Tuesday, July 23, 2024
Homeदेश-समाजइधर कोरोना गाइडलाइन के हिसाब से मन रही नवरात्रि, उधर 'तमंचे पर डिस्को' डांस...

इधर कोरोना गाइडलाइन के हिसाब से मन रही नवरात्रि, उधर ‘तमंचे पर डिस्को’ डांस कर रहे आरिफ मिंडी के गुर्गे: देखिए Video

वीडियो में 'तमंचे पर डिस्को' गाने पर लड़कियों के साथ नाचा जा रहा है। इसके अलावा नोटों की बारिश भी साफ देखी जा सकती है। गौर से देखें तो रुस्तमपुर का कुख्यात जफर गोल्डन भी इसमें दिखाई पड़ रहा है।

कोरोना संक्रमण के कारण राज्य सरकार द्वारा लागू किए गए प्रतिबंधों के बीच गुजरात के सूरत से एक डांस पार्टी का वीडियो सामने आया है। इसमें कुख्यात आरिफ मिंडी गैंग के कई लोग नाचते दिख रहे हैं। बताया जा रहा है कि किसी लड़की के बर्थडे के दौरान ये डांस पार्टी भगतलाव (भगत झील) क्षेत्र में आयोजित हुई थी। सोशल मीडिया पर इस पार्टी के कई वीडियो 2-3 दिन से वायरल हैं। वीडियो में देख सकते हैं कि कैसे कोरोना गाइडलाइन्स की धज्जियाँ उड़ाई जा रही हैं।

एक ओर जहाँ राज्य में कोरोना गाइडलाइन को लेकर इतने सख्त निर्देश हैं कि नवरात्रि में रात 12 बजे के बाद गरबा खेलने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। वहीं असामाजिक तत्व खुलेआम नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं। वीडियो में ‘तमंचे पर डिस्को’ गाने पर लड़कियों के साथ डांस किया जा रहा है। इसके अलावा नोटों की बारिश भी साफ देखी जा सकती है। गौर से देखें तो रुस्तमपुर का कुख्यात जफर गोल्डन भी इसमें दिखाई पड़ रहा है।

देख सकते हैं कि पार्टी के नशे में सब ऐसे चूर हो रखे हैं कि किसी को इस बात से मतलब नहीं है कि उनके इर्द-गिर्द छोटे बच्चे भी हैं और वे भी अश्लील डांस पार्टी का हिस्सा बन रहे हैं। वे वहाँ हवा में उछाले जा रहे पैसों को जमीन से उठा रहे हैं।

बता दें कि सूरत के नानपुरा खंडेरवपुरा में आरिफ मिंडी कुख्यात गैंग कुछ दिन पहले युवा कॉन्ग्रेस के महासचिव अफजल रंगूनी पर तलवार से हमला करने के चलते चर्चा में आया था। खबरों के मुताबिक, पार्किंग को लेकर हुए विवाद में 4-5 लोग घायल हुए थे। बाद में दोनों पक्षों के ख़िलाफ़ शिकायत दर्ज हुई थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नेचुरल फार्मिंग क्या है, बजट में क्यों इसे 1 करोड़ किसानों से जोड़ने का ऐलान: गोबर-गोमूत्र के इस्तेमाल से बढ़ेगी किसानों की आय

प्राकृतिक खेती एक रसायनमुक्त व्यवस्था है जिसमें प्राकृतिक संसाधनों का इस्तेमाल किया जाता है, जो फसलों, पेड़ों और पशुधन को एकीकृत करती है।

नारी शक्ति को मोदी सरकार ने समर्पित किए ₹3 लाख करोड़: नौकरी कर रहीं महिलाओं और उनके बच्चों के लिए भी रहने की सुविधा,...

बजट में महिलाओं की हिस्सेदारी कार्यबल में बढ़ाने पर काम किया गया है। इसके अलावा कामकाजी महिलाओं के लिए छात्रावास स्थापित करने का भी ऐलान हुआ।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -