Thursday, August 5, 2021
Homeदेश-समाजकेरल: पथराव के बाद बीजेपी नेता की कार को ट्रक ने मारी टक्कर, मोदी...

केरल: पथराव के बाद बीजेपी नेता की कार को ट्रक ने मारी टक्कर, मोदी की प्रशंसा पर CPI ने पार्टी से निकाला था

अब्दुल्लाकुट्टी मलप्पुरम के पास जलपान के लिए रुके थे तब कुछ अज्ञात लोगों ने कथित तौर पर उनके साथ दुर्व्यवहार किया और उन्हें गालियाँ दी। अब्दुल्लाकुट्टी ने आरोप लगाया कि होटल छोड़ने के बाद उनकी कार का पीछा किया गया। इसके बाद एक ट्रक ने उनकी कार को दो बार टक्कर मारी।

भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एपी अब्दुल्लाकुट्टी पर कल रात तिरुवनंतपुरम से कन्नूर जाते समय जानलेवा हमला किया गया। कथित तौर पर उनकी कार को रंधानाथि में एक ट्रक ने पीछे से टक्कर मार दी।

खबरों के मुताबिक जब अब्दुल्लाकुट्टी मलप्पुरम के पास जलपान के लिए रुके थे तब कुछ अज्ञात लोगों ने कथित तौर पर उनके साथ दुर्व्यवहार किया और उन्हें गालियाँ दी। अब्दुल्लाकुट्टी ने आरोप लगाया कि होटल छोड़ने के बाद उनकी कार का पीछा किया गया। इसके बाद एक ट्रक ने उनकी कार को दो बार टक्कर मारी। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि कुछ अज्ञात लोगों ने उनकी कार पर पत्थर भी फेंके।

अब्दुल्लाकुट्टी ने कहा कि, “मेरी कार को दो बार टक्कर मारा गया था। बाद में ड्राइवर ने कहा कि उसे नींद आ गई थी। लेकिन यह सच नहीं है। होटल छोड़ने के बाद कुछ लोग हमारा पीछा कर रहे थे।” मलप्पुरम के एसपी अब्दुल करीम ने बताया कि घटना में दो अलग-अलग मामले दर्ज किए गए हैं और ट्रक चालक को पूछताछ के लिए बुलाया गया है। हम यह पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि ऐसा जानबूझकर किया गया था या एक दुर्घटना थी। वहीं केरल भाजपा अध्यक्ष के सुरेंद्रन ने कहा है कि इस घटना के खिलाफ पार्टी राज्यभर में प्रदर्शन करेगी।

गौरतलब है कि अब्दुल्लाकुट्टी पहले माकपा (CPI) के सदस्य थे। 1999 और 2009 में संसद के लिए चुने गए थे। 2009 में नरेंद्र मोदी की सराहना करने पर उन्हें सीपीआई ने पार्टी से निकाल दिया था। बाद में वे कॉन्ग्रेस में शामिल हो गए। लेकिन प्रधानमंत्री मोदी के स्वच्छ भारत मिशन की खुलकर प्रशंसा करने के बाद उन्हें कॉन्ग्रेस ने भी निष्कासित कर दिया था। इसके बाद वह भाजपा में शामिल हुए। उन्हें हाल ही में पार्टी का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया गया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अगर बायोलॉजिकल पुरुषों को महिला खेलों में खेलने पर कुछ कहा तो ब्लॉक कर देंगे: BBC ने लोगों को दी खुलेआम धमकी

बीबीसी के आर्टिकल के बाद लोग सवाल उठाने लगे हैं कि जब लॉरेल पैदा आदमी के तौर पर हुए और बाद में महिला बने, तो यह बराबरी का मुकाबला कैसे हुआ।

दिल्ली में कमाल: फ्लाईओवर बनने से पहले ही बन गई थी उसपर मजार? विरोध कर रहे लोगों के साथ बदसलूकी, देखें वीडियो

दिल्ली के इस फ्लाईओवर का संचालन 2009 में शुरू हुआ था। लेकिन मजार की देखरेख करने वाला सिकंदर कहता है कि मजार वहाँ 1982 में बनी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,029FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe