Friday, July 19, 2024
Homeदेश-समाज'बोलो मियाँ साहेब ज़िंदाबाद, अल्लाह-हू-अकबर'... बिहार में किशोर को पैर पर थूक कर चाटने...

‘बोलो मियाँ साहेब ज़िंदाबाद, अल्लाह-हू-अकबर’… बिहार में किशोर को पैर पर थूक कर चाटने को मजबूर किया, छड़ी और थप्पड़ से ताबड़तोड़ पिटाई का वीडियो

बिहार पुलिस भी इस घटना की सूचना मिलने के बाद हरकत में आई और 3 युवकों को गिरफ्तार किया। वायरल वीडियो में देखा जा सकता है कि बंद कमरे में एक लड़का बोरे पर बैठा हुआ है।

बिहार के मुजफ्फरपुर से एक वीडियो सामने आया है, जो हैरान कर देने वाला है। मामला मोतीपुर के बतरौल गाँव का है। एक 15 साल के लड़के को पकड़ कर न सिर्फ कमरे में बंधक बनाया गया, बल्कि बेरहमी से उसकी पिटाई भी की गई। पीटने वाले शख्स ने उसे अपने पैरों पर थूक कर उसे चाटने के लिए कहा, जब तक उसने ऐसा नहीं किया तब तक उसकी पिटाई की जाती रही। क्षेत्र में इस वीडियो के सामने आने के बाद तनाव का माहौल बना हुआ ह

बुरी तरह पिटाई होने के कारण पीड़ित किशोर का एक हाथ भी फ्रैक्चर हो गया है। बिहार पुलिस भी इस घटना की सूचना मिलने के बाद हरकत में आई और 3 युवकों को गिरफ्तार किया। वायरल वीडियो में देखा जा सकता है कि बंद कमरे में एक लड़का बोरे पर बैठा हुआ है, वहीं हाथ में छड़ी लेकर एक युवक उसके सामने खड़ा है। उसने छड़ी और थप्पड़ से कई बार बोरे पर बैठे लड़के की पिटाई की। साथ ही उस से इस्लाम के मजहबी नारे लगाने के लिए भी कहा।

वहीं वीडियो में एक अन्य लड़के की आवाज़ भी आ रही होती है। वीडियो में आरोपित कह रहा है कि ‘अल्लाह-हू-अकबर’ का नारा लगाने पर ही वो पीड़ित को जाने देगा। वहीं आरोपितों ने ही इस पूरी घटना का वीडियो बना कर सोशल मीडिया पर डाला है। फ़िलहाल गाँव में मोतीपुर थाने की पुलिस कैम्प कर रही है। दोनों पक्षों और स्थानीय जनप्रतिनिधियों से बात की जा रही है। आरोपित कह रहे हैं कि ये मामला क्रिकेट के विवाद का है, इसी को लेकर मारपीट हुई है।

आरोपितों की पहचान मोहम्मद मुन्ना और साहिल के रूप में हुई है। फ़िलहाल इलाके में तनाव को लेकर धारा-144 लागू कर दी गई है। मोतीपुर थानाध्यक्ष राजन कुमार पांडेय ने कहा कि पीड़ित किशोर के पिता के बयान पर 4 नामजद और 2 अज्ञात आरोपितों के खिलाफ FIR दर्ज की गई है। 3 आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है, जबकि बाकी अपना-अपना घर छोड़ कर फरार हैं। बिहार में हाल के दिनों में कई आपराधिक घटनाएँ सामने आई हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -