Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाजमायावती सरकार में मंत्री रहा इनामी याकूब कुरैशी बेटा समेत गिरफ्तार, ₹100 करोड़ की...

मायावती सरकार में मंत्री रहा इनामी याकूब कुरैशी बेटा समेत गिरफ्तार, ₹100 करोड़ की संपत्ति हो चुकी है कुर्क: अवैध मांस के कारोबार में था पूरा परिवार

मेरठ की खरखौदा पुलिस ने दिल्ली के चाँदनी महल थाना क्षेत्र से दोनों को गिरफ्तार किया है। याकूब कुरैशी अपने बेटे के साथ एक फ्लैट में किराए पर रह रहा था।

उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती के करीबी और बसपा सरकार में मंत्री रहे याकूब कुरैशी और उसके बेटे को गिरफ्तार किया गया है। दोनों बीते 9 महीने से फरार थे। अवैध मांस का व्यापार करने के आरोप में याकूब और उसके बेटे पर 50-50 हजार का इनाम घोषित था।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, मेरठ की खरखौदा पुलिस ने दिल्ली के चाँदनी महल थाना क्षेत्र से दोनों को गिरफ्तार किया है। याकूब कुरैशी अपने बेटे के साथ एक फ्लैट में किराए पर रह रहा था। पुलिस ने शनिवार (7 जनवरी, 2022) को रात करीब 2 बजे छापेमार कार्रवाई करते हुए यह गिरफ्तारी की है।

अवैध मांस व्यापार मामले में परिवार सहित आरोपित है याकूब..

उत्तर प्रदेश पुलिस ने अन्य विभागों के साथ मिलकर 31 मार्च, 2022 को याकूब की अवैध मांस फैक्ट्री में छापा मारा था। इस कार्रवाई में पुलिस ने पाँच करोड़ रुपए की कीमत का अवैध मांस पकड़ा था। यही नहीं, पुलिस ने अवैध मांस की पैकेजिंग करते हुए 10 लोगों को रंगे हाथ गिरफ्तार किया था।

इस मामले में पुलिस ने याकूब कुरैशी, उसकी पत्नी संजीदा बेगम, दोनों बेटे इमरान और फिरोज समेत 17 लोगों को नामजद आरोपी बनाया था। इसके बाद, कोर्ट में पेश न होने के कारण पुलिस ने याकूब और उसके परिवार पर 25 हजार रुपए का इनाम घोषित किया था। साथ ही उसके घर पर कुर्की वॉरंट चस्पा कर अदालत में पेश होने का आदेश जारी किया गया था।

इसके बाद भी, ये कोर्ट में पेश नहीं हुआ। इस दौरान, कोर्ट के आदेश के बाद 100 करोड़ रुपए से अधिक की संपत्ति भी कुर्क की गई थी। बता दें कि याकूब कुरैशी का एक बेटा फिरोज पहले ही गिरफ्तार हो चुका है। वहीं, फरार आरोपितों पर 50 हजार रुपए का इनाम रखने के साथ ही, गैंगेस्टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था। इस मामले में, अब पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए याकूब और उसके बेटे को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। वहीं, उसकी पत्नी संजीदा बेगम की गिरफ्तारी पर हाई कोर्ट ने रोक लगा रखी है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

US में पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को लगी गोली, हमलावर सहित 2 की मौत: PM मोदी ने जताया दुख, कहा- ‘राजनीति में हिंसा की...

गोलीबारी के दौरान सुरक्षाबलों ने हमलावर को मार गिराया। इस हमले में डोनाल्ड ट्रंप घायल हो गए और उनके कान से निकला खून उनके चेहरे पर दिखा।

छात्र झारखंड के, राष्ट्रगान बांग्लादेश-पाकिस्तान का, जनजातीय लड़कियों से ‘लव जिहाद’, फिर ‘लैंड जिहाद’: HC चिंतित, मरांडी ने की NIA जाँच की माँग

झारखंड में जनजातीय समाज की समस्या पर भाजपा विरोधी राजनीतिक दल भी चुप रहते हैं, जबकि वो खुद को पिछड़ों का रहनुमा कहते नहीं थकते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -