Wednesday, July 24, 2024
Homeदेश-समाजमध्य प्रदेश में गोवंश के 50 शव मिले, कई के कटे हुए थे सिर:...

मध्य प्रदेश में गोवंश के 50 शव मिले, कई के कटे हुए थे सिर: गोतस्करों के खिलाफ कार्रवाई के बाद हत्या कर वैनगंगा में फेंके जाने की आशंका

ग्रामीणों का कहना है कि इस तरह की घटना इलाके में पहली बार हुई है। कुछ लोगों का यह भी कहना है कि कुछ गोवंश शव नदी में बहकर आए हैं। यह माना जा रहा है कि सरकार मवेशी तस्करों के खिलाफ लगातार कार्रवाई कर रही है। ऐसे में पुलिस से बचने के लिए तस्करों ने गोवंश की हत्या करके उसे नदी या अन्य जगहों पर फेंक दिया होगा।

मध्य प्रदेश के सिवनी में बुधवार (19 जून 2024) को गोवंश के दर्जनों कटे शव मिले हैं। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुँची और घटना की जाँच में जुट गई है। प्रशासन ने मवेशी डॉक्टर को बुलाकर शवों का परीक्षण करवाया है। इसके बाद गोवंश के शवों कों दफना दिया गया है। पुलिस पता लगाने की कोशिश कर रही है कि इन सबके कौन हैं।

दरअसल, सिवनी जिले के पिंडरई के पास वैनगंगा नदी में 19 गोवंश के शव मिले। वहीं, धूमा क्षेत्र में ऐसे 32 शव मिले। इन शवों के गर्दन कटे हुए थे। शवों का कुछ हिस्सा नजदीकी जंगलों में भी फेंका गया है। पुलिस ने गाँव के लोगों की मदद से गोवंश के शवों को वैनगंगा नदी से बाहर निकाला और उन्हें दफनाया।

ग्रामीणों का कहना है कि इस तरह की घटना इलाके में पहली बार हुई है। कुछ लोगों का यह भी कहना है कि कुछ गोवंश शव नदी में बहकर आए हैं। यह माना जा रहा है कि सरकार मवेशी तस्करों के खिलाफ लगातार कार्रवाई कर रही है। ऐसे में पुलिस से बचने के लिए तस्करों ने गोवंश की हत्या करके उसे नदी या अन्य जगहों पर फेंक दिया होगा।

हालाँकि, लोगों या पुलिस-प्रशासन का यह अंदाजा है। इसके अन्य कारण भी हो सकते हैं, जिसकी जाँच पुलिस कर रही है। पुलिस अधीक्षक राकेश सिंह ने बताया कि पुलिस मवेशी तस्करों पर लगातार कार्रवाई कर रही है। पूरे जिले में मवेशी तस्करों पर नजर रखा जा रहा है और मवेशियों का अवैध रूप से परिवहन करने वालों को पकड़ा जा रहा है।

इस घटना से स्थानीय लोगों में आक्रोश है। उन्होंने इस मामले की जल्द से जल्द जाँच करके दोषियों को अविलंब पकड़ने का आग्रह पुलिस से किया। इसके साथ ही आरोपितों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की भी माँग की। पुलिस ने आरोपितों पर कठोर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है।

जुलाई 2023 में भी सिवनी जिले में 10 गायों का सिर मिला था। उन गायों के सिर को काटकर उनके सिर को सड़क के किनारे और खेतों में फेंक दिए गए थे। वहीं, एक सिर गाँव के कुएँ में भी मिला था। हिंदू संगठनों का कहना था कि दंगे कराने की साजिश के तहत यह सब किया गया है। वहीं, इस घटना का संबंध बकरीद से होने की बात भी कही जा रही है।

मामला सिवनी जिले के बरघाट तहसील अंतर्गत अरी गाँव के अमराई टोला का है। यहाँ 4 जुलाई 2023 की सुबह स्थानीय ग्रामीण खेतों की ओर जा रहे थे, तभी उन्हें सड़क किनारे गायों के सिर कटे हुए दिखाई दिए। इसके बाद यह बात पूरे गाँव में फैल गई। इसी दौरान गाँव के ही गोवर्धन साहू नामक व्यक्ति के कुएँ में भी गाय का कटा हुआ सिर मिला।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -