Thursday, July 25, 2024
Homeदेश-समाज'CM योगी ईमानदार और बहादुर': पुलिस की गाड़ी में बैठ बोला गैंगस्टर अतीक अहमद,...

‘CM योगी ईमानदार और बहादुर’: पुलिस की गाड़ी में बैठ बोला गैंगस्टर अतीक अहमद, मीडिया में की UP मुख्यमंत्री की तारीफ; Video

साल 2017 में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बनते ही योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के माफियाओं पर कार्रवाई शुरू कर दी थी। इनमें अतीक अहमद सबसे प्रमुख हैं। अतीक अहमद और उनके करीबियों की अब तक लगभग 1,000 करोड़ की संपत्ति जब्त की जा चुकी है। वहीं, अतीक अहमद के खिलाफ 98 मुकदमे दर्ज हैं।

जेल में बंद बाहुबली नेता और माफिया अतीक अमहद (Atiq Ahmad) ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (UP CM Yogi Adityanath) की जमकर तारीफ की है। अतीक ने कहा कि योगी आदित्यनाथ बहुत ईमानदार और बहादुर मुख्यमंत्री हैं। वे बहुत मेहनत कर रहे हैं।

दरअसल, भारी सुरक्षा के बीच अतीक अहमद को गुजरात के साबरमती जेल से लखनऊ जेल लाया गया है। अतीक को बसपा विधायक राजू पाल हत्याकांड में आज लखनऊ की सीबीआई कोर्ट के सामने पेश किया गया, जहाँ उन पर आरोप तय किए गए। पुलिस वैन में बैठे अतीक से मीडियाकर्मियों ने सवाल पूछा तो वह सीएम योगी का गुणगान करने लगे।

इलाहाबाद (पश्चिमी) से बसपा विधायक राजू पाल की साल 2005 में हत्या कर दी गई थी। इलाहाबाद पश्चिमी सीट पर हुए उपचुनाव में राजू पाल ने अतीक अहमद के भाई अशरफ को हरा दिया था। इसके बाद राजू पाल पर दो बार जानलेवा हमला हुआ था और अंत में 25 जनवरी 2005 को उनकी हत्या कर दी गई। इस केस में अतीक मुख्य आरोपित हैं।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर गुजरात के साबरमती जेल में बंद अतीक अहमद को लखनऊ की एंटी करप्शन स्पेशल कोर्ट में पेश किया था। अतीक 2 साल से गुजरात की साबरमती जेल में बंद हैं और कोरोना काल के बाद उनकी यह पहली पेशी है। इस मामले में अगली सुनवाई 3 नवंबर को होगी।

अतीक अहमद भले सीएम योगी का गुणगान कर रहे हों, लेकिन उनके खिलाफ राज्य सरकार की कार्रवाई जारी है। इनमें अतीक उनके गुर्गों के संपत्तियों की कुर्की शामिल है। अभी 15 अक्टूबर 2022 को ही गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई करते हुए प्रशासन ने 34 करोड़ रुपए की संपत्ति कुर्क कर ली थी।

साल 2017 में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बनते ही योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के माफियाओं पर कार्रवाई शुरू कर दी थी। इनमें अतीक अहमद सबसे प्रमुख हैं। उनके पुराने मामले खुलने लगे और उन पर केस दर्ज किए जाने लगे।

इसके साथ ही प्रशासन ने कुर्की-जब्ती की कार्रवाई भी शुरू कर दी। अतीक अहमद और उनके करीबियों की अब तक लगभग 1,000 करोड़ की संपत्ति जब्त की जा चुकी है। वहीं, अतीक अहमद के खिलाफ 98 मुकदमे दर्ज हैं। अतीक के इस गुणगान के कई अर्थ लगाए जा रहे हैं। कहा जा रहा है कि अपने तबाह हो साम्राज्य में जो कुछ भी बचा है, उसे बचाने के लिए वह मुख्यमंत्री की तारीफ कर रहे हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘वन्दे मातरम’ न कहने वालों को सेना के जवान और डॉक्टर ने Whatsapp ग्रुप में कहा – पाकिस्तान जाओ: सिद्दीकी ने करवा दी थी...

शिकायतकर्ता शबाज़ सिद्दीकी का कहना है कि सेना के जवान और डॉक्टर ने मुस्लिमों की भावनाओ को ठेस पहुँचाई है, उनके भीतर दुर्भावना थी।

कमलेश तिवारी हत्याकांड के साजिशकर्ता को सुप्रीम कोर्ट ने दी जमानत, घटना से पहले हत्यारों से लगातार बात कर रहा था सैयद आसिम अली:...

सैयद आसिम अली पर हत्यारों के संपर्क में रहने और उन्हें कानूनी सहायता उपलब्ध कराने का आरोप है। सर्वोच्च न्यायालय का मानना है कि उसका कोई आपराधिक इतिहास नहीं है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -