए स्थानीय लोगों ने नाराज़गी जताई। लोगों ने कहा कि वो हमेशा मीडिया में बयान देते रहते हैं और सुर्ख़ियों में बने रहते हैं, लेकिन उनके पार्षद की दंगों में भागीदारी सामने आई है तो उन्होंने मुँह पर टेप चिपका लिया है। कई ऐसे लोग भी सीएम से नाराज़ दिखे, जिन्होंने हालिया चुनावों में आम आदमी पार्टी को वोट दिया था।

ऑपइंडिया एक्सक्लूसिव: हिंदू ने टोपी पहन खुद को बताया इमरान, ताहिर हुसैन के गुंडों से बचाई जान

केजरीवाल मेरे भाई को दंगाई साबित कर देंगे, उन्हें ताहिर हुसैन ने टॉर्चर कर मार डाला: अंकित शर्मा के भाई

IB के अंकित शर्मा की लाश को नाले में फेंक रहे AAP पार्षद ताहिर हुसैन के गुंडे: सामने आया नया Video

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

Searched termsचांदबाग पुलिया, अरोड़ा फर्नीचर, ताहिर हुसैन के घर का तहखाना, अंकित शर्मा केजरीवाल, अंकित शर्मा ताहिर हुसैन, अंकित शर्मा का परिवार, अंकित शर्मा के पिता, अंकित शर्मा के भाई अंकुर, दिल्ली शाहदरा, शाहदरा दिलबर सिंह, उत्तराखंड दिलवर सिंह, दिल्ली हिंसा में दिलवर सिंह की हत्या, रवीश कुमार मोहम्मद शाहरुख, रवीश कुमार अनुराग मिश्रा, रतनलाल, साइलेंट मार्च, यूथ अगेंस्ट जिहादी हिंसा, दिल्ली हिंसा एनडीटीवी, एनडीटीवी श्रीनिवासन जैन, एनडीटीवी रवीश कुमार, रवीश कुमार प्राइम टाइम, रवीश कुमार दिल्ली हिंसा, दीपक चौरसिया एनडीटीवी, NDTV के पत्रकार पर हमला, दिल्ली हिंसा में कितने मरे, दिल्ली दंगों में मरे, दिल्ली कितने हिंदू मरे, दिल्ली हाईकोर्ट, जस्टिस मुरलीधर, जस्टिस मुरलीधर का तबादला, दिल्ली हाई कोर्ट जस्टिस मुरलीधर, दिल्ली हाई कोर्ट कपिल मिश्रा, दिल्ली दंगों में आप की भूमिका, आप पार्षद ताहिर हुसैन, आप नेता ताहिर हुसैन, ताहिर हुसैन वीडियो, कपिल मिश्रा ताहिर हुसैन, अंकित शर्मा का भाई, आईबी कॉन्स्टेबल की हत्या, अंकित शर्मा की हत्या, चांदबाग अंकित शर्मा की हत्या, दिल्ली हिंसा विवेक, विवेक ड्रिल मशीन से छेद, विवेक जीटीबी अस्पताल, विवेक एक्सरे, दिल्ली हिंदू युवक की हत्या, दिल्ली विनोद की हत्या, दिल्ली ब्रहम्पुरी विनोद की हत्या, दिल्ली हिंसा अमित शाह, दिल्ली हिंसा केजरीवाल, दिल्ली हिंसा उपराज्यपाल, अमित शाह हाई लेवल मीटिंग, दिल्ली पुलिस, दिल्ली पुलिस रतनलाल, हेड कांस्टेबल रतनलाल, रतनलाल का परिवार, ट्रंप का भारत दौरा, ट्रंप मोदी, बिल क्लिंटन का भारत दौरा, छत्तीसिंह पुरा नरसंहार, दिल्ली हिंसा, नॉर्थ ईस्ट दिल्ली, दिल्ली पुलिस, करावल नगर, जाफराबाद, मौजपुर, गोकलपुरी, शाहरुख, कांस्टेबल रतनलाल की मौत, दिल्ली में पथराव, दिल्ली में आगजनी, दिल्ली में फायरिंग, भजनपुरा, दिल्ली सीएए हिंसा
रवि अग्रहरि
अपने बारे में का बताएँ गुरु, बस बनारसी हूँ, इसी में महादेव की कृपा है! बाकी राजनीति, कला, इतिहास, संस्कृति, फ़िल्म, मनोविज्ञान से लेकर ज्ञान-विज्ञान की किसी भी नामचीन परम्परा का विशेषज्ञ नहीं हूँ!

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अपनी मौत के लिए दानिश सिद्दीकी खुद जिम्मेदार, नहीं माँगेंगे माफ़ी, वो दुश्मन की टैंक पर था’: ‘दैनिक भास्कर’ से बोला तालिबान

तालिबान प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद ने कहा कि दानिश सिद्दीकी का शव युद्धक्षेत्र में पड़ा था, जिसकी बाद में पहचान हुई तो रेडक्रॉस के हवाले किया गया।

विवाद की जड़ में अंग्रेज, हिंसा के पीछे बांग्लादेशी घुसपैठिए? असम-मिजोरम के बीच झड़प के बारे में जानें सब कुछ

असल में असम से ही कभी मिजोरम अलग हुआ था। तभी से दोनों राज्यों के बीच सीमा-विवाद चल रहा है। इस विवाद की जड़ें अंग्रेजों के काल में हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,381FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe