Monday, July 15, 2024
Homeदेश-समाजलटक रही थी खुली खोपड़ी, दिख रहे थे फेफड़े: अंजलि की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट, छोड़...

लटक रही थी खुली खोपड़ी, दिख रहे थे फेफड़े: अंजलि की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट, छोड़ कर भाग गई जो सहेली, उसने बताया – पुरुष मित्र के साथ OYO में पी शराब

मृतका की दोस्त निधि इस बात पर भी जोर देती नजर आ रही हैं कि अंजलि से उनकी दोस्ती नई थी। मृतका की सहेली ने कहा है कि उनकी दोस्ती 10 दिन पहले ही एक कॉमन दोस्त के जरिए हुई थी। इसके बाद दोनों ने साथ में नए साल का जश्न मनाने की प्लानिंग की।

दिल्ली के सुल्तानपुरी में हुए दर्दनाक हादसा मामले में मृतिका अंजलि की सहेली निधि को चश्मदीद गवाह बनाया गया है। मृतका की सहेली निधि ने पुलिस को अपना बयान भी दिया है। निधि का कहना है कि अंजलि ने शराब का सेवन किया था। सहेली ने बताया कि 31 दिसंबर की रात होटल में उनके साथ अंजलि का पुरुष मित्र और अन्य दोस्त थे। उधर हादसे की शिकार अंजलि की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट सामने आ गई है।

इस रिपोर्ट से समझा जा सकता है कि अंजलि कितनी बुरी तरह घसीटी गई थी। रिपोर्ट के मुताबिक, अंजलि का ब्रेन मैटर गायब था और शरीर इस तरह छिल चुका था कि दोनों फेफड़े नजर आ रहे थे।

मृतिका की सहेली ने दिया बयान

हादसे के तीन दिन बाद सामने आई मृतका की सहेली ने पुलिस में अपना बयान दर्ज करा दिया है। इसके साथ ही मीडिया में भी उसके कुछ बयान सामने आए हैं। मृतिका की सहेली ने बताया कि 31 दिसंबर की रात वो लोग OYO होटल में पार्टी के लिए गए थे। होटल में अंजलि का पुरुष मित्र और अन्य दोस्त भी थे। निधि ने कहा कि शाम को 8 बजे होटल में दाखिल होने के बाद वे देर रात करीब 1.30 बजे होटल से निकले। बकौल निधि, अंजलि ने काफी शराब पी हुई थी। अंजलि शराब सेवन के बाद भी स्कूटी चलाने की जिद कर रही थी। इस बात को लेकर दोनों के बीच झगड़ा भी हुआ था।

हादसे के बाद मौके से फरार हो गई निधि

निधि ने बताया कि हादसे के बाद वह काफी डर गई थी और वह कुछ नहीं कर सकी। उसने कहा कि डर की वजह से न तो उसने शोर मचाया न ही पुलिस को घटना की जानकारी दी। पैदल अपने घर पहुँच गई। उसने कहा कि उसकी किस्मत अच्छी थी कि वह बच गई। दोषी ठहराए जाने के डर से उसने अपने परिवार वालों को भी कुछ नहीं बताया।

कार सवारों को ठहराया हादसे का जिम्मेदार

अंजलि की सहेली का कहना है कि कार से स्कूटी की टक्कर के बाद दोनों नीचे गिर गई थी। वह कार के बगल में जा गिरी थी, जबकि मृतका कार के सामने गिरी और अंदर फँस गई। कार सवार युवकों को यह पता था कि कोई कार के नीचे फँस गया है, फिर भी वे लोग जानबूझकर मृतका को घसीटते हुए लेकर चले गए थे। सड़क सुनसान होने के कारण वह डर गई थी।

मृतका की दोस्त निधि इस बात पर भी जोर देती नजर आ रही हैं कि अंजलि से उनकी दोस्ती नई थी। रिपोर्ट्स के मुताबिक, मृतका की सहेली ने कहा है कि उनकी दोस्ती 10 दिन पहले ही एक कॉमन दोस्त के जरिए हुई थी। इसके बाद दोनों ने साथ में नए साल का जश्न मनाने की प्लानिंग की।

सहेली पर भी उठे सवाल

मृतिका की सहेली पर भी सवाल उठाए जा रहे हैं। आपको बता दें कि पुलिस ने ही अंजलि के दोस्त निधि की तलाश की। सीसीटीवी कैमरे के जरिए इस बात का पता चला कि होटल से अंजलि के साथ एक दूसरी लड़की भी स्कूटी पर निकली थी। इसके बाद, पुलिस ने कॉल रिकॉर्ड के जरिए निधि का पता लगाया।

‘दिल्ली महिला आयोग’ की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा कि मृतका की सहेली इतने दिनों तक खामोश क्यों थी? उन्होंने ट्वीट किया, “अंजलि की दोस्त LIVE शो में बैठकर बता रही है कि कैसे उसके सामने लड़कों ने अंजलि को रौंदा और ये ‘दोस्त’ वहाँ से उठ कर अपने घर चली गई। ये कैसी दोस्त है? इसने लड़कों को रोका नहीं, पुलिस या अंजलि के किसी रिश्तेदार को नहीं बताया। घर में जाकर बैठ गई। इसकी भी जाँच होनी ज़रूरी है!”

दिल दहला देगी ऑटोप्सी रिपोर्ट

अंजलि की ऑटोप्सी रिपोर्ट सामने आई है। इसमें रोंगटे खड़े कर देने वाली बातें सामने आई हैं। इस रिपोर्ट के मुताबिक –

  • अंजलि की खोपड़ी पूरी तरह से खुल गई थी
  • खोपड़ी सिर से उखाड़ कर लटक रही थी
  • सर से ब्रेन मैटर गायब था
  • रीढ़ की हड्डी टूटी हुई थी
  • पसलियाँ पीछे की तरफ से निकली चुकी थीं
  • शरीर छिलने की वजह से दोनों फेफड़े नजर आ रहे थे
  • शरीर पर कुल 40 गहरी चोटें थी।

डॉक्टरों ने कहा कि वैसे तो अंजलि की मौत का कारण इनमें से सभी चोटें हो सकती थीं लेकिन सदमा और ज्यादा खून बहने से उसकी मौत हुई है। हालाँकि, अंतिम रिपोर्ट कैमेकिल एनालिसिस और बॉयोलॉजिकल सैंपल की रिपोर्ट मिलने के बाद ही सामने आ सकेगी।

आपको बता दें 1 जनवरी, 2023 को अंजलि हादसे का शिकार हो गई थी। उसकी स्कूटी को टक्कर मारते हुए एक कार उसे कई किलोमीटर तक घसीटती रही। रिपोर्ट्स की मानें तो पुलिस ने कार सवार आरोपितों पर गैर-इरादतन हत्या, लापरवाही से मौत और आपराधिक साजिश रचने के आरोप में मामला दर्ज किया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -