Tuesday, July 23, 2024
Homeदेश-समाजCAA-NRC समर्थन का अनूठा तरीका: UP में कपल ने शादी कार्ड तो पर्वतारोही ने...

CAA-NRC समर्थन का अनूठा तरीका: UP में कपल ने शादी कार्ड तो पर्वतारोही ने सबसे ऊँची चोटी पर लहराया बैनर

“मैं दुनिया को बताना चाहता हूँ कि भारतीय CAA को लेकर क्या महसूस करते हैं और मैं अपने देशवासियों से यह भी कहना चाहता हूँ कि हमें CAA का सपोर्ट करना चाहिए।”

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) व राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) को लेकर लोग अलग-अलग तरीके से समर्थन जता रहे हैं। उत्तर प्रदेश के चन्दौसी में एक कपल ने CAA व NRC के समर्थन का अनूठा तरीका निकाला है। कपल ने अपने विवाह के निमंत्रण पत्र में सीएए व एनआरसी के सर्मथन की घोषणा की है।

बता दें कि मोहित मिश्रा और सोनम पाठक 3 फरवरी 2020 को शादी के बँधन में बँधने वाले हैं। कपल ने विवाह आयोजन के लिए तैयार किए गए निमंत्रण कार्ड में वैवाहिक कार्यक्रमों के साथ यह भी विशेष तौर पर छपवाया है, “हम सीएए व एनआरसी का समर्थन करते हैं।” अब यह निमंत्रण कार्ड वितरित किए जा रहे हैं। कपल के परिवार का मानना है कि उन्हें अपने विचारों की अभिव्यक्ति का अधिकार है। इसलिए उन्होंने अपने विचारों को अन्य लोगों तक पहुँचाने के लिए यह तरीका अपनाया है।

इसी तरह से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) पदाधिकारी और पर्वतारोही विपिन चौधरी ने नागरिकता संशोधन कानून को अपना समर्थन देने के लिए अनोखा तरीका अपनाया है। उन्होंने नागरिक संशोधन कानून के समर्थन में दक्षिण अमेरिका स्थित सबसे ऊँचे पर्वत एकोनकागुआ पर CAA समर्थन का बैनर फहराया है।

उन्होंने द प्रिंट को बताया कि वो 1 जनवरी को एकोनकागुआ की चोटी पर पहुँचे थे। वहाँ पर पहुँचने के बाद सबसे पहले उन्होंने तिरंगा लहराया और फिर उसके बाद उन्होंने एक बैनर लहराया। उस बैनर पर लिखा था, “मैं नागरिकता संशोधन कानून का समर्थन करता हूँ।” विपिन चौधरी ने आगे कहा, “मैं दुनिया को बताना चाहता हूँ कि भारतीय CAA को लेकर क्या महसूस करते हैं और मैं अपने देशवासियों से यह भी कहना चाहता हूँ कि हमें CAA का सपोर्ट करना चाहिए।” 

उन्होंने बताया कि जब उन्होंने 18 दिसंबर को अर्जेंटीना के एकोनकागुआ पर चढ़ाई शुरू की थी तो तब तक तब तक नागरिक संशोधन विधेयक पास हो चुका था और उसके खिलाफ प्रदर्शन शुरू हो चुके थे। उन्होंने कहा कि वह अपने साथ कानून के समर्थन वाला बैनर लेकर गए थे। उन्होंने वहाँ पर नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन वाला बैनर लहराकर अपनी विचारधारा की प्रतिबद्धता को दोहराया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -