Friday, July 23, 2021
Homeदेश-समाजमहाराष्ट्र: नागपुर में गृह मंत्री अनिल देशमुख के घर के करीब कुल्हाड़ी से काट...

महाराष्ट्र: नागपुर में गृह मंत्री अनिल देशमुख के घर के करीब कुल्हाड़ी से काट डाला, Video वायरल

वायरल वीडियो में देखा जा सकता है कि बेलेकर भोले पेट्रोल पंप चौक के ट्रैफिक सिग्नल पर रुकता है। तभी मोटरसाइकल सवार युवकों का समूह उसकी कार के एकदम समीप आ जाता है। वे बेलेकर को गाड़ी से बाहर निकालते हैं और कुल्हाड़ियों और अन्य धारदार हथियारों से उसकी हत्या कर देते हैं।

महाराष्ट्र के नागपुर से एक वीडियो सामने आया है। वीडियो में महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख के आवास के करीब स्थित व्यस्त सिटी स्क्वायर पर एक शख्स को मारते हुए देखा जा सकता है। मारे गए शख्स की पहचान जुआ अड्डा मालिक किशोर उर्फ बाल्या बेलेकर के रूप में हुई है। घटना एक सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई।

बेलेकर का एक लंबा आपराधिक रिकॉर्ड रहा है। उसकी हत्या करने वाला 2001 में मारे गए एक शख्स का बेटा बताया जा रहा है।

वायरल वीडियो में देखा जा सकता है कि बेलेकर भोले पेट्रोल पंप चौक के ट्रैफिक सिग्नल पर रुकता है। तभी मोटरसाइकल सवार युवकों का समूह उसकी कार के एकदम समीप आ जाता है और फिर आगे आकर कार को रोक देता है। इसके बाद वे बेलेकर को गाड़ी से बाहर निकालते हैं और कुल्हाड़ियों और अन्य धारदार हथियारों से उसकी हत्या कर देते हैं

जहाँ पर यह घटना हुई है, महाराष्ट्र राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख का आवास वहाँ से मुश्किल से 1 किमी दूर है।

पुलिस कमिश्नर अमितेश कुमार ने कहा कि उन्होंने 2001 में मारे गए बेलेकर के बेटे को गिरफ्तार किया है। उन्होंने बताया कि बेलेकर भी जुए का अड्डा चला रहा था और 1995 से ही उसके खिलाफ कई अपराध में केस दर्ज हैं। उन्होंने आगे बताया कि मामले में अज्ञात हमलावरों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

काशी विश्वनाथ मंदिर की हुई ज्ञानवापी मस्जिद की 1700 फीट जमीन

काशी विश्‍वनाथ मंदिर प्रशासन और ज्ञानवापी मस्जिद पक्ष की ओर से पहले ही इस मामले पर सहमति बातचीत के दौरान बनी थी।

‘कौन है स्वरा भास्कर’: 15 अगस्त से पहले द वायर के दफ्तर में पुलिस, सिद्धार्थ वरदराजन ने आरफा और पेगासस से जोड़ दिया

इससे पहले द वायर की फर्जी खबरों को लेकर कश्मीर पुलिस ने उनको 'कारण बताओ नोटिस' जारी किया था। उन पर मीडिया ट्रॉयल में शामिल होने का भी आरोप है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
110,891FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe