Tuesday, October 19, 2021
Homeदेश-समाज'एक बार दिखा दे बस': वीडियो कॉल पर अपनी बेटियों से प्राइवेट पार्ट दिखाने...

‘एक बार दिखा दे बस’: वीडियो कॉल पर अपनी बेटियों से प्राइवेट पार्ट दिखाने को बोलता था मोहम्मद मोहफिज, आज भेजा गया जेल

पुलिस ने यह भी बताया कि मोहफिज के ख़िलाफ़ उसकी ही बेटी ने खुद एफआईआर करवाई है। मामले में पीड़िताओं के लिए आवाज उठाने वाले बजरंग दल के प्रदेश सह संयोजक शुभम भारद्वाज ने भी इस गिफ्तारी के बारे में बताते हुए कहा कि पीड़िता ने भी आज कोर्ट में अपना बयान दिया है।

बिहार के बेगूसराय में अपनी बेटियों के साथ दुष्कर्म व दुष्कर्म का प्रयास करने वाले मोहम्मद मोहफिज को आज (सितंबर 18, 2020) कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया। इसकी पुष्टि इलाके के थाना एसएचओ ने स्वयं की। पुलिस अधिकारी ने बताया कि मोहफिज के ख़िलाफ़ कल मामला दर्ज हुआ था और अब उसे गिरफ्तार करके जेल भेजा जा चुका है।

पुलिस ने यह भी बताया कि मोहफिज के ख़िलाफ़ उसकी ही बेटी ने खुद एफआईआर करवाई है। मामले में पीड़िताओं के लिए आवाज उठाने वाले बजरंग दल के प्रदेश सह संयोजक शुभम भारद्वाज ने भी इस गिफ्तारी के बारे में बताते हुए कहा कि पीड़िता ने भी आज कोर्ट में अपना बयान दिया है। अब उसका मेडिकल होना बाकी है। इससे पहले शुभम ने जानकारी दी थी कि लड़की की शिकायत पर ये केस धारा 376, 377 और पॉक्सो एक्ट के तहत रजिस्टर हो गया है।

उल्लेखनीय है कि इस घटना के संबंध में 17 सितंबर यानी कल खुलासा हुआ था। इसके बाद ऑपइंडिया ने इस पर विस्तृत रिपोर्ट करते हुए बताया था कि मोहम्मद मोहफिज पर अपनी एक नाबालिग बेटी से रेप और दो अन्य नाबालिग बेटियों के साथ दुष्कर्म की कोशिश का आरोप लगा है। पिछले कई सालों से दुबई में काम करने वाला मोहफिज वीडियो कॉल पर अपनी बेटियों के सामने अश्लील हरकतें करता था और घर लौटकर उनका यौन शोषण भी करता था।

ऑपइंडिया ने इस संबंध में आरोपित की बड़ी बेटी सलमा (बदला हुआ नाम) से बात की थी। सलमा ने हमें बताया था कि कुछ समय बाद वह 18 साल की होने वाली है, लेकिन पिता उसके साथ ऐसी हरकतें तब से कर रहे हैं, जब वह 12-13 साल की थी।

सलमा के मुताबिक, मोहफिज उसके साथ 2-3 बार संबंध बना चुका है और उसकी बहनों 14 वर्षीय बहन नगमा (बदला हुआ नाम) और 12 वर्षीय बहन फरहीन (बदला हुआ नाम) को न जाने कितनी बार संबंध बनाने के लिए अपने सामने नंगा कर चुका है। पीड़ित लड़की की मानें तो उनका घर में सोना भी दूभर हो गया था। उनका पिता कभी भी उनके कपड़ों में हाथ डाल देता था और शारीरिक संबंध स्थापित करने की कोशिश करता था।

पीड़िता का कहना था कि शुरुआत में उन लोगों ने अपने पिता की हरकतों की शिकायत अपनी माँ से की थी, मगर माँ को लगता था कि शायद बच्चियाँ पिता के दुलार को गलत समझ रही है। हालाँकि, जब यह सब ज्यादा होने लगा तो बेटियों ने अपनी माँ को सबूत दिखाया जिसे देख माँ भी हक्का-बक्का रह गई। माँ ने इस संबंध में अपने शौहर से बात की, लेकिन मोहफिज ने अपनी बीवी की सुनने की बजाय उससे लड़ना शुरू कर दिया। इसके बाद अधिक विरोध करने पर एक दिन मोहफिज ने अपनी बीवी को जान से मारने की कोशिश की। मगर, जब वह बच गई तो उन्हें गलत इलाज देकर मार डाला गया।

सलमा ने हमें बताया कि माँ की मृत्यु के बाद से ही मोहफिज उस पर शादी का दबाव बना रहा था और उन्हें घर में कैद कर रखा हुआ था। उनके पास कोई फोन भी नहीं था। बड़ी मुश्किल से एक दिन सारी बातें लड़कियों ने अपनी नानी को बताई। नानी से यह बात उनके मामा को पता चली और जब उन्होंने आवाज उठाई तो मोहफिज ने उनके हाथ में पिस्टल देकर उन्हें झूठे इल्जाम में फँसवा दिया।

इसके बाद 16 सितंबर को लड़कियाँ किसी तरह बजरंग दल के पास पहुँची और उन्हें इंसाफ दिलाने का बीड़ा स्वयं शुभम भारद्वाज ने उठाया। लड़कियाँ बताती है कि उन्हें बजरंग दल से बहुत मदद मिली। उन्हीं के साथ वह थाने आई और फिर उनके पिता के ख़िलाफ़ शिकायत करवाई। इसके बाद मोहफिज को गिरफ्तार किया गया।

बता दें सबूत के तौर पर आरोपित मोहफिज की कुछ अश्लील वीडियोज सामने आई हैं। इनमें से एक वीडियो में देखा जा सकता है कि वह अपनी लड़कियों से वीडियो कॉल पर प्राइवेट पार्ट्स दिखाने को कह रहा है। वीडियो में उसे ‘एक बार दिखा दे बस’ कहते सुना जा सकता है।

उल्लेखनीय है कि बजरंग दल ने इस मामले की सुनवाई फास्टट्रैक कोर्ट में करने की माँग उठाई है। साथ ही सरकार, जिला प्रशासन से बच्चियों को आर्थिक मदद देने के साथ-साथ, उनकी माँ की मृत्यु और मामा के ख़िलाफ़ दर्ज केस में जाँच की माँग की है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बांग्लादेश के हमलावर मुस्लिम हुए ‘अराजक तत्व’, हिंदुओं का प्रदर्शन ‘मुस्लिम रक्षा कवच’: कट्टरपंथियों के बचाव में प्रशांत भूषण

बांग्लादेश में हिंदू समुदाय के नरसंहार पर चुप्पी साधे रखने के कुछ दिनों बाद, अब प्रशांत भूषण ने हमलों को अंजाम देने वाले मुस्लिमों की भूमिका को नजरअंदाज करते हुए पूरे मामले में ही लीपापोती करने उतर आए हैं।

‘हिंदी राष्ट्रभाषा है, थोड़ी-बहुत सबको आनी चाहिए’: ये कहने पर Zomato ने कर्मचारी को कंपनी से निकाला, तमिल ग्राहक ने की थी शिकायत

फ़ूड डिलीवरी कंपनी Zomato ने अपने एक कस्टमर केयर कर्मचारी को फायर कर दिया, क्योंकि उसने कहा था कि थोड़ी-बहुत हिंदी सबको आनी चाहिए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,963FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe