Monday, July 15, 2024
Homeदेश-समाजभारत माता से लेकर PM मोदी की फोटो हटाई, बंद हुआ रोज का राष्ट्रगान:...

भारत माता से लेकर PM मोदी की फोटो हटाई, बंद हुआ रोज का राष्ट्रगान: दिल्ली के ICHR में ये कैसे बदलाव, अधिकारी बोले- हम कुछ नहीं जानते

ICHR कार्यालय में पिछले 6 माह से लगातार रोज राष्ट्रगान गया जाता था। कुछ लोगों द्वारा इस पर आपत्ति दर्ज करवाई गई। दावा किया गया है कि सितम्बर 2022 से राष्ट्रगान की प्रतिदिन प्रथा शुरू की गई थी जिसे अब बंद कर दिया गया है।

राजधानी दिल्ली स्थित भारतीय ऐतिहासिक अनुसंधान परिषद (ICHR) में कर्मचारियों द्वारा सामूहिक राष्ट्रगान बंद किए जाने की खबर है। बताया जा रहा है कि कुछ लोगों द्वारा इस पर आपत्ति जताई गई थी। इसी बीच ICHR के मीटिंग हॉल में लगी भारत माता और पूर्व जनसंघ अध्यक्ष दीन दयाल उपाध्याय की भी तस्वीरों को हटा दिया गया है। यह बदलाव शुक्रवार (24 फरवरी 2023) से हुआ है। यह कार्रवाई किस के कहने पर हुई है अभी तक इसका खुलासा नहीं हो पाया है।

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक ICHR कार्यालय में पिछले 6 माह से लगातार रोज राष्ट्रगान गया जाता था। कुछ लोगों द्वारा इस पर आपत्ति दर्ज करवाई गई। दावा किया गया है कि सितम्बर 2022 से राष्ट्रगान की प्रतिदिन प्रथा शुरू की गई थी जिसे अब बंद कर दिया गया है। बताया गया कि यह आदेश मौखिक रूप से दिया गया है जिसे अब मौखिक तौर पर ही बंद करने के लिए कहा गया है। इसी के साथ ICHR कॉन्फ्रेंस हॉल और इसके सदस्य सचिव उमेश कदम के ऑफिस में भारत माता और पूर्व जनसंघ अध्यक्ष दीन दयाल उपाध्याय की तस्वीरें भी लगीं थीं। जिन्हे फिलहाल के लिए हटा लिया गया है।

बताया यह भी जा रहा है कि हटाई गई तस्वीरों में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भी चित्र शामिल हैं। इस पूरे मामले में आईसीएचआर के अध्यक्ष रघुवेंद्र तंवर तस्वीर हटाने और राष्ट्रगान बंद होने की पुष्टि कर रहे हैं। हालाँकि वो मामले पर खुल कर कुछ नहीं बोल रहे। वहीं ICHR सदस्य सचिव उमेश कदम के मुताबिक तस्वीरों को लगाने का कोई आदेश नहीं था। उन्होंने हटाए गए चित्रों को गिफ्ट में मिला बताया। उमेश ने राष्ट्रगान बंद होने की वजह को गोलमोल जवाब देते हुए कहा कि पहले कर्मचारी अपनी मर्जी से ऐसा करते थे।

ICHR को एक गैंग साम्प्रदयिक संस्थान बताते हुए इसके चेयरमैन रघुवेन्द्र तंवर ने इसकी शुचिता बनाए रखने की अपील की। उनका कहना है कि 10 फरवरी के बाद वो ऑफिस नहीं गए। तंवर ने न तो तस्वीर को अपने आदेश से लगा बताया और न ही उसे अपने आदेश से हटाने की बात कही।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कॉन्ग्रेस के चुनावी चोचले ने KSRTC का भट्टा बिठाया, ₹295 करोड़ का घाटा: पहले महिलाओं के लिए बस सेवा फ्री, अब 15-20% किराया बढ़ाने...

कर्नाटक में फ्री बस सेवा देने का वादा करना कॉन्ग्रेस के लिए आसान था लेकिन इसे लागू करना कठिन। यही वजह है कि KSRTC करोड़ों के नुकसान में है।

‘बैकफुट पर आने की जरूरत नहीं, 2027 भी जीतेंगे’: लोकसभा चुनावों के बाद हुई पार्टी की पहली बैठक में CM योगी ने भरा जोश,...

लोकसभा चुनावों के बाद पहली बार भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की लखनऊ में आयोजित बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कार्यकर्ताओं में जोश भरा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -