Monday, July 6, 2020
Home देश-समाज 'डांग आदिवासियों की घरवापसी से घबराए वेटिकन के ईसाई लीडर्स से लेकर सोनिया गाँधी...

‘डांग आदिवासियों की घरवापसी से घबराए वेटिकन के ईसाई लीडर्स से लेकर सोनिया गाँधी ने किया था क्षेत्र का दौरा’

मशहूर स्टैंड अप कॉमेडियन नितिन गुप्ता 'रिवाल्डो' ने ट्विटर पर एक ऐसे ही किस्से को शेयर करते हुए बताया है कि ईसाई मिशनरियों द्वारा 'आटा-चावल' देकर किए गए आदिवासियों के धर्मांतरण को रोकने के लिए जब स्वामी असीमानंद ने प्रयास किए थे, तब किस तरह से इटली से लेकर कॉन्ग्रेस नेता सोनिया गाँधी तक विचलित हो गए थे।

ये भी पढ़ें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

महाराष्ट्र के पालघर में हुई संतों की मॉब लिंचिंग और उसके पीछे ईसाई मिशनरी की भूमिका निरंतर संदेह के घेरे में है। इसी प्रकरण में सोनिया गाँधी की चुप्पी की भी चर्चा हुई जो कि एक अलग ही मामला बना हुआ है। आदिवासी बहुल जगहें ईसाई मिशनरियों के निशाने पर एक लंबे अरसे से रही हैं।

इसी के विरोध में हिन्दू संगठन अतीत में भी काफी संख्या में इन आदिवासियों को ‘घरवापसी’ कार्यक्रम के अंतर्गत वापस हिन्दू धर्म में लेकर आए थे। इन्हीं में से एक किस्सा है गुजरात के डांग जिले का जहाँ स्वामी असीमानंद ने करीब 150 आदिवासियों की घरवापसी करवाई थी, जिसके बाद कॉन्ग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी ने खुद वहाँ का दौरा किया था।

मशहूर स्टैंड अप कॉमेडियन नितिन गुप्ता ‘रिवाल्डो’ ने ट्विटर पर एक ऐसे ही किस्से को शेयर करते हुए बताया है कि ईसाई मिशनरियों द्वारा ‘आटा-चावल’ देकर किए गए आदिवासियों के धर्मांतरण को रोकने के लिए जब स्वामी असीमानंद ने प्रयास किए थे, तब किस तरह से इटली से लेकर कॉन्ग्रेस नेता सोनिया गाँधी तक विचलित हो गए थे।

आतिश तासीर की माँ तवलीन सिंह ने ट्विटर पर महाराष्ट्र में 2 साधुओं और उनके ड्राइवर की मॉब लिंचिंग के मुद्दे को महज ‘आदिवासियों द्वारा चोर समझ लेने की घटना’ साबित करने का प्रयास करते हुए ट्वीट किया –

“तुम वापस मुझ पर जहर थूक रहे हो!! लिंचिंग होती ही है आतंकित करने के लिए। साधुओं को एक आदिवासी भीड़ ने चोर समझकर गलतफहमी में मारा। गृह मंत्री ने इस पर ऐसे जोर देकर बोला है जैसा कि किसी वास्तविक लिंचिंग के बाद भी उन्होंने कभी कोई बयान नहीं दिया था।”

नितिन गुप्ता ने तवलीन सिंह के इस ट्वीट को रीट्वीट करते हुए लिखा –

“डांग हमेशा ही मिशनरियों का पसंदीदा जगह रही। 1988 में स्वामी असीमानंद ने 40 हजार आदिवासियों की घरवापसी करवाई। इस घटना ने इतनी हलचल पैदा की कि वेटिकन के ईसाई नेताओं से लेकर सोनिया गाँधी तक ने डांग का दौरा किया। इसके बाद 2007 में स्वामी असीमानंद का नाम समझौता ब्लास्ट में घसीटा गया। और 2019 में NIA कोर्ट ने उन्हें बरी कर दिया।”

अगले ट्वीट ने नितिन गुप्ता ने लिखा है-

“आदिवासियों के ईसाई धर्मांतरण में हिन्दू साधू-संत बहुत बड़ी दीवार हैं। पालघर में आरोपितों के नाम आपको वास्तविकता बताने के लिए काफी नहीं हैं। आदिवासी धर्मांतरण के बाद भी अपना नाम नहीं बदलते हैं। इस तरह वो अपने मूल नाम के साथ ही आरक्षण का लाभ भी उठाते रहते हैं।”

“मिशनरी आदिवासियों को धर्मांतरण के बदले खाना और दवाइयाँ उपलब्ध करवाते हैं। इस लिए देशव्यापी लॉकडाउन एक अच्छा मौका है। कुछ दिन पहले ही डॉ. वाल्वी की भी पालघर में पिटाई की गई। अन्य स्रोतों से की जा रही मदद से धर्मांतरण के टारगेट में समस्या आती?”

डॉक्टर विश्वास वाल्मीकि स्थानीय आदिवासियों के बीच एक जाना पहचाना चेहरा हैं, बावजूद इसके उनके साथ राशन बाँटते समय मारपीट की गई।

उल्लेखनीय है कि कुछ दिन पहले की महाराष्ट्र के पालघर में 2 नागा साधुओं की स्थानीय आदिवासियों द्वारा मॉब लिंचिंग की गई। इसमें 2 साधुओं के अलावा उनके एक ड्राइवर को भी जान से मार दिया गया। मुख्यधारा की मीडिया के साथ ही तमाम राजनीतिक दलों के द्वारा भी इसे महज गलतफहमी के कारण की गई हत्या साबित करने का प्रयास किया जा रहा है।

हालाँकि इस मॉब लिंचिंग के मूल में क्या है, यह अभी तक भी सामने नहीं आ पाया है। यही वजह है कि सोशल मीडिया पर यह एक बड़ा विषय बनकर उभरा है जिसने ईसाई मिशनरियों द्वारा सदियों से किए जा रहे गुपचुप धर्मांतरण जैसे मुद्दों पर भी प्रकाश डाला है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

ख़ास ख़बरें

भास्कर पत्रकार AIIMS की चौथी फ्लोर से कूदे, दोस्तों से ग्रुप में कह रहे थे – ‘मुझे बचा लो, आज कुछ कर लूँगा’

AIIMS में 'दैनिक भास्कर' के एक कैंसर पीड़ित और कोरोना संक्रमित पत्रकार ने आत्महत्या की कोशिश की। तरुण सिसोदिया नाम के पत्रकार ने...

गलवान में 2 KM पीछे हटा चीन, भारत की बड़ी कूटनीतिक जीत: कमाण्डर स्तर वार्ता में ठंडा पड़ा ड्रैगन

फिजिकल वेरिफिकेशन के बाद पाया गया कि गलवान संघर्ष स्थल से चीन की सेना 2 किलोमीटर पीछे चली गई है। ये एक तरह से भारत की कूटनीतिक जीत है।

शादी के बाद मायके आई वैष्णवी पर शेख अल्ताफ ने किए धारधार हथियार से 21 वार, 4-5 महीने से पड़ा था पीछे

वैष्णवी की गलती सिर्फ़ इतनी थी कि वह शादी के बाद सहेली और माँ के साथ बाजार गई। उसके पड़ोस में रहने वाले अल्ताफ की नजर उस पर पड़ी और...

104 साल की उम्र में आनंदी झा ने कोरोना को हराया, आज भी किलो भर खाते हैं माछ; दूध-मिठाई की पूछिए ही मत

आनंदी झा केवल एक नाम नहीं है। न महाराष्ट्र में कोरोना को मात देने वाले सबसे बुजुर्ग इंसान की पहचान। वे प्रतीक हैं जीवटता की, जिजीविषा की।

7 मुस्लिम परिवारों ने स्वेच्छा से अपनाया हिंदू धर्म: दिल्ली पुलिस के सब-इंस्पेक्टर (रिटायर्ड) भी शामिल

हरियाणा के सोनीपत जिले के भोगीपुर में 7 मुस्लिम परिवारों ने स्वेच्छा से हिन्दू धर्म अपना लिया। ये गाँव दिल्ली से 70 किमी दूरी पर स्थित है।

भारत, नेपाल, रूस के बाद अब भूटान की जमीन पर चीन का दावा: GEF ने दावा किया दरकिनार

GEF ने भूटान के त्राशीगंज एक ऑनलाइन बैठक में वहाँ वाइल्डलाइफ पार्क बनाने का निर्णय लिया था, जो चीन को रास नहीं आया। भारत ने जताई आपत्ति।

प्रचलित ख़बरें

‘…कभी नहीं मानेंगे कि हिन्दू खराब हैं’ – जब मानेकशॉ के कदमों में 5 Pak फौजियों के अब्बू ने रख दी थी अपनी पगड़ी

"साहब, आपने हम सबको बचा लिया। हम ये कभी नहीं मान सकते कि हिन्दू ख़राब होते हैं।" - सैम मानेकशॉ की पाकिस्तान यात्रा से जुड़ा एक किस्सा।

जातिवाद के लिए मनुस्मृति को दोष देना, हिरोशिमा बमबारी के लिए आइंस्टाइन को जिम्मेदार बताने जैसा

महर्षि मनु हर रचनाकार की तरह अपनी मनुस्मृति के माध्यम से जीवित हैं, किंतु दुर्भाग्य से रामायण-महाभारत-पुराण आदि की तरह मनुस्मृति भी बेशुमार प्रक्षेपों का शिकार हुई है।

गणित शिक्षक रियाज नायकू की मौत से हुआ भयावह नुकसान, अनुराग कश्यप भूले गणित

यूनेस्को ने अनुराग कश्यप की गणित को विश्व की बेस्ट गणित घोषित कर दिया है और कहा है कि फासिज़्म और पैट्रीआर्की के समूल विनाश से पहले ही इसे विश्व धरोहर में सूचीबद्द किया जाएगा।

CARA को बनाया ईसाई मिशनरियों का अड्डा, विदेश भेजे बच्चे: दीपक कुमार को स्मृति ईरानी ने दिखाया बाहर का रास्ता

CARA सीईओ रहते दीपक कुमार ने बच्चों के एडॉप्शन प्रक्रिया में धाँधली की। ईसाई मिशनरियों से साँठगाँठ कर अपने लोगों की नियुक्तियाँ की।

काफिरों को देश से निकालेंगे, हिन्दुओं की लड़कियों को उठा कर ले जाएँगे: दिल्ली दंगों की चार्ज शीट में चश्मदीद

भीड़ में शामिल सभी सभी दंगाई हिंदुओं के खिलाफ नारे लगा रहे और कह रहे थे कि इन काफिरों को देश से निकाल देंगे, मारेंगे और हिंदुओं की लड़कियों को.......

जाकिर नाइक की तारीफ वाला महेश भट्ट का वीडियो वायरल, भगोड़े इस्लामी प्रचारक को बताया था- गौरव, बेशकीमती खजाना

फ़िल्म सड़क-2 की रिलीज डेट आने के बाद सोशल मीडिया में फिल्म डायरेक्टर महेश भट्ट का एक वीडियो वायरल हो रहा है।

भास्कर पत्रकार AIIMS की चौथी फ्लोर से कूदे, दोस्तों से ग्रुप में कह रहे थे – ‘मुझे बचा लो, आज कुछ कर लूँगा’

AIIMS में 'दैनिक भास्कर' के एक कैंसर पीड़ित और कोरोना संक्रमित पत्रकार ने आत्महत्या की कोशिश की। तरुण सिसोदिया नाम के पत्रकार ने...

पैर पीछे, जुबान नरम: NSA अजीत डोभाल के वीडियो कॉल के बाद चीन के तेवर ढीले

भारत सरकार के लगातार सख्त तेवरों के बाद राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल (NSA) के वीडियो कॉल ने चीन को पीछे हटने पर मजबूर किया।

कुवैत से निकाले जा सकते हैं 8 लाख भारतीय नागरिक, अप्रवासी कोटा बिल से बढ़ी मुश्किलें

कुवैत में भारतीय समुदाय की कुल जनसंख्या 14.5 लाख है। नए बिल की वजह से इनमें से क़रीब 8 लाख लोग कुवैत छोड़ने के लिए मजबूर हो सकते हैं।

साउथा चाइना सी में अमेरिकी नेवी देख बौखलाया चीन, कहा- हमारी जद में युद्धपोत, बर्बाद कर सकते हैं

साउथ चाइना सी में अमेरिकी नौसेना की मौजूदगी से चीन बौखला गया है। अमेरिका ने अपने दो एयरक्राफ्ट कैरियर इस इलाके में तैनात किए हैं।

सुप्रीम कोर्ट ने वकील पर 100 रुपए का लगाया हर्जाना, केस लिस्टेड करने में भेदभाव का लगाया था आरोप

सुप्रीम कोर्ट ने उस याचिका को खारिज कर दिया जिसमें रजिस्ट्री पर भेदभाव का आरोप लगाया गया था। याचिकाकर्ता पर 100 रुपए का हर्जाना लगाया है।

गलवान में 2 KM पीछे हटा चीन, भारत की बड़ी कूटनीतिक जीत: कमाण्डर स्तर वार्ता में ठंडा पड़ा ड्रैगन

फिजिकल वेरिफिकेशन के बाद पाया गया कि गलवान संघर्ष स्थल से चीन की सेना 2 किलोमीटर पीछे चली गई है। ये एक तरह से भारत की कूटनीतिक जीत है।

सब-कलेक्टर आसिफ के युसूफ को नहीं मिलेगा IAS अधिकारी का दर्जा, आरक्षण के लिए दिया था फर्जी दस्तावेज

थालास्सेरी के सब-कलेक्टर आसिफ़ के युसूफ़ को आईएएस अधिकारी का दर्जा नहीं दिया जा सकता है। मंत्रालय ने केरल के मुख्य सचिव को...

शादी के बाद मायके आई वैष्णवी पर शेख अल्ताफ ने किए धारधार हथियार से 21 वार, 4-5 महीने से पड़ा था पीछे

वैष्णवी की गलती सिर्फ़ इतनी थी कि वह शादी के बाद सहेली और माँ के साथ बाजार गई। उसके पड़ोस में रहने वाले अल्ताफ की नजर उस पर पड़ी और...

104 साल की उम्र में आनंदी झा ने कोरोना को हराया, आज भी किलो भर खाते हैं माछ; दूध-मिठाई की पूछिए ही मत

आनंदी झा केवल एक नाम नहीं है। न महाराष्ट्र में कोरोना को मात देने वाले सबसे बुजुर्ग इंसान की पहचान। वे प्रतीक हैं जीवटता की, जिजीविषा की।

दिल्ली हाईकोर्ट की NIA के खिलाफ टिप्पणी सही नहीं: सुप्रीम कोर्ट ने गौतम नवलखा मामले में सिब्बल के तर्कों को नकारा

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि जब हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की गई थी, तब तक NIA ने जाँच भी नहीं शुरू की थी। इसीलिए, दिल्ली HC का बयान सही नहीं है।

हमसे जुड़ें

234,815FansLike
63,170FollowersFollow
270,000SubscribersSubscribe