Saturday, July 20, 2024
Homeदेश-समाज'बिजली चोरों ने बिछाए तार, झारखंड में 2 भैंसों की मौत': शवों को निकाल...

‘बिजली चोरों ने बिछाए तार, झारखंड में 2 भैंसों की मौत’: शवों को निकाल रहे लोगों पर मुस्लिम भीड़ ने बोला हमला, कहा – हिन्दुओं से खाली कराई जाएँ जमीनें

कुछ ही देर की बहस के बाद पथराव शुरू हो गया। पथराव की चपेट में आ कर दोनों तरफ के लगभग 1 दर्जन लोग घायल हो गए। हालात काबू करने के लिए मौके पर पुलिस बल पहुँचा। हिंसक भीड़ ने पुलिस वालों पर भी पत्थर फेंके।

झारखंड के बोकारो में सांप्रदायिक तनाव की खबर है। यहाँ करेंट लगने से 2 भैंसों की मौत होने के बाद 2 समुदाय के लोग आमने-सामने आ गए। दोनों तरफ से पत्थरबाजी की गई जिसमें लगभग एक दर्जन लोग घायल हो गए। घायलों में पुलिसकर्मी भी शामिल हैं। हालात सँभालने के लिए पुलिस ने आँसू गैस के गोले छोड़े। मामले की जाँच की जा रही है। घटना सोमवार (17 जून, 2024) की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, घटना बोकारो के विकास नगर इलाके की है। सोमवार को यहाँ के भर्रा पुल क्षेत्र में गुजर रहे बिजली के तारों की चपेट में 2 भैंसे आ गईं। ये दोनों मृत भैंसे दूध के एक कारोबारी की थीं। इस घटना के बाद एक पक्ष भड़क गया। उसका आरोप था कि जिन तारों के करेंट से भैंसों की मौत हुई हैं वो बिजली चोरी करने वालों द्वारा बिछाए गए है। तारों को काट कर मृत भैंसों को निकालने के प्रयास किए जा रहे थे। तभी मुस्लिम पक्ष के लोग मौके पर पहुँच गए। दोनों पक्षों में बहस शुरू हो गई।

बताया जा रहा है कि कुछ ही देर की बहस के बाद पथराव शुरू हो गया। पथराव की चपेट में आ कर दोनों तरफ के लगभग 1 दर्जन लोग घायल हो गए। हालात काबू करने के लिए मौके पर पुलिस बल पहुँचा। हिंसक भीड़ ने पुलिस वालों पर भी पत्थर फेंके। पत्थरबाजी में 2 पुलिसकर्मी चोटिल हो गए। आँसू गैस के गोले छोड़ कर हिंसा को काबू किया गया। घायलों का अस्पताल में इलाज करवाया गया। हालात कबूल करने के लिए मौके पर अतिरिक्त फ़ोर्स की तैनाती कर दी गई है। दोनों ही पक्ष एक दूसरे पर हमले का आरोप लगा रहे हैं।

जिस मालिक की दोनों भैंसे मरी थीं वो प्रशासन से मुआवजे की माँग कर रहे थे। दोनों पक्षों को बिठा कर समझाया गया है। मुस्लिम समुदाय के लोगों ने हिन्दुओं पर अवैध जमीन कब्ज़ा कर के रहने का आरोप लगाया। उन्होंने प्रशासन से फ़ौरन ही हिन्दुओं से वो जमीन खाली करवाने की माँग की। पुलिस मामले की जाँच कर रही है। पुलिस का कहना है कि हिंसा के असल कारणों की पड़ताल कर के आरोपितों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -