Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाज'जामा मस्जिद की सीढ़ियों से जल्द बाहर आएँगे भगवान श्रीकृष्ण': बागेश्वर बाबा का बड़ा...

‘जामा मस्जिद की सीढ़ियों से जल्द बाहर आएँगे भगवान श्रीकृष्ण’: बागेश्वर बाबा का बड़ा ऐलान, कहा- राम मंदिर की तरह खुली रह जाएँगीं आँखें

इससे पहले 15 अप्रैल 2023 को देवकीनंदन ठाकुर ने कहा था कि श्रीकृष्ण जन्मभूमि को मुक्त कराने के लिए बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर के साथ मिलकर राष्ट्रव्यापी आंदोलन चलाया जाएगा। इस आंदोलन में युवाओं की भूमिका अहम होगी। आंदोलन ब्रज भूमि से शुरू होकर आगरा, कानपुर, प्रयागराज होते हुए पूरे देश में पहुँचेगा। इसकी रूप रेखा तैयार कर ली गई है।

बागेश्वर धाम के महंत धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने कहा है कि आगरा स्थित जामा मस्जिद की सीढ़ियों से भगवान श्रीकृष्ण जल्द ही बाहर आएँगे। इससे राम मंदिर की तरह ही लोगों की आँखें खुली रह जाएँगी। उन्होंने यह भी कहा कि काशी विश्वनाथ की तर्ज पर मथुरा में भी कॉरिडोर बनाया जाना चाहिए।

दरअसल, धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री कथावाचक देवकीनंदन ठाकुर द्वारा आयोजित रुद्राभिषेक कार्यक्रम में शामिल होने मथुरा पहुँचे थे। वहाँ उन्होंने कहा है, “हमारे हिसाब से जिस तरह विश्वनाथ जी के मंदिर का कार्य हुआ है, वैसे ही यहाँ भक्तों के लिए बाँके बिहारी का कार्य अगर हो जाए तो बहुत प्रसन्नता होगी।”

इसके बाद उनसे पूछा गया कि कृष्ण भक्तों को और कितना इंतजार करना पड़ेगा? जामा मस्जिद की सीढ़ियों से भगवान कब आएँगे? इस पर उन्होंने कहा, “बहुत जल्द। हमारे दादा भइया लगे हैं। भगवान महादेव के पार्थिव शिवलिंग का यह अनुष्ठान और अष्टोत्तर सद्पाठ श्रीमद्भागवत का मूल पाठ ब्राह्मणों द्वारा इसलिए ही करवाए जा रहे हैं, ताकि भगवान कन्हैया जल्द से जल्द बाहर निकलकर आएँ और सबकी आँखें राम मंदिर की भाँति खुल जाएँ।”

कृष्ण जन्मभूमि में सहयोग को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में उन्होंने कहा है कि वह पूरा सहयोग करेंगे और सबसे आगे रहेंगे। मथुरा में भगवान के संबंधित साक्ष्यों के सवाल पर उन्होंने कहा, “सब ठाकुर जी की लीला है। समय चक्र है। अब हिंदू जाग रहे हैं। सभी कृष्ण भक्त एकत्रित हो रहे हैं। बृजवासी भी एकत्रित हो रहे हैं। पूज्य ज्येष्ठ भ्राताश्री (देवकीनंदन ठाकुर) के नेतृत्व में सब संतों के आशीर्वाद से बहुत जल्द यह इंतजार खत्म होने वाला है।”

गौरतलब है कि इससे पहले 15 अप्रैल 2023 को देवकीनंदन ठाकुर ने कहा था कि श्रीकृष्ण जन्मभूमि को मुक्त कराने के लिए बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर के साथ मिलकर राष्ट्रव्यापी आंदोलन चलाया जाएगा। इस आंदोलन में युवाओं की भूमिका अहम होगी। आंदोलन ब्रज भूमि से शुरू होकर आगरा, कानपुर, प्रयागराज होते हुए पूरे देश में पहुँचेगा। इसकी रूप रेखा तैयार कर ली गई है।

उन्होंने कहा था कि श्रीकृष्ण का मंदिर तोड़कर उनकी मूर्तियाँ आगरा की शाही जामा मस्जिद लाई गई थीं। इसके बाद प्रतिमाएँ मस्जिद की सीढ़ियों में चुनवा दी गई थीं। यह जानते हुए भी लोग मौन हैं। कोर्ट व नेताओं से अपील करेंगे कि उन सीढ़ियों को खुदवाकर मूर्तियाँ निकलवा ली जाएँ। उन्होंने कहा था कि इस कार्य में मस्जिद को कोई नुकसान नहीं होगा।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -